Home समाचार टीकाकरण अभियान को पटरी से उतारने मे लगी है विपक्षी सरकार! 9...

टीकाकरण अभियान को पटरी से उतारने मे लगी है विपक्षी सरकार! 9 राज्यों ने इस्तेमाल ही नहीं की वैक्सीन की पूरी खेप

618
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार देश में टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं, लेकिन कुछ राज्य सरकारें इस अभियान को पटरी से उतारने में लगी हुई हैं। आप को यह जानकर हैरानी होगी कि वैक्सीन पर हो-हल्ला मचाने वाली 9 राज्य की सरकारों ने केंद्र से मिली खेप का इस्तेमाल ही नहीं किया। इन कांग्रेसी और कांग्रेस समर्थित सरकारों ने सिर्फ कमी का रोना रोकर केंद्र सरकार को बदनाम करने की कोशिश की।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी हर व्यक्ति के लिए मुफ्त टीकाकरण की मांग कर रहे हैं, तो दूसरी ओर कांग्रेस शासित राज्यों से वैक्सीन की बर्बादी की लगातार खबरें आ रही हैं। बर्बादी के सबूत छुपाने के लिए वैक्सीन को जमीन में गाड़ा तक जा रहा है।

पंजाब में तो शिरोमणि अकाली दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार पर आरोप लगाया है कि अमरिंदर सिंह सरकार आम लोगों को लगाए जाने वाले टीके को निजी अस्पतालों को बेच रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार 400 रुपए में टीके लेकर उसे निजी अस्पतालों को 1060 रुपए में बेच रही है और निजी अस्पताल उसी टीके का 1560 रुपये वसूल रहे हैं। सुखबीर सिंह ने केंद्र से मुफ्त टीके की मांग करने वाले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बेटे राहुल गांधी पर भी सवाल उठाए।

अब हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी भी 1.65 करोड़ वैक्सीन की डोज उपलब्ध हैं। केंद्र सरकार के आंकड़ों के अनुसार, कम से कम नौ राज्यों ने जनवरी और मार्च के बीच उन्हें सप्लाई की गई कोरोना वैक्सीन की खुराक को पूरा इस्तेमाल ही नहीं किया।

हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार राजस्थान, पंजाब, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, झारखंड, केरल, महाराष्ट्र और दिल्ली ने उन्हें दी गई वैक्सीन का पूरा इस्तेमाल किया ही नहीं। राजस्थान को जनवरी से मार्च के बीच तीन माह में दी गई 1.06 करोड़ खुराक में से सिर्फ 0.57 करोड़ ही इस्तेमाल की गई। पंजाब ने 0.29 करोड़ खुराक में से लगभग 8.40 लाख ही इस्तेमाल की। छत्तीसगढ़ में 0.43 करोड़ खुराक में से 0.19 करोड़, तेलंगाना में 0.41 करोड़ में से केवल 0.13 करोड़, आंध्र प्रदेश में 0.66 करोड़ में से सिर्फ 0.26 करोड़ और झारखंड में 0.31 करोड़ में से केवल 0.16 करोड़ ही इस्तेमाल की गई।

सौजन्य हिंदुस्तान टाइम्स

इसके साथ ही केरल में 0.63 करोड़ वैक्सीन में से 0.34 करोड़ ही इस्तेमाल हुई। महाराष्ट्र ने 1.43 करोड़ खुराक में से केवल 0.62 करोड़ खुराक का ही इस्तेमाल किया जबकि दिल्ली ने 0.44 करोड़ में से 0.24 करोड़ को ही इस्तेमाल किया।

 

Leave a Reply