Home समाचार ‘सोनिया निष्ठा सॉर्टिफिकेट’ पाने के लिए मची होड़, कांग्रेसियों की कठोर तपस्या...

‘सोनिया निष्ठा सॉर्टिफिकेट’ पाने के लिए मची होड़, कांग्रेसियों की कठोर तपस्या देखकर दंग रह जाएंगे

368
SHARE

देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था का मजाक उड़ाने में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने सारी हदें पार कर दी हैं। कांग्रेसियों की माने तो देश में राजतंत्र है, जिसमें नेहरू-गांधी परिवार देश के कानून और संविधान से ऊपर है। वो किसी सरकारी जांच एजेंसी और संवैधानिक संस्था के प्रति जवाबदेह नहीं है। इस परिवार को हर मामले में उन्मुक्तियां मिली हुई हैं। इसलिए कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी से नेशनल हेराल्ड मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ से कांग्रेसी इतने आहत है कि सोनिया गांधी के प्रति अपनी निष्ठा साबित करने के लिए सड़कों पर कठोर तपस्या कर रहे हैं। 

पूर्व आईपीएस अधिकारी और कांग्रेस नेता डॉ. अजय कुमार का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वो दिल्ली की सड़क पर एक पुलिस वैन को रोकने की कोशिश करते नजर आ रहे हैं। वे वैन में सवार पुलिसकर्मियों को भी आवाज देते हैं, लेकिन वैन में जगह नहीं होने की वजह से वैन नहीं रूकती है। दरअसल अजय कुमार खुद गिरफ्तार होने के लिए पेरशान है। वो अपनी तरफ से तपस्या में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं, लेकिन उनकी तपस्या में कोई कमी रह गई, जिसकी वजह से कोई गिरफ्तार करने के लिए तैयार नहीं हुआ।

उधर उत्तराखंड के देहरादून में ईडी दफ्तर के सामने एक अलग ही तस्वीर देखने को मिली। पुलिस वैन में जगह नहीं मिलने पर एक कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता और नेता सुजाता पॉल पुलिस वैन की खिड़की से लटकी नजर आई। महिला नेता को लगा भीड़ में उसका चेहरा मीडिया को नजर नहीं आएगा। उसने अपना चेहरा चमकाने और सोनिया गांधी के प्रति निष्ठा साबित करने की तपस्या में कोई कमी न रह जाए। इसलिए पुसिल वैन की खिड़की से लटक गई।


सोनिया गांधी के प्रति निष्ठा दिखाने के लिए कांग्रेसियों में होड़ मची हुई है। कांग्रेस कार्यकर्ता पूरे देश से दिल्ली में स्थित पार्टी मुख्यालय के बाहर एकत्र हुए। वहां विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने शशि थरूर, पी चिदंबरम, अजय माकन, सचिन पायलट और अशोक गहलोत के साथ ही कई अन्य बड़े नेताओं को हिरासत में ले लिया। बस में शशि थरूर हाथ में सोनिया गांधी का पोस्टर लिए नजर आए। उनकी नजर कहीं और थी। चेहरे की उदासी बता रही थी कि वो इससे परेशान है, लेकिन करें तो क्या करें। वो भी तपस्या में किसी से पीछे नजर नहीं आना चाहते थे। ताकि सोनिया निष्ठा सॉर्टिफिकेट लेकर अगले चुनाव में अपनी उम्मीदवारी पक्की कर सके।

कांग्रेस कार्यकर्ता अपनी राजमाता की शान में कठोर तपस्या कर रहे हैं। वे सोनिया गांधी से पूछताछ के विरोध में गाड़ियों में आग लगाने से भी बाज नहीं आ रहे हैं। तेलंगाना युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अपनी निष्ठा साबित करने के लिए एक स्कूटर को आग के हवाले कर दिया। वहीं कर्नाटक में ईडी दफ्तर के बाहर खड़ी एक कार को आग के हवाले कर दिया। इनके अलावा देश के कई राज्यों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपनी तपस्या में कोई कसर नहीं छोड़ी।

Leave a Reply