Home समाचार भारत माता की सेवा-साधना ही हमारी राष्ट्रभक्ति: प्रधानमंत्री मोदी

भारत माता की सेवा-साधना ही हमारी राष्ट्रभक्ति: प्रधानमंत्री मोदी

200
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को शिवगिरी तीर्थ की 90वीं जयंती और ब्रह्म विद्यालय की स्वर्ण जयंती के संयुक्त समारोह के उद्घाटन कार्यक्रम में हिस्सा लिया। दिल्ली के 7 लोक कल्याण मार्ग पर इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस अवसर पर पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, “भारत के ऋषियों, संतों एवं गुरुओं ने हमेशा विचारों और व्यवहारों का शोधन और संवर्धन किया है। श्री नारायण गुरु ने आधुनिकता की बात की, साथ ही भारतीय संस्कृति और मूल्यों को भी समृद्ध किया।“

पीएम मोदी ने तीर्थदानम् की 90 सालों की यात्रा और ब्रह्म विद्यालयम् की गोल्डन जुबली की चर्चा करते हुए इसे भारत के उस विचार की भी अमर यात्रा बताया, जो अलग-अलग कालखंड में अलग-अलग माध्यमों के जरिए आगे बढ़ता रहता है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने नारायण गुरु जी को याद करते हुए कहा, नारायण गुरु जी समाज में ऐसे वातावरण का निर्माण करते थे कि समाज खुद सही तर्कों के साथ अपने आप सुधार की प्रक्रिया में जुट जाता था। हमारी सरकार इसी रास्ते पर चल रही है।“

पीएम मोदी ने कहा कि नारायण गुरु जी ने समाज की बुराइयों के खिलाफ अभियान चलाया और भारत को उसके यथार्थ से परिचित कराया। देश सेवा को सर्वोपरि बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “हमारी राष्ट्रभक्ति, शक्ति का प्रदर्शन नहीं, बल्कि यह भारत माता की आराधना और उसकी सेवा-साधना है। हम इस बात को समझते हुए आगे बढ़ें, तो दुनिया की कोई भी शक्ति हम भारतीयों में मतभेद पैदा नहीं कर सकती।“

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस अवसर पर देश की महान विभूतियों को याद करते हुए कहा कि आजादी के 75 सालों की जिस यात्रा को हम देख रहे हैं, वह उन महान विभूतियों के विचारों का ही परिणाम है, जो देश को दिशा देने के लिए एक साथ आए।

शिवगिरि केरल का एक प्रमुथ तीर्थस्थान है. जहां श्री नारायण गुरु को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी, श्री नारायण गुरु के निर्देश पर शिवगिरि तीर्थयात्रा और ब्रह्म विद्यालय को शुरू किया गया था।

Leave a Reply