Home समाचार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जन्मदिन विशेष : 20 वर्ष से संवैधानिक पद पर...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जन्मदिन विशेष : 20 वर्ष से संवैधानिक पद पर रहते हुए जनसेवा में जुटे हैं पीएम मोदी, 20 दिवसीय सेवा व समर्पण अभियान की शुरुआत

452
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 71वां जन्मदिन सेवा और समर्पण के तौर पर मनाया जा रहा है। बीजेपी आज से 20 दिवसीय सेवा और समर्पण अभियान की शुरुआत कर रही है, जिसका समापन सात अक्टूबर को होगा। 7 अक्टूबर, 2001 को ही नरेन्द्र दामोदर दास मोदी ने पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी और जनसेवा का कार्य शुरू किया था। वे 13 वर्ष गुजरात के मुख्यमंत्री रहे और विगत सात वर्षों से देश के प्रधानमंत्री हैं। 20 साल से संवैधानिक पद पर रहते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने जन सेवा और राष्ट्र धर्म के जो आदर्श स्थापित किए हैं, वो देश के बेहतर भविष्य के लिए अनुकरणीय है। इस लिए बीजेपी ने प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन 17 सिंतबर से लेकर उनके पहली बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के दिन 7 अक्टूबर तक सेवा व समर्पण अभियान चलाने का निर्णय लिया है। इस बीस दिवसीय कार्यक्रम में बीजेपी के कार्यकर्ता जनता की सेवा करेंगे। 

सेवा और समर्पण अभियान के तहत अलग-अलग कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसमें 14 करोड़ राशन बैग, देश भर के बूथों में भेजे जाने वाले 5 करोड़ Thank-you Modiji पोस्ट कार्ड, नदियों को साफ करने के लिए 71 जगहों की पहचान और सोशल मीडिया पर हाईप्रोफाइल कैंपेन के साथ-साथ कोविड वैक्सीनेशन और प्रधानमंत्री मोदी के अबतक के काम और उनके जीवन पर एक सेमिनार का आयोजन शामिल है। प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन को खास बनाने के लिए कई राज्यों ने खास तैयारी की है। उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और उत्तराखंड सहित कई गैरबीजेपी शासित राज्यों में भी प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिन खास तरह से मनाया जा रहा है। इस बार प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर देश के तकरीबन सभी राज्यों ने कोरोना वैक्सीनेनशन के लिए पहले की तुलना में ज्यादा लक्ष्य निर्धारित किया है।

इस दिन को ऐतिहासिक बनाने के लिए राज्य सरकारों ने रिकॉर्ड कोविड वैक्सीनेशन का लक्ष्य तय निर्धारित किया है। माना जा रहा है कि पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर देश देश में टीकाकरण का एक नया रिकॉर्ड बनाएगा, जो पिछले सारे रिकॉर्ड को तोड़ देगा। अगर बिहार की बात करें तो प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन को खास बनाने के लिए नीतीश सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को एक दिन में यानि 17 सितंबर को 30 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य निर्धारित किया है। वहीं, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी 50 लाख से ज्यादा लोगों को एक दिन में वैक्सीनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसी तरह मध्य प्रदेश, गोवा, उत्तराखंड, हरियाणा, असम, गुजरात और कर्नाटक सहित कई बीजेपी शासित राज्यों ने अपने यहां कोविड वैक्सीनेशन का लक्ष्य पहले की तुलना में ज्यादा तय कर रखा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व में सेवा, त्याग और मानवता के अनुपम उदाहरण पेश किया है। मानवता और राष्ट्र की सेवा में अबतक 103 करोड़ रुपये अपने व्यक्तिगत फंड से दान कर चुके हैं।

1. गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान मिले सभी उपहारों की नीलामी कर मिले 89.96 करोड़ रुपये को कन्या केलवनी फंड में दिया।

2. 2014 में प्रधानमंत्री के रूप में पदभार संभालने से पहले अपने निजी बचत के 21 लाख रूपये गुजरात सरकार के कर्मचारियों की बेटियों की पढ़ाई के लिए दिया।

3. 2015 में मिले उपहारों की नीलामी से जुटाए गए 8.35 करोड़ रुपये नमामि गंगे मिशन को दिया।

4. 2019 में कुंभ मेले में निजी बचत से 21 लाख रुपये स्वच्छता कर्मचारियों के कल्याण के लिए बनाए गए फंड को दिया।

5. 2019 में ही साउथ कोरिया में सियोल पीस प्राइज़ में मिली 1.3 करोड़ की राशि को स्वच्छ गंगा मिशन को दिया।

6. हाल ही में अपने कार्यकाल के दौरान उनको मिली स्मृति चिन्हों की नीलामी में 3.40 करोड़ रुपये एकत्र किए गए राशि को भी नमामि गंगे मिशन को उन्होंने दिए।

7. वहीं पीएम केयर्स फंड के लिए 2.25 लाख रुपये दिए।

आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 71 वर्ष की अवस्था में भी पूरी ऊर्जा और समर्पण के साथ ‘तेरा तुझको अर्पण क्या लागे मेरा’ की भावना से देश और समाज की सेवा कर रहे हैं।

Leave a Reply