Home विपक्ष विशेष चन्नी सरकार के राज में पंजाब में यह क्या हो रहा है-बेअदबी,...

चन्नी सरकार के राज में पंजाब में यह क्या हो रहा है-बेअदबी, लीचिंग, ड्रग माफिया कनेक्शन और अब बम ब्लास्ट, चिंतित अमित शाह ने की सीएम से बात

331
SHARE

बेअदबी, लिंचिंग और अब बम ब्लास्ट सरहदी राज्य पंजाब में ये क्या हो रहा है, वह भी तब जबकि प्रदेश विधानसभा चुनाव के मुहाने पर है। माना कि एक्सीडेंटल सीएम बने चरणजीत सिंह चन्नी को सरकार और शासन-प्रशासन चलाने के ज्यादा अनुभव नहीं है, लेकिन उनके डिप्टी और राज्य के गृह मंत्री सुखजिंदर रंधावा तो अनुभवी मंत्री हैं, फिर भी पंजाब में एक के बाद एक हो रही घटनाओं को रोक नहीं पा रहे हैं। सिर्फ बाहरी ताकतों का हाथ कहकर सीएम और डिप्टी सीएम अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकते। खुशहाल पंजाब का माहौल बिगाड़ने की इजाजत किसी को नहीं दी जा सकती।पंजाब के हालात पर गृह मंत्री अमित शाह चिंतित, सीएम चन्नी से की बात
पंजाब में कुछ महीने बाद चुनाव हैं। ऐसे में बेअदबी, लिंचिंग और अब बम धमाके से देश का गृह मंत्रालय भी चिंतित है। वहीं, पंजाब आतंकवाद का भयानक दौर भी देख चुका है। यहां फिर हालात खराब न हों, इसके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नजर बना रखी है। गृह मंत्री अमित शाह ने पंजाब के CM चन्नी से इसको लेकर बात भी की है। केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने भी पंजाब के वरिष्ठ अफसरों से इस बारे में बात की। जिसके बाद पंजाब की स्थिति के बारे में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पूरी रिपोर्ट ली है।

 

पंजाब का करीब 600 किमी बॉर्डर पाकिस्तान से सटा हुआ है
लुधियाना कोर्ट कॉम्प्लेक्स में गुरुवार दोपहर दूसरी मंजिल के बाथरूम में धमाका हुआ। जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई। इसे ही धमाके का संदिग्ध माना जा रहा है। वहीं, 5 लोग जख्मी हुए हैं लेकिन सबकी हालत खतरे से बाहर है। धमाके की टाइमिंग को देखते हुए केंद्र सरकार पूरी तरह से हरकत में है। इसके लिए NIA और NSG की टीम भी जांच में जुट चुकी है। पंजाब पुलिस की फॉरेंसिक टीम भी मौके से सबूत खंगाल चुकी है। पंजाब में हाई अलर्ट जारी किया जा चुका है। राज्य के भीतर और पाकिस्तान बॉर्डर से सटे इलाकों में पुलिस सुरक्षा बढ़ाई गई है। पंजाब का करीब 600 किमी बॉर्डर पाकिस्तान से सटा हुआ है।इसी माह गुरदासपुर में चार हैंड ग्रेनेड और टिफिन बम मिले थे
बता दें कि इसी महीने गुरदासपुर जिले में चार हैंड ग्रेनेड और टिफिन बम मिला था। इसकी जानकारी पंजाब पुलिस ने दी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये ग्रेनेड और टिफिन बम एक बोरी में छिपाए गए थे। पुलिस ने इन्हें सीमावर्ती जिले के सलेमपुर अरईयां गांव से बरामद किया था। इससे दो दिन पहले भी पुलिस ने प्रदेश के दीनानगर से भारी मात्रा में RDX बरामद किया था। जिसके बाद से ही राज्य में सतर्कता बढ़ाई गई है। कहा जा रहा है कि चुनाव से पहले ये किसी तरह माहौल बिगाड़ने की साजिश भी हो सकती है। फिलहाल पुलिस हर एंगल से इन सभी मामलों की जांच कर रही है।

यह समय राजनीति का नहीं, पंजाब की शांति का है : रिजिजू
लुधियाना कोर्ट कॉम्प्लेक्स में बम धमाके की केंद्र और पंजाब सरकार की एजेंसियों जॉइंट इन्वेस्टिगेशन करेगी। शुक्रवार को लुधियाना पहुंचे केंद्रीय कानून मंत्री किरण रिजिजू ने यह बात कही। इससे पहले उन्होंने लुधियाना में धमाके का जायजा लेकर अफसरों से रिपोर्ट भी ली। उन्होंने पंजाब के CM चरणजीत चन्नी के इसे ड्रग माफिया से जोड़ने, डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा के बाहरी ताकतों और पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू के एक धर्म को डराने से जोड़ने के बयान पर कहा कि यह समय राजनीति करने का नहीं है। जब ऐसी घटना हुई हो तो हमें कोई दूसरा मुद्दा नहीं उठाना चाहिए। खासकर ऐसे वक्त में राजनीति सबसे आखिर में होनी चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने भी जताई चिंता, अदालतों की सुरक्षा का रिव्यू
सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना ने भी चिंता जताई है। उन्होंने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस को इस मामले में हुई प्रगति के बारे में पड़ताल करने को कहा है। इससे पहले पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने भी इस घटना का संज्ञान लेते हुए पंजाब के कोर्ट कॉम्प्लेक्स में सुरक्षा बढ़ाने के लिए कहा था। इस बीच केंद्रीय मंत्री रिजिजू ने कहा कि देश भर में अदालतों की सुरक्षा को रिव्यू किया जा रहा है। इस मामले में पहले ही हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस की अगुवाई में कमेटी बनी है। वह इस मुद्दे को लेकर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस से भी मिलेंगे।

अब तक की जांच में बब्बर खालसा का हाथ होने का शक
इस धमाके में फिदायीन हमले से लेकर टिफिन बम और खालिस्तानी आतंकियों का एंगल सामने आ चुका है। यह भी सामने आया है कि इस धमाके में आईईडी का इस्तेमाल किया गया है। इस मामले में जांच एजेंसियों को पाकिस्तान में बैठे जिन खालिस्तानी दहशतगर्दों का हाथ होने के संकेत मिले हैं, उनमें सबसे बड़ा नाम बब्बर खालसा का है। जिस व्यक्ति ने धमाका किया, फिलहाल उसे ही संदिग्ध माना जा रहा है। हालांकि, इसमें IED का इस्तेमाल करने की भी आशंका है। पंजाब के CM चरणजीत चन्नी ने भी इस तरफ इशारा किया था। उन्होंने इसके पीछे ड्रग माफिया का हाथ होने की बात कही थी।क्या चन्नी सरकार के गृह मंत्री रंधावा नहीं संभाल पा रहे कानून-व्यवस्था
चन्नी सरकार में डिप्टी सीएम और गृहमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा, जिनके ऊपर कानून-व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी है, वे इसमें सफल नहीं हो पा रहे हैं। रंधावा की गिनती पंजाब में कांग्रेस पार्टी के कद्दावर और आक्रामक नेता के तौर पर होती है। 2015 में पंजाब में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और उसके बाद पुलिस फायरिंग में दो युवकों की मौत के मामलों में उन्होंने बादल परिवार के खिलाफ आवाज बुलंद की थी और आरोपियों पर मुकदमा न चलने का मुद्दा उठाया था। लेकिन अब उनके गृह मंत्री रहते ही राज्य में बेअदबी, लिंचिंग और बम ब्लास्ट की घटनाएं हो रही हैं। रंधावा को राजनीति विरासत में मिली है। वे ऐसे परिवार से आते हैं जिनकी तीन पीढ़ियां कांग्रेस में रही हैं। काबिले गौर है कि रंधावा सीएम बनते-बनते रह गए थे, अंतिम समय में हाईकमान ने उनकी जगह चन्नी को सीएम बना दिया।

स्वर्ण मंदिर में बेअदबी और कपूरथला में लिंचिंग की घटनाएं भी चिंताजनक
पंजाब में अगले साल के शुरुआत में चुनाव हो सकते हैं। लेकिन उससे पहले सूबे में जिस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं, उससे कई सवाल उठ रहे हैं। पहले स्वर्ण मंदिर में बेअदबी की कोशिश और फिर युवक की लिंचिंग की घटना सामने आई। इसके ठीक अगले दिन कपूरथला में निशान साहिब की बेअदबी का प्रयास करने वाले को भीड़ ने मार डाला। अब लुधियाना कोर्ट परिसर में ब्लास्ट होने के बाद सवाल उठ रहा है कि क्या चुनाव से पहले पंजाब का माहौल खराब किया जा रहा है। क्या सरहदी सूबे की शांति भंग करने की बड़ा साजिश रची जा रही है? क्या चन्नी सरकार ऐसी घटनाओं को नियंत्रित करने में विफल हो रही है ?लुधियाना ब्लास्ट कायराना हरकत, एंटी नेशनल तत्वों का काम
पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने लुधियाना कोर्ट परिसर में धमाके को राष्ट्र विरोधी तत्वों की करतूत बताया है। सीएम चन्नी ने कहा, ‘लुधियाना ब्लास्ट कायराना हरकत है। हम नापाक मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे। कुछ एंटी नेशनल तत्व ऐसा काम कर रहे हैं। इस बीच पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि इस बात में कहीं कोई शक नहीं है कि लुधियाना कोर्ट में हुआ ब्लास्ट पंजाब में कानून व्यवस्था बिगाड़ने और शांति को भंग करने के लिए सिलसिलेवार तरीके से की गई गतिविधि का हिस्सा है। जिन लोगों ने पंजाब को बेच दिया, गिरवी रख दिया। मैं उनसे कहना चाहता हूं कि आप वोटों की राजनीति का ध्रुवीकरण नहीं कर सकोगे। पंजाब एक है, एक था एक रहेगा। वोटों की ओछी राजनीति के लिए गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी हुई।

 

Leave a Reply