Home समाचार प्रियंका गांधी वाड्रा ने की कविता की चोरी, लेखक ने लताड़ा

प्रियंका गांधी वाड्रा ने की कविता की चोरी, लेखक ने लताड़ा

533
SHARE

नेहरू-फिरोज-वाड्रा परिवार सत्ता के लिए हर हथकंडा अपनाने के लिए तैयार है। देशवासियों को गुमराह करने के लिए सबसे पहले ‘गांधी’ टाइटल पर कब्जा किया, उसके बाद जहां नजर पड़ी अपने फायदे के लिए घोटाला किया। फिर नेहरू-फिरोज-वाड्रा परिवार को कविता चोरी करते पकड़ा गया है। वाड्रा परिवार की बहू और नेहरू-फिरोज परिवार की बेटी प्रियंका बुधवार (17 नवंबर, 2021) को चित्रकूट में महिलाओं से संवाद के दौरान एक चोरी की कविता सुनाई। कविता की पंक्तियां हैं,’सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो, अब गोविंद ना आएंगे, कब तक आस लगाओगी तुम, बिके हुए अखबारों से, कैसी रक्षा मांग रही हो दुशासन दरबारों से…’।

अब इस कविता को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। कविता के मूल लेखक पुष्यमित्र उपाध्याय ने आपत्ति जताते हुए प्रियंका की जमकर लताड़ लगायी। उन्होंने ट्वीट किया,“ प्रियंका गांधी जी ये कविता मैंने देश की स्त्रियों के लिए लिखी थी न कि आपकी घटिया राजनीति के लिए। न तो मैं आपकी विचारधारा का समर्थन करता हूं और न आपको ये अनुमति देता हूं कि आप मेरी साहित्यिक संपत्ति का राजनैतिक उपयोग करें। कविता भी चोरी कर लेने वालों से देश क्या उम्मीद रखेगा?” पुष्यमित्र के इस ट्वीट के बाद प्रियंका गांधी वाड्रा की जमकर किरकरी हो रही है। दरअसल उत्तर प्रदेश के एटा के रहने वाले पुष्यमित्र उपाध्याय ने कांग्रेस शासन के दौरान 2012 में दिल्ली में निर्भया कांड से आहत हो कर इस कविता को लिखा था। लेकिन प्रियंका गांधी वाड्रा इसे महिलाओं को गुमराह करने और अपने क्षुद्र सियासी फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है।

‘चोरी’ नेहरू-फिरोज-वाड्रा परिवार की पुरानी आदत

टाइटल की चोरी : नेहरू-खान से ‘गांधी’ बन गए।

जाति की चोरी : फिरोज खान का पोता ब्राह्मण बना।

धर्म की चोरी : पारसी-ईसाई के बच्चे हिन्दू बन गए।

हिन्दुत्व की चोरी : हिन्दुत्व को ‘तुम्हारा-मेरा’ में बांट दिया।

संपत्ति की चोरी : एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड की संपत्ति हड़पी।

जमीन की चोरी : रॉबर्ट वाड्रा पर डीएलएफ घोटाले का आरोप लगा।

डेटा की चोरी : 25 करोड़ लोगों का डेटा चोरी कर गलत उपयोग किया।

खजाने की चोरी : बोफोर्स घोटाला और अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला किया।

देश से चोरी : डोकलाम विवाद के समय चोरी से चीन के राजदूत से मिले।

Leave a Reply