Home कोरोना वायरस पीएम मोदी ने जारी की किसान सम्मान निधि की 8वीं किस्त, कोरोना...

पीएम मोदी ने जारी की किसान सम्मान निधि की 8वीं किस्त, कोरोना पर बोले- भारत हिम्मत नहीं हारेगा, लड़ेंगे और जीतेंगे

463
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किसान सम्मान निधि की 8वीं किस्त जारी की। इस अवसर अपने संबोधन में उन्होंने कोरोना महामारी की सेकेंड वेव को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि हम एक अदृश्य शत्रु का सामना कर रहे हैं। इससे युद्धस्तर पर लड़ाई जारी है। उन्होंने ग्रामीण इलाकों में कोरोना से बचाव के लिए सभी सावधानियां बरतने के साथ ही, सभी से अपनी बारी आने पर कोरोना वैक्सीनेशन जरूर कराने की अपील की।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा पीएम किसान सम्मान निधि से विशेष रूप से छोटे और मझोले किसानों को अधिक लाभ हो रहा है। आज के कठिन समय में ये राशि इन किसान परिवारों के बहुत काम आ रही है। उन्होंने कहा कि अभी तक इस योजना के तहत देश के लगभग 11 करोड़ किसानों के पास लगभग 1 लाख 35 हजार करोड़ रुपये पहुंच चुके हैं। इनमें से सिर्फ कोरोना काल में ही 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा पहुंचे हैं। श्री मोदी ने कहा कि जरूरत के समय देशवासियों तक सीधी मदद पहुंचे, तेजी से पहुंचे, पूरी पारदर्शिता के साथ पहुंचे, यही सरकार का निरंतर प्रयास है।

पीएम मोदी ने कहा कि सीधे किसानों तक लाभ पहुंचाने का ये काम उपज की सरकारी खरीद में भी बहुत व्यापक स्केल पर किया जा रहा है। कोरोना की मुश्किल चुनौतियों के बीच जहां किसानों ने कृषि और बागवानी में रिकॉर्ड उत्पादन किया है, वहीं सरकार भी हर साल MSP पर खरीद के नए रिकॉर्ड बना रही है। पहले धान की और अब गेहूं की भी रिकॉर्ड खरीद हो रही है। इस वर्ष, अभी तक बीते वर्ष की तुलना में लगभग 10 प्रतिशत अधिक गेहूं एमएसपी पर खरीदा जा चुका है। अभी तक गेहूं की खरीद का लगभग 58 हज़ार करोड़ रुपए सीधे किसानों के खाते में पहुंच चुका है। सबसे बड़ी बात ये कि अब किसान जो उपज मंडी में बेच रहा है, उसको अब अपने पैसे के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ता, परेशान नहीं होना पड़ता। किसान के हक का पैसा सीधा उसके बैंक खाते में जमा हो रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पंजाब और हरियाणा के लाखों किसान पहली बार डायरेक्ट ट्रांसफर की इस सुविधा से जुड़े हैं। अभी तक पंजाब के किसानों के बैंक खाते में करीब 18 हजार करोड़ रुपये, और हरियाणा के किसानों के बैंक खाते में 9 हजार करोड़ रुपये से अधिक सीधा जमा किया जा चुका है। प्रधानमंत्री मोदी ने देश एक अलग-अलग राज्यों के किसानों से सीधा संवाद भी किया।

कोरोना संकट पर बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 100 साल बाद आई इतनी भीषण महामारी कदम-कदम पर दुनिया की परीक्षा ले रही है। हमारे सामने एक अदृश्य दुश्मन है। हम अपने बहुत से करीबियों को खो चुके हैं। बीते कुछ समय से जो कष्ट देशवासियों ने सहा है, वो मैं भी उतना ही महसूस कर रहा हूं। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस संकट के समय में दवाइयों और जरूरी वस्तुओं की जमाखोरी और कालाबाजारी में भी कुछ लोग अपने निहित स्वार्थ के कारण लगे हुए हैं। उन्होंने राज्य सरकारों से आग्रह किया कि ऐसे लोगों पर कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए। ये कृत्य मानवता के खिलाफ है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत हिम्मत हारने वाला देश नहीं है, भारत और कोई भारतवासी हिम्मत नहीं हारेगा। हम लड़ेंगे और जीतेंगे। उन्होंने कहा कि देशभर के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीकाकरण किया जा रहा है। इसलिए जब भी आपकी बारी आए तो टीका जरूर लगवाएं। ये टीका हमें कोरोना के विरुद्ध सुरक्षा कवच देगा, गंभीर बीमारी की आशंका को कम करेगा। मास्क और दो गज की दूरी के मंत्र को हमें छोड़ना नहीं है।

Leave a Reply