Home विपक्ष विशेष ट्वीटर इंडिया पर कसा शिकंजा, यूपी पुलिस का MD को नया नोटिस,...

ट्वीटर इंडिया पर कसा शिकंजा, यूपी पुलिस का MD को नया नोटिस, 24 जून को थाने में हाजिर होने का आदेश

407
SHARE

ट्वीटर इंडिया पर यूपी पुलिस शिकंजा कसता जा रहा है। यूपी के गाजियाबाद में मुस्लिम बुजुर्ग से मारपीट और अभद्रता के मामले में लोनी बॉर्डर पुलिस स्टेशन ने ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी के खिलाफ नया नोटिस जारी कर 24 जून को थाने में हाजिर होने का आदेश दिया है। पुलिस ने यह नोटिस इसी महीने एक मुस्लिम व्यक्ति की पिटाई से जुड़े कई लोगों की ट्विटर पोस्ट के मामले में दिया है। पुलिस ने ट्विटर इंडिया के MD को भेजे नोटिस में कहा गया है कि थाने में हाजिर नहीं होने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि गाजियाबाद पुलिस ने पहले भी ट्विटर इंडिया के एमडी को नोटिस भेजा था, जिसके जवाब में उन्होंने कहा था कि विवाद से उनका कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने यह भी कहा था वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जांच में जुड़ सकते हैं। हालांकि पुलिस इस जवाब से संतुष्ट नहीं हुई थी।

पुलिस ने अपने नोटिस में कहा था कि ट्विटर कम्यूनिकेशन इंडिया और ट्विटर INC के जरिए कुछ लोगों ने अपने ट्विटर हैंडल का उपयोग करते हुए समाज में नफरत फैलाने की कोशिश की। इन कोशिशों को रोकने के लिए कंपनी की तरफ से कोई नोटिस नहीं लिया गया और ऐसे समाज विरोधी संदेश को लगातार वायरल होने दिया गया। पुलिस ने स्पष्टीकरण देने के लिए ट्विटर को एक हफ्ते की मोहलत दी थी। जाहिर है कि गाजियाबाद पुलिस ने रविवार को कहा था कि उसकी ओर से ट्विटर को पिछले एक साल में करीब 26 मेल किए गए, इनमें से एक का भी जवाब नहीं दिया गया है। ये सभी मेल 15 जून 2020 से 15 जून 2021 के बीच भेजे गए थे।

आइए आगे हम आपको बताते हैं कि ट्विटर को अपनी मनमानी की कितनी कीमत चुकानी पड़ रही है।-

ट्विटर को भारी पड़ा मोदी सरकार से टकराव, 4 महीने में 25 प्रतिशत टूट गए शेयर

मोदी सरकार की बार-बार की चेतावनी के बावजूद सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर की मनमानी जारी थी। ट्विटर ने प्रधनमंत्री नरेन्द्र मोदी को डोनाल्ड ट्रंप समझने की भूल कर दी। उसे अंदाजा नहीं था कि मोदी सरकार उसके खिलाफ सख्त कदम उठा सकती है। लेकिन खुद की नासमझी का खामियाजा ट्विटर को भुगतना पड़ रहा है। आज मोदी सरकार से टकराव ट्विटर के लिए भारी पड़ रहा है। पिछले चार महीने में इस अमेरिकी कंपनी के शयेर करीब 25 प्रतिशत टूट गए हैं।

अमेरिका के न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में बुधवार यानि 16 जून, 2021 को ट्विटर का शेयर करीब आधा प्रतिशत टूटकर 59.93 अमेरिकी डॉलर पर बंद हुआ। इस साल 26 फरवरी को ट्विटर के शेयर 52 हफ्ते की ऊंचाई 80.75 डॉलर पर पहुंच गए थे। लेकिन इसके बाद से अब तक इसमें करीब 25.75 प्रतिशत की गिरावट आई हैं। ट्विटर की बाजार पूंजी घटकर 47.64 अरब डॉलर रह गई है।

5 जून,2021 को भारत सरकार ने ट्विटर को एक फाइनल नोटिस भेज दिया था कि वह उसके नई आईटी रूल को फॉलो करे। इसके बावजूद जब ट्विटर ने अनुपालन अधिकारी की नियुक्ति में देरी की तो मोदी सरकार ने ट्विटर से भारतीय आईटी एक्ट की धारा 79 के तहत मिला सुरक्षा का अधिकार छीन लिया। इसका मतलब है कि कोई यूजर की गैर-कानूनी हरकतों और भड़काऊ पोस्ट के लिए भारत में कंपनी के प्रबंध निदेशक समेत शीर्ष अधिकारियों को सीधे जिम्मेदार ठहराया जाएगा और पुलिस उनसे पूछताछ कर सकेगी। कानूनी संरक्षण खत्म होते ही ट्विटर के खिलाफ पहला मामला उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में दर्ज किया गया। 

मोदी सरकार ने ट्विटर की मनमानी पर कसा शिकंजा, इंटरमीडियरी का दर्जा खत्म, पुलिस भी कर सकेगी पूछताछ
मोदी सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर को बार-बार चेतावनी देते हुए कहा था कि अभिव्यक्ति की आजादी के मुद्दे पर लोगों को भटकाने के बजाय भारत के कानून का पालन करना होगा। अपनी नाकामी छिपाने के लिए भारत की छवि को बिगाड़ने की कोशिश नहीं करें। लेकिन ट्विटर की मनमानी जारी रही। आखिरकार मोदी सरकार ने ट्विटर से भारतीय आईटी एक्ट की धारा 79 के तहत मिला सुरक्षा का अधिकार छीन लिया है। इसका मतलब है कि कोई यूजर की गैर-कानूनी हरकतों और भड़काऊ पोस्ट के लिए भारत में कंपनी के प्रबंध निदेशक समेत शीर्ष अधिकारियों को सीधे जिम्मेदार ठहराया जाएगा और पुलिस उनसे पूछताछ कर सकेगी।

ट्विटर को इतना बड़ा झटका अनुपालन अधिकारी की नियुक्ति में देरी के कारण लगा है। उधर, कानूनी संरक्षण खत्म होते ही ट्विटर के खिलाफ पहला मामला उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में दर्ज किया गया है। गाजियाबाद पुलिस ने मुस्लिम बुजुर्ग के साथ मारपीट मामले में झूठे दावे के साथ शेयर होते वीडियो पर कोई कार्रवाई नहीं करने और मामले को सांप्रदायिक रंग देने के आरोप में ट्विटर सहित 9 के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

ट्वीटर पर मनमानी का आरोप

  • भारत सरकार के खिलाफ नैरेटिव बनाने की कोशिश
  • एक खास विचारधारा वाले अकाउंट्स को बैन करना
  • ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक वेरिफिकेशन को हटा देना
  • ट्वीट के लिए “Manipulated Media” टैग का उपयोग करना
  • लद्दाख के कुछ हिस्सों को चीन के हिस्से के रूप में दिखाना
  • वैक्सीन के खिलाफ माहौल बनाने वाले ट्वीट को जारी रखना
  • कोरोना के इंडियन वैरिएंट वाले ट्वीट पर कोई कार्रवाई नहीं करना
  • किसान आंदोलन के दौरान सस्पेंड अकाउंट्स को फिर से एक्टिव करना
  • लोगों को भड़काने वाले ट्वीट्स और हैशटैग चलाने की अनुमति देना
  • जब चाहे किसी को ब्लॉक करना, कुछ ही घंटे में दोबारा चालू कर देना

ट्विटर पर कानूनी शिकंजा

  • अब ट्विटर पर किए गए हर पोस्ट के लिए कंपनी ही जिम्मेदार होगी। कोई भी पुलिस मामले में सीधे कंपनी से पूछताछ करेगी।
  • अब ट्विटर पर चलने वाले किसी भी कंटेंट, वीडियो या किसी अन्य चीज के लिए मुकदमा दर्ज हो सकता है।
  • ट्विटर को भी पार्टी बनाया जा सकता है और भारतीय दंड संहिता के तहत उसके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।
  • ट्विटर को इंटरनेट मीडिया पोर्टल के नियमों का पालन करना होगा, जिसके तहत उसे कई बदलाव करने पड़ेंगे।

Leave a Reply