Home समाचार कश्मीर में सुपिंदर कौर की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब, आक्रोशित लोगों...

कश्मीर में सुपिंदर कौर की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब, आक्रोशित लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ लगाये नारे, जम्मू-कश्मीर का दौरा कर सकते हैं गृह मंत्री

610
SHARE

जम्मू कश्मीर में बेहतर होते माहौल और आतंकियों पर कसते शिकंज से पाकिस्तान परेशान है। इसलिए घाटी का माहौल खराब करने और लोगों में दहशत फैलाने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहा है। इसके तहत अब अपने पिट्ठू आतंकियों को बेकसूर लोगों को निशाना बनाने का निर्देश दिया है। आतंकियों ने अपने आका के निर्देशों का पालन करते हुए गुरुवार (7 अक्टूबर, 2021) को श्रीनगर के ईदगाह इलाके में स्थित गवर्नमेंट ब्वॉयज स्कूल में गोलीबारी कर दो शिक्षकों की हत्या कर दी, उनमें से एक प्रधानाध्यापिका सुपिंदर कौर भी थीं।

आज यानि 8 अक्टूबर को जब सुपिंदर कौर की अंतिम यात्रा निकली, तो उसमें जनसैलाब उमड़ पड़ा। पूरी सड़क लोगों से पटी थी। क्या बुजुर्ग, क्या नौजवान और क्या बच्चे, सुपिंदर की अंतिम यात्रा में हर कोई शामिल था। इस दौरान लोगों में आतंकियों के इस कायरान हरकत को लेकर आक्रोश देखने को मिला। लोगों ने पाकिस्तान और आतंकियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। 

गौरतलब है कि सुपिंदर कौर समाज सेवा भी करती थी। वो जितना वेतन पाती थीं उसका आधा हिस्सा सामाजिक कार्यों पर खर्च करती थीं। जब वो छानापोरा हायर सेकेंडरी स्कूल में थी, तो एक अनाथ छात्रा की फीस और ड्रेस का खर्चा उठाती थीं। लड़की पहले अपनी मौसी के पास रहती थी। लेकिन पिछले साल मौसी की शादी के बाद वह परेशान थी। जब इसके बारे में सुपिंदर को पता लगा तो उन्होंने इस लड़की को अपने मुस्लिम पड़ोसी के घर पर रखवा दिया और उसके परवरिश के लिए 20 हज़ार रुपये महीना देने लगी। सुपिंदर का छानापोरा हायर सेकेंडरी स्कूल से तबादला हो गया, लेकिन लड़की का खर्च उठती रहीं।

महानिरीक्षक (कश्मीर) विजय कुमार के मुताबिक आतंकवादियों के संचालकों ने अब रणनीति बदल दी है और निहत्थे पुलिसकर्मियों, नागरिकों, राजनेताओं और अब एक महिला समेत अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। इस हफ्ते टारगेटेड हमले नए भर्ती किए गए आतंकवादियों या उन लोगों की ओर से किए जा रहे हैं जो आतंकवादी के रैंक में शामिल होने वाले हैं। कुछ मामलों में ओजीडब्ल्यू (ओवरग्राउंड वर्कर) सीधे तौर पर शामिल पाए गए हैं। विजय कुमार ने कहा कि पुलिस कड़ी मेहनत कर रही है और इसमें शामिल आतंकवादियों की पहचान कर रही है। उन्होंने कड़ी से कड़ी कार्रवाई का वादा किया।

विजय कुमार ने आम लोगों खासकर अल्पसंख्यक समुदायों को हौसला बनाये रखने की अपील की। उन्होंने भरोसा दिलाया कि शांति और सुरक्षित माहौल बनाने की पूरी कोशिश की जा रही है। वहीं इस बीच सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक गृह मंत्री अमित शाह 22 और 23 अक्टूबर को श्रीनगर और जम्मू का दौरा कर सकते हैं। इस दौरान वो सरकारी कार्यक्रमों में शरीक होने के साथ स्थानीय लोगों से मुलाकात भी कर सकते हैं।

Leave a Reply