Home समाचार इकॉनमी पर एक्शन में मोदी सरकार, निवेश को बढ़ावा देने के लिए...

इकॉनमी पर एक्शन में मोदी सरकार, निवेश को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने की अहम बैठक

358
SHARE

कोरोना संकट काल में इकॉनमी के मोर्चे पर मोदी सरकार पूरी तरह से एक्शन में है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार विदेशी के साथ-साथ घरेलू निवेश को बढ़ावा देने में जोर-शोर से लगी हुई है। प्रधानमंत्री मोदी ने देश में अधिक विदेशी निवेश आकर्षित करने के लिए गुरुवार को एक अहम बैठक की। बैठक में कोरोना महामारी को देखते हुए देश की अर्थव्यवस्था के विकास को नई गति प्रदान करने की रणनीति पर चर्चा हुई।

बैठक में चर्चा की गई कि मौजूदा औद्योगिक क्षेत्र या भूखंडों में तत्काल मंजूरी वाले इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देना चाहिए साथ ही उसे वित्तीय मदद भी प्रदान की जानी चाहिए। प्रधानमंत्री ने निर्देश दिया कि निवेशकों का मार्गदर्शन करने, उनकी समस्याओं पर गौर करने और समयबद्ध तरीके से सभी आवश्यक मंजूरी प्राप्त करने में उनकी मदद करने के लिए ठोस कदम उठाया जाना चाहिए।

बैठक में विदेश से फास्ट-ट्रैक मोड से निवेश लाने और देश के घरेलू सेक्‍टरों को बढ़ावा देने के लिए रणनीतियों पर चर्चा की गई। अपनी-अपनी रणनीतियों को विकसित करने, प्रोएक्टिव होकर निवेश आकर्षित करने के लिए राज्यों का मार्गदर्शन करने पर भी विचार-विमर्श किया गया।

इस दौरान यह भी चर्चा की गई कि विभिन्न मंत्रालयों की ओर से सुधारों को लागू करने की पहल को लगातार जारी रखा जाना चाहिए। इसके साथ ही निवेश और औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के मार्ग में मौजूद किसी भी बाधा को दूर करने के लिए समयबद्ध तरीके से ठोस कदम उठाए जाने चाहिए।

रक्षा और एयरोस्पेस क्षेत्र को प्रोत्साहन देने पर चर्चा

प्रधानमंत्री मोदी ने सुरक्षा बलों की जरूरतों को पूरा करने के लिए देश में एक मजबूत और आत्मनिर्भर रक्षा उद्योग के लिए विस्तृत चर्चा की। बैठक में आयुध कारखानों के कामकाज में सुधार, खरीद प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करने, संसाधन आवंटन पर ध्यान केंद्रित करने, अनुसंधान एवं विकास/इनोवेशन को प्रोत्साहन देने, महत्वपूर्ण रक्षा टेक्नोलॉजी में निवेश को आकर्षित करने और निर्यात को बढ़ावा देने जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया।

प्रधानमंत्री मोदी ने रक्षा और एयरोस्पेस क्षेत्रों में दुनिया के शीर्ष देशों में भारत को स्थापित करने के मद्देनजर आत्मनिर्भरता और निर्यात के दोहरे उद्देश्यों को पूरा करने के लिए डिजाइन से लेकर उत्पादन तक में सार्वजनिक और निजी क्षेत्र की सक्रिय भागीदारी पर बल दिया। उन्होंने रक्षा क्षेत्र में घरेलू और विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए प्रस्तावित सुधारों की भी समीक्षा की।

प्रधानमंत्री मोदी ने आयात निर्भरता कम करने और अत्याधुनिक रक्षा उपकरणों के डिजाइन, विकास और निर्माण के लिए मेक इन इंडिया को आगे बढ़ाने को कहा। उन्होंने रक्षा उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने की पहलों के लिए एक ऐसे वातावरण को बनाने पर जोर दिया जहां अनुसंधान और विकास को प्रोत्साहन देने के साथ-साथ नवाचार को पुरस्कृत करते हुए भारतीय आईपी स्वामित्व का निर्माण किया जा सके।

प्रधानमंत्री ने अर्थव्‍यवस्‍था को प्रोत्‍साहन देने के लिए खान एवं कोयला क्षेत्रों में संभावित आर्थिक सुधारों के बारे में भी विचार विमर्श किया। इस बैठक में घरेलू स्रोतों से खनिज संसाधनों की सुगम और प्रचुर उपलब्‍धता, निवेश और आधुनिक टेक्नॉलोजी के साथ पारदर्शी और कुशल प्रक्रियाओं के माध्‍यम से बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसरों का सृजन करने पर चर्चा की गई।

Leave a Reply