Home समाचार भारत से लेकर ब्रिटेन तक मुस्लिम कट्टरपंथियों का आतंक, लीस्टर शहर में...

भारत से लेकर ब्रिटेन तक मुस्लिम कट्टरपंथियों का आतंक, लीस्टर शहर में हिन्दू मंदिर पर हमला, हिन्दू महिलाएं और बच्चे मंदिर के अंदर बने रहे बंधक

204
SHARE

इस्लामिक कट्टरपंथियों से पूरी दुनिया आतंकित है। अभी भारत में ‘सर तन से जुदा’ के नारों ने आतंक मचा रखा है। कई बेकसूर हिन्दुओं को अपनी जान गंवानी पड़ी है। इससे न केवल भारत में बल्कि दूसरे देशों में भी हिन्दुओं पर खतरे बढ़ गए हैं। ब्रिटने में भी मुस्लिम कट्टरपंथियों ने हिन्दुओं पर हमला शुरू कर दिया है। लीस्टर शहर में रविवार (18 सितंबर, 2022) को स्थानीय मुस्लिम कट्टरपंथियों ने हिन्दू मंदिर पर हमला कर दिया। वहीं पुलिस हमलावरों के सामने मूकदर्शक बनी रही। हमलावरों के हौसले इतने बुलंद थे कि उन्होंने पुलिस पर भी हमला कर दिया।

मुस्लिम कट्टरपंथियों ने लीसेस्टरशायर में एक हिन्दू शिव मंदिर पर हमला बोला और उसपर लगे भगवा झंडे को उखाड़ फेंका। इसके अलावा एक भगवा झंडे में भी आग लगा दी। इस दौरान मंदिर में हिन्दू महिलाएं और बच्चे भी मौजूद थे। हमलावरों ने इन्हें काफी देर तक बंधक बनाये रखा। हमले का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है, जिसमें पाकिस्तानी मुस्लिमों और स्थानीय मुस्लिम कट्टरपंथियों के संगठित गिरोह को हिंदुओं के साथ बर्बरता और आतंकित करते हुए देखा जा सकता है। हिन्दुओं की संपत्ति को निशाना बनाया जा रहा है। इसे लेकर ब्रिटेन के कई स्थानों पर तनाव का माहौल है।

मंदिर पर हमले की घटना पर लीस्टर पुलिस ने कहा कि “हम ऐसी घटनाओं को सहन नहीं करेंगे”। लीस्टर पुलिस ने इस हिंसा में शामिल दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि एक व्यक्ति को हिंसा फैलाने की साजिश रचने के शक में और दूसरे व्यक्ति को धारदार हथियार रखने का संदिग्ध मानकर गिरफ्तार किया गया है।

दरअसल मुस्लिम कट्टरपंथियों ने हिन्दू मंदिर पर हमले के लिए दो झूठ का सहारा लिया। पहला, उन्होंने हिन्दुओं पर मस्जिद पर हमले का आरोप लगाया। दूसरा, एक फेक सोशल मीडिया पोस्ट में दावा किया गया कि तीन हिंदू युवकों ने एक मुस्लिम युवती का अपहरण करने की कोशिश की। इसको लेकर लीस्टर शहर में एक विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया था।

इससे पहले शनिवार (17 सितंबर, 2022) को यह हिंसा तब शुरू हुई, जब बर्मिंघम में मुस्लिमों ने लीसेस्टर में ‘शांतिपूर्ण विरोध’ का आह्वान किया। इसके लिए उन्होंने एक पोस्टर बनाया, जिसमें लिखा था, “हम लेस्टा में विरोध प्रदर्शन करने जा रहे हैं। आरएसएस हिंदुत्व चरमपंथियों को हमारी मुस्लिम, सिख महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों के साथ खिलवाड़ नहीं करने देंगे।”

हमले के बाद लीसेस्टरशायर ब्रह्म समाज शिवालय के ट्रस्टियों की अध्यक्ष मधु शास्त्री ने लीसेस्टरशायर पुलिस को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि झंडा तोड़ने वाले को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। उन्होंने कहा कि तनाव कम होने तक मंदिर को बंद करना पड़ सकता है। शास्त्री ने पुलिस से मंदिर की सुरक्षा बढ़ाने की भी मांग की। 

गौरतलब है कि ये पूरा विवाद 28 अगस्त से चल रहा है, जब एशिया कप में भारत-पाकिस्तान के बीच मैच हुआ था। इस मैंच में भारत की जीत हुई थी। भारत की जीत और पाकिस्तान की हार से कट्टरपंथियों में काफी गुस्सा था। इस दौरान इस्लामी कट्टरपंथियों की भीड़ ने हिंदुओं के घरों को निशाना बनाया था। इस हमले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस झड़प में एक हिंदू पर चाकू से हमले की भी बात सामने आई थी।

Leave a Reply