Home समाचार पीएम मोदी ने 15 हजार करोड़ रुपये की लागत बनने वाले बुंदेलखंड...

पीएम मोदी ने 15 हजार करोड़ रुपये की लागत बनने वाले बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की रखी आधारशिला

739
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखी और साथ ही उन्होंने दस हजार किसान उत्पादन संगठन (एफपीओ) योजना का भी शुभारंभ किया। इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बुंदेलखंड को विकास के एक्सप्रेसवे पर ले जाने वाला बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इस क्षेत्र के जन जीवन को बदलने वाला सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि करीब 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला ये एक्सप्रेसवे यहां रोजगार के कई अवसर लाएगा।

पीएम मोदी ने कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे हो, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे हो या फिर प्रस्तावित  ये सभी यूपी में कनेक्टिविटी तो बढ़ाने के साथ ही रोजगार के अनेक अवसर पैदा करेंगे। 

इस अवसर पर 10 हज़ार FPO यानि किसान उत्पादक संगठन बनाने की योजना को लांच करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि किसान अब तक उत्पादक तो था ही, अब वो FPO के माध्यम से व्यापार भी करेगा। अब किसान फसल भी बोएगा और कुशल व्यापारी की तरह मोल-भाव करके अपनी उपज का सही दाम भी प्राप्त करेगा। उन्होंने कहा कि किसानों की आमदनी दोगुना करने के लिए बीते 5 वर्षों में बीज से बाजार तक अनेक फैसले लिए गए हैं। MSP को डेढ़ गुना करना हो, सॉयल हेल्थ कार्ड हो, यूरिया की 100% नीम कोटिंग हो, दशकों से अधूरी सिंचाई परियोजनाओं को पूरा करना हो, ये सभी किसानों की आय बढ़ाने की दिशा में उठाए गए महत्वपूर्ण कदम हैं। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि पीएम किसान सम्मान निधि द्वारा एक वर्ष में देश के करीब 8.5 करोड़ किसान परिवारों के बैंक खातें में सीधे 50,000 करोड़ से अधिक की राशि जमा हो चुकी है। चित्रकूट सहित पूरे यूपी के 2 करोड़ से ज्यादा किसान परिवारों के खाते में भी करीब 12 हज़ार करोड़ रुपए जमा हुए हैं। उन्होंने कहा कि पहले किसानों के नाम पर हज़ारों करोड़ के पैकेज घोषित होते थे, लेकिन किसान की जेब तक कुछ नहीं पहुंचता था। अब दिल्ली से निकलने वाली पाई-पाई उसके हकदार तक पहुंच रही है। 

उन्होंने कहा कि पीएम किसान योजना के लाभार्थियों को पीएम जीवन ज्योति बीमा और पीएम जीवन सुरक्षा बीमा योजना से भी जोड़ा जा रहा है। इससे किसान साथियों को मुश्किल समय में दो लाख रुपये तक की बीमा राशि सुनिश्चित हो जाएगी।

पीएम मोदी ने कहा कि हाल में सरकार ने एक और बड़ा फैसला प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से संबंधित लिया है। अब इस योजना से जुड़ना स्वैच्छिक कर दिया गया है। पहले बैंक से ऋण लेने वाले किसान साथियों को इससे जुड़ना ही पड़ता था, लेकिन अब ये किसान की इच्छा पर निर्भर है। उन्होंने कहा कि किसानों के द्वारा 13 हजार करोड़ रुपये के प्रीमियम के बदले में तीन साल में किसानों को 56 हजार करोड़ की क्लेम राशि मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ग्रामीण रिटेल एग्रीकल्चर मार्केट के विस्तार पर काम कर रही है। देश में 22,000 ग्रामीण हाटों में जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि किसान को, उसके खेत के कुछ किलोमीटर के दायरे में ही एक ऐसी व्यवस्था मिले, जो उसे देश के किसी भी मार्केट से जोड़ दे।

 

लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इस वर्ष के बजट में भी अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। किसान की आय बढ़ाने के लिए एक 16 सूत्रीय कार्यक्रम बनाया गया है। गांवों में भंडारण के लिए आधुनिक भंडार गृह, पंचायत स्तर पर कोल्ड स्टोरेज हों, पशुओं के लिए उचित मात्रा में चारा उपलब्ध हो, इसके लिए व्यापक योजना बनाई गई है।

पीएम मोदी ने कहा कि बुंदेलखंड सहित पूरे भारत को जल जीवन मिशन अभियान का व्यापक लाभ मिलने वाला है। अब देश का एक-एक जन भारत को जलयुक्त और सूखा मुक्त करने के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है। आने वाले पांच वर्ष में देश के लगभग 15 करोड़ परिवारों तक शुद्ध पीने का पानी पहुंचाने के संकल्प के लिए काम तेजी से शुरू हो चुका है और इसमें भी प्राथमिकता आकांक्षी जिलों को दी जा रही है। 

 

Leave a Reply