Home समाचार प्रधानमंत्री मोदी ने की उन लोगों से बात, जिन्होंने यूक्रेन से भारतीयों...

प्रधानमंत्री मोदी ने की उन लोगों से बात, जिन्होंने यूक्रेन से भारतीयों के सुरक्षित निकासी में निभाई अहम भूमिका

184
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 15 मार्च को यूक्रेन से भारतीयों के सुरक्षित निकासी के लिए शुरू ऑपरेशन गंगा में अहम भूमिका निभाने वाले लोगों के साथ बातचीत की। ऑपरेशन गंगा के तहत 23000 भारतीय नागरिकों के साथ 18 देशों के 147 विदेशी नागरिक भी यूक्रेन से सुरक्षित निकाले गए थे। प्रधानमंत्री मोदी ने जिन लोगों से बात की उनमें दूतावास के अधिकारियों के साथ सामुदायिक संगठनों के लोग शामिल हैं।

बातचीत के दौरान यूक्रेन, पोलैंड, स्लोवाकिया, रोमानिया और हंगरी में भारतीय समुदाय और निजी क्षेत्र के प्रतिनिधियों ने ऑपरेशन गंगा का हिस्सा बनने के अपने अनुभव और चुनौतियों के बारे में बताया। इस तरह के एक जटिल मानवीय ऑपरेशन में अपने योगदान पर उन्होंने संतोष और सम्मान की भावना व्यक्त की। ऑपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन की सीमा से सटे देशों में भेजे गए केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, वीके सिंह, किरेन रिजिजू और हरदीप सिंह पुरी ने भी इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय समुदाय के नेताओं, स्वयंसेवी समूहों, कंपनियों, व्यक्ति विशेष और सरकारी अधिकारियों की सराहना की, जिन्होंने ऑपरेशन की सफलता के लिए अथक प्रयास किया। उन्होंने ऑपरेशन गंगा में शामिल सभी लोगों की देशभक्ति, सामुदायिक सेवा की भावना और टीम भावना की प्रशंसा की। प्रधानमंत्री ने विशेष रूप से विभिन्न सामुदायिक संगठनों की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनकी निस्वार्थ सेवा भारतीय सभ्यता के मूल्यों का उदाहरण है जो वे विदेशी धरती पर भी अपनाते हैं।

संकट के दौरान भारतीय नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार की ओर से किए गए प्रयासों के बारे में प्रधानमंत्री मोदी ने यूक्रेन और उसके पड़ोसी देशों के नेताओं के साथ अपनी बातचीत को याद किया और सभी विदेशी सरकारों से प्राप्त समर्थन के लिए आभार व्यक्त किया।

विदेशों में भारतीयों की सुरक्षा को सरकार द्वारा दी जाने वाली उच्च प्राथमिकता को दोहराते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत ने किसी भी अंतरराष्ट्रीय संकट के दौरान अपने नागरिकों की सहायता के लिए हमेशा तत्परता से काम किया है। भारत ने वसुधैव कुटुम्बकम के अपने सदियों पुराने दर्शन से प्रेरित होकर आपात स्थितियों के दौरान अन्य देशों के नागरिकों को भी मानवीय सहायता प्रदान की है।

इससे पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर ने राज्यसभा में कहा कि युद्धग्रस्त यूक्रेन से छात्रों सहित 22,500 भारतीय नागरिक सुरक्षित निकाले गए हैं। उन्होंने कहा कि ऑपरेशन गंगा के तहत 90 फ्लाइट्स चलाई गईं थीं। इनमें से 76 नागरिक उड़ानें थीं, जबकि 14 वायुसेना की उड़ानें थीं। ऑपरेशन गंगा के जरिए भारत अपने बांग्लादेश और नेपाल जैसे पड़ोसी देशों के कई नागरिकों को भी बचाने में कामयाब रहा है।

Leave a Reply