Home समाचार आर्टिकल 370 पर पाकिस्तान और कांग्रेस की सोच एक जैसी, दिग्विजय सिंह...

आर्टिकल 370 पर पाकिस्तान और कांग्रेस की सोच एक जैसी, दिग्विजय सिंह के बयान से सच आया सामने

1085
SHARE

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और राहुल गांधी के करीबी दिग्विजय सिंह का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कांग्रेस को लेने के देने पड़ गए हैं। दरअसल क्लब हाउस चैट के इस ऑडियो में दिग्विजय सिंह साफ तौर पर कश्मीर को लेकर कांग्रेस पार्टी के एजेंडे को सामने रख रहे हैं। इसमें एक पाकिस्तानी पत्रकार शाहजेब जिलानी के सवाल का जवाब देते हुए दिग्विजय सिंह कहते हैं, ”जब उन्होंने कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया तो वहां लोकतंत्र नहीं था। वहां इंसानियत भी नहीं थी क्योंकि उन्होंने सभी को जेल में बंद कर दिया था। कश्मीरियत वहां के सेक्युलरिज्म का अहम हिस्सा है क्योंकि मुस्लिम बहुल राज्य का राजा हिंदू था और दोनों साथ मिलकर काम करते थे। यहां तक कि कश्मीर में कश्मीरी पंडितों को सरकारी नौकरी में आरक्षण दिया गया था। ऐसे में आर्टिकल 370 को हटाने का फैसला बेहद दुखद था और कांग्रेस जब सत्ता में आएगी तो 370 को हटाने के फैसले पर फिर से विचार करेगी।”

जम्मू-कश्मीर में आया यह क्रांतिकारी बदलाव वहां के क्षेत्रीय दलों और कांग्रेस पार्टी को हजम नहीं हो रहा है। जम्मू-कश्मीर के क्षेत्रीय दल तो खुलकर अपनी बात कहते आए हैं, लेकिन कांग्रेस पार्टी पूरे भारत के लोगों की भावनाओं के खिलाफ जाकर अपना स्टैंड खुले तौर पर सामने नहीं रख पाई। कांग्रेस की इसी दबे हुए एजेंडे को कहीं न कहीं दिग्विजय सिंह ने क्लब हाउस चैट में सामने रख दिया है। दिग्विजय सिंह ने साफ कहा है कि जब भी कांग्रेस की सरकार आएगी, तो वो धारा 370 हटाने के फैसले पर विचार करेगी। एक बात और जान लीजिए कि हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का भी यही विचार है और वो भी जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने का मुखर विरोध करता रहा है। ऐसे में कांग्रेस की यह सोच एक हिसाब से पाकिस्तान की सोच से मेल खाती है, यानि इस मुद्दों पर दोनों एक हैं।

दिग्विजय के बयान पर भाजपा ने कांग्रेस को घेरा
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का यह बयान सामने आने के बाद देश की राजनीति में बवंडर आ गया है। जैसे ही दिग्विजय सिंह का ऑडियो सोशल मीडिया पर लीक हुआ, लोगों की प्रतिक्रिया भी सामने आने लगीं। सबसे कड़ा विरोध भारतीय जनता पार्टी ने किया। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर कहा, ”कांग्रेस का पहला प्यार पाकिस्तान है। दिग्विजय सिंह ने राहुल गांधी का संदेश पाकिस्तान तक पहुंचाया है। कांग्रेस कश्मीर को हथियाने में पाकिस्तान की मदद करेगी।”

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर कहा, “भारत की छवि को नष्ट करने और भारतीय सेना का उपहास करने के लिए पाकिस्तान और कांग्रेस का विचार समान है। दिग्विजय सिंह ने धारा 370 के लिए जो कहा है वही पाकिस्तान का इंटरनेशनल एजेंडा है।“

बीजेपी के प्रवक्ता संबित्र पात्रा ने भी वायरल चैट को रिट्वीट करते हुए कांग्रेस और दिग्विजय सिंह को निशाने पर लिया। संबित पात्रा ने ट्विटर किया, ”दिग्विजय सिंह ने अनुच्छेद 370 बहाल करने पर पुनर्विचार की बात कही। उन्होंने हिंदू कट्टरपंथी का जिक्र किया। कांग्रेस राष्ट्रविरोधियों का क्लब हाउस है।”

बाद में संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पार्टी पर दिग्विजय सिंह के राष्ट्रविरोधी बयान पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा, “दिग्विजय सिंह पाकिस्तान की हां में हां मिला रहे हैं। वे कश्मीर को थाली में रखकर पाकिस्तान को सौंपना चाहते हैं।”

भाजपा आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने भी दिग्विजय सिंह पर हमला बोला। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ”क्लब हाउस चैट में राहुल गांधी के शीर्ष सहयोगी दिग्विजय सिंह एक पाकिस्तानी पत्रकार से कहते हैं कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो वे अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के फैसले पर पुनर्विचार करेंगे। वास्तव में? यही तो पाकिस्तान चाहता है।“

आम लोगों ने देशद्रोही सोच के लिए दिग्विजय की लगाई लताड़

 बीजेपी ही नहीं, आम लोगों की तरफ से भी इसी प्रकार की प्रतिक्रिया देखने को मिली। वरिष्ठ पत्रकार आदित्य राज कौल ने दिग्विजय सिंह के कश्मीरी पंडितों को सरकारी नौकरी में आरक्षण मिलने के दावे पर सवाल उठाते हुए अपने ट्वीट में लिखा, “कश्मीरी पंडितों को कभी भी कश्मीर या शेष भारत में सरकारी नौकरी में आरक्षण नहीं मिला।“

इसी प्रकार आलोक भट्ट ने ट्वीट किया, “जब राहुल गांधी के खास नेता एक पाकिस्तानी पत्रकार को यह बता सकते हैं कि सत्ता में आने पर वो कैसे धारा 370 को फिर से लागू करेंगे, तो वे पाकिस्तानी सेना के जरनलों के सामने क्या सौदेबाजी करते होंगे।”

दिग्विजय सिंह और कांग्रेस के खिलाफ अन्य लोगों की प्रतिक्रिया भी देखिए-

Leave a Reply