Home समाचार ये दिन भी देखना बाकी था: राहुल गांधी को फेसबुक, ट्विटर और...

ये दिन भी देखना बाकी था: राहुल गांधी को फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर 7 हजार लोगों ने भी नहीं देखा

1569
SHARE

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार, 22 जून को कोरोना को लेकर मीडिया के साथ देश को संबोधित करते हुए एक श्वेत पत्र जारी किया। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर आने वाली है और सरकार को इसके खिलाफ तैयारी करनी होगी। उन्होंने कहा कि गरीबों के खातों में सीधा पैसा जाए, ताकि वो इस महामारी से लड़ सकें। राहुल गांधी को शायद यह पता नहीं है कि केंद्र सरकार पहले से ही सीधा लाभार्थी के खाते में पैसा भेजती है। शायद उन्हें उस समय का याद हो जब केंद्र से सौ रुपये भेजने पर लोगों के पास सिर्फ 15 रुपये पहुंचते थे।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बेटे के इस संबोधन की सबसे खास बात यह रही कि कांग्रेस पार्टी की तमाम तैयारियों के बावजूद कांग्रेस और राहुल गांधी के फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर 7 हजार लोगों ने भी नहीं देखा। सबसे ज्यादा 3165 लोग कांग्रेस के यूट्यूब चैनल पर लाइव देख रहे थे।

राहुल गांधी के खुद अपने यूट्यूब चैनल पर सिर्फ 574 लोग लाइव देख रहे थे।

इसी तरह कांग्रेस पार्टी के ट्विटर पेज पर चल रहे लाइव को सिर्फ 280 लोग देख रहे थे।

यही हाल फेसबुक पेज का भी था। कांग्रेस पार्टी के फेसबुक पेज पर सिर्फ 888 लोग लाइव संबोधन के देख रहे थे।

जबकि राहुल गांधी के अपने फेसबुक पेज पर सिर्फ 1600 लोग लाइव देख रहे थे।

पार्टी कार्यकर्ताओं की तमाम तैयारियों के बीच भी लोगों ने राहुल गांधी के श्वेत पत्र जारी करने के इवेंट को गंभीरता से नहीं लिया। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोरोना संकट के दौरान सिर्फ ट्विटर पर नकारात्मक राजनीति की है। आज के लाइव से साफ है कि लोग कोरोना महामारी पर उनकी नकारात्मक राजनीति को नकार चुके हैं।

Leave a Reply