Home पोल खोल फर्क साफ है…यूपी में योगी सरकार माफियाराज पर चलाती है बुलडोजर, राजस्थान...

फर्क साफ है…यूपी में योगी सरकार माफियाराज पर चलाती है बुलडोजर, राजस्थान में इसे माफिया ही चलाते हैं, सरकार बुलडोजर से ‘राम दरबार’ करती है ध्वस्त

387
SHARE

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार ने माफिया, बदमाश और गुंडा तत्वों के खिलाफ इस कदर बुलडोजर चलाया कि उनका नाम ही बुलडोजर-बाबा पड़ गया। देश की राजनीति में माफियाराज पर चलता सरकारी बुलडोजर सुर्खियों में आ गया। परन्तु राजस्थान में कांग्रेस से राज में मामला इसके विपरीत है। यहां बुलडोजर तो चल रहा है, लेकिन ड्राइविंग सीट पर खुद अवैध खनन करने वाला माफिया बैठा है। कभी जब सरकारी बुलडोजर चलता है तो अपराधियों पर नहीं, बल्कि धार्मिक स्थलों पर। प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने करोड़ों लोगों के श्रद्धा केंद्र सालासर बालाजी धाम के मार्ग पर स्थित राम दरबार को पिछले दिनों बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया।बुलडोजर की मदद से अवैध खनन का खेल तो पूरे राजस्थान में बेखौफ जारी
माफियाओं को लेकर राजस्थान की गहलोत सरकार एक बार फिर सवालों के घेरे में है। सरकार की खुली छूट के चलते माफिया के हौसले बुलंद हैं। वह अवैध खनन कर रहे हैं। ऐसी तमाम तस्वीरें सामने आ रही हैं, जिनमें माफिया अवैध खनन कर रहे हैं और उन्हें रोकने की कोशिश करने वालों पर ट्रैक्टर, बुलडोजर तक चढ़ा देते हैं। ऐसे में लोगों का साफ-साफ आक्रोश इस बात में झलकता है कि यूपी और एमपी में सरकार माफिया और गुंडों के अवैध कब्जों पर बुलडोजर चला रही है, जबकि कांग्रेस के शासन वाले राजस्थान में माफिया सरकारी जमीनों पर कब्जे के लिए बुलडोजर चला रहा है। अवैध खनन का खेल तो पूरे प्रदेश में बेखौफ चल रहा है। अलवर में टेल्को चौराहे पर कई सालों से यूआईटी की जमीन अवैध शराब के ठेकेदारों का कब्जा है। राजधानी जयपुर में ही सरकारी जमीन पर माफिया के अवैध कब्जे हैं। प्रदेश की राजधानी, जहां पूरी सरकार बैठी है, जयपुर के गोनेर रोड पर 27 हेक्टेयर जमीन में 20 फीट तक गहरी खुदाई कर मिट्‌टी अवैध खनन चल रहा है।

मोदी बना रहे राम मंदिर, गहलोत सरकार के बुलडोजर ने राम दरबार ध्वस्त किया
इतना ही नहीं पिछले दिनों तो राजस्थान सरकार ने हद ही कर दी। मोदी-योगी की सरकार जहां एक ओर अयोध्या में भव्य-दिव्य राम मंदिर का निर्माण करा रही है, वहीं राजस्थान में गहलोत सरकार ने चुरू के सालासर बालाजी धाम के मार्ग पर सुजानगढ़ में प्रवेश द्वार बना हुआ है। इस प्रवेश द्वार पर बरसों से राम दरबार विराजमान है। पिछले दिनों गहलोत सरकार के अफसर देर रात में बुलडोजर लेकर यहां पहुंच गए। रात के घुप अंधेरे में पीडब्लूडी की टीम ने चुपके से बुलडोजर से कार्रवाई को अंजाम दिया। बुलडोजर ने रामदरबार वाले गेट को ध्वस्त कर दिया गया। मौके पर मौजूद लोगों ने इस कार्रवाई का विरोध भी किया, सैंकड़ों हिंदू हनुमान चालीसा का पाठ करते हुए धरने पर बैठे गए, लेकिन अफसर नहीं माने तो लोगों ने उनका वीडियो बना लिया।

यूपी में बाबा और एमपी में मामा चला रहे अवैध कब्जों पर बुलडोजर
राजस्थान के उलट यूपी और एमपी में बुलडोजर माफिया के खिलाफ चल रहा है। बुलडोजर और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुराना नाता है। पहली बार सत्ता में आने के बाद उन्होंने माफिया पर इस कदर बुलडोजर चलवाए कि उन्हें बुलडोजर बाबा भी कहा जाने लगा। 2022 के यूपी चुनावों के बीच योगी का एक वीडियो आया था, जिसमें योगी हेलिकॉप्टर से सभास्थल जा रहे थे और अपनी सभास्थल पर बुलडोजर दिखा रहे थे। योगी की बुलडोजर छवि के बाद हाल ही में मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी अपनी छवि में बुलडोजर जोड़ा है। कई जगह उनके बैनर लगे हैं, जिनमें शिवराज को बुलडोजर मामा कहा जा रहा है।

राजस्थान भाजपा ने ट्वीट…कांग्रेस के शासन माफिया चला रहे हैं बुलडोजर
भाजपा राजस्थान ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि UP-MP में भाजपा का शासन है। वहां माफिया पर बुलडोजर चल रहा है। राजस्थान में कांग्रेस का शासन है और बुलडोजर माफिया चला रहे हैं। कभी राम दरबार पर चलता है तो कभी सरकारी भूमि पर… भाजपा के इस ट्वीट पर लोग भी तरह तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा – जब आएगी सरकार राष्ट्रवादियों की तो यही बुलडोजर उल्टा चलेगा और माफिया के घरों और आफिसों को ढहा देगा। एक अन्य यूजर ने लिखा है कि कांग्रेस की सरकार तुष्टीकरण पर तुली हुई है, एक तरफ वो लोग हैं जो मंदिर का निर्माण करते हैं और दूसरी तरफ कांग्रेस के लोग हैं जो मंदिर को ध्वस्त करते हैं।

गहलोत सरकार हिंदुओं की आस्था पर चला रही है सरकारी बुलडोजर
पूनियां ने कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर शुभारंभ करती है, उत्तर प्रदेश में राम मंदिर का निर्माण करने वाले और बुलडोजर चलाने वाली योगी सरकार कानून व्यवस्था को ठीक करती है वहीं राजस्थान में कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार बुलडोजर से राम दरबार को गिराती है। उन्होंने कहा कि यह सीधे-सीधे आस्था पर प्रहार है, उन मूर्तियों को सम्मान के साथ कहीं अन्य जगह शिफ्ट किया जाना चाहिए था, लेकिन आधी रात को गहलोत सरकार ने निशाचरी करतूत की है, उससे हिंदुओं की आस्था आहत हुई है।

राम दरबार की मूर्ति लगे द्वार को तोड़ना धार्मिक भावनाओं पर गहरा आघात
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि विकास के बहाने सालासर बालाजी के तोरण द्वार को तोड़ना और राम दरबार को ध्वस्त करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है। राजे ने कहा कि क्या कांग्रेस सरकार का यही विकास है। उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि सुजानगढ़ शहर के प्रवेश द्वार पर राम दरबार की मूर्ति लगे द्वार को प्रशासन द्वारा तोड़ने की घटना से नागरिकों की धार्मिक भावनाओं को गहरा आघात पहुंचा है।

 

Leave a Reply