Home समाचार यूपी के लखीमपुर खीरी में लव जिहाद : झांसा देकर दो...

यूपी के लखीमपुर खीरी में लव जिहाद : झांसा देकर दो दलित बहनों से रेप, शादी का दबाव बनाने पर हत्या, शव को पेड़ से लटकाया, 24 घंटे में सभी आरोपी गिरफ्तार

443
SHARE

देश में लव जिहाद रूकने का नाम नहीं ले रहा है। सुनियोजित तरीके से इस घटना को अंजाम दिया जा रहा है। फिर उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में लव जिहाद का मामला सामने आया है। बुधवार (14 सितंबर, 2022) को दो नाबालिग दलित बहनों की लाश गन्ने के खेत में पेड़ से लटकती हुई मिली। दो सगी बहनों की लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। इस दोहरे हत्याकांड में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 24 घंटे के अंदर सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का पर्दाफाश कर दिया। पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ के बाद मीडिया को जो बातें बताईं, उससे यह लव जिहाद का मामला निकलकर सामने आया। 

मृतक लड़कियों की मां ने लगाया था अपहरण कर हत्या का आरोप 

दरअसल ये मामला लखीमपुर खीरी के निघासन कोतवाली का है। यहां तमोलिनपुरवा गांव के बाहर दो नाबालिग दलित बहनों की लाश गन्ने के खेत में मिली। मृतक लड़कियों की मां ने आरोप लगाया था कि तीन युवक बाइक से आए और उसकी बेटियों को खींच ले गए थे। उसने अगवा कर हत्या किए जाने का आरोप लगाया। दलित बहनों की मां के मुताबिक अगवा करने वालों ने विरोध करने पर उसको लात मार दी। जिससे वह गिर गई। करीब 45 मिनट बाद गांव से करीब पौन किमी दूर एक गन्ने के खेत में लगे खैर के एक छोटे पेड़ पर दुपट्टे के सहारे दोनों लड़कियां लटकी मिलीं। एक किशोरी के पैर भी जमीन पर लग रहे थे।

पुलिस ने की तेज कार्रवाई, सभी छह आरोपी गिरफ्तार

दोनों बहनों की पेड़ से लटकती लाश बरामद होने की सूचना मिलते ही यूपी पुलिस हरकत में आ गई। आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह को भी मौके पर भेजा गया। उन्होंने सड़क को जाम कर धरना दे रहे गांव वालों को समझा कर धरना खत्म कराया। यूपी पुलिस ने इस मामले में नाबालिग बहनों की मां की लिखित शिकायत के बाद FIR दर्ज की, जिसमें एक नामज़द और तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है, जिसमें पोक्सो एक्ट, रेप और हत्या जैसी गंभीर धाराएं लगाई गई। पुलिस ने तेजी से कार्रवाई करते हुए नामजद सहित सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों में छोटू, सुहेल, जुनैद, हफीजुल्लाह, करीमुद्दीन, आरिफ शामिल हैं। इनमें से एक आरोपी जुनैद को एनकाउंटर में गिरफ्तार किया गया, जिसके पैर में गोली लगी है।

शादी का दबाव बनाने पर जुनैद और सुहैल ने कर दी हत्या

इस दोहरे हत्याकांड में शामिल सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जानकारी दी। एसपी संजीव सुमन के मुताबिक मुख्य आरोपी छोटू लड़कियों के पास के ही रहने वाला है, उस पर नामजद एफआईआर कराया था। उसने तीन लड़कों को लड़कियों से परिचय कराया था। जिसके बाद उनकी दोस्ती हुई थी। आरोपी बुधवार को दोपहर के समय गांव में मोटरसाइकिल लेकर आए थे। एक आरोपी जुनैद ने दोनों लड़कियों को उनकी इच्छा से अपनी बाइक पर बैठाकर ले गया। ये सभी पहले से तय एक खेत में गए। इसके बाद लड़कियों के साथ शारीरिक संबंध बनाया गया। जब लड़कियों ने शादी की बात की तो जुनैद और सुहैल ने शादी से इनकार कर दिया। इस दौरान लड़कियां शादी का दबाव बनाने लगी तो उनके बीच विवाद बढ़ गया। सुहैल, जुनैद और हफीजुल्लाह ने दुपट्टे से गला दबाकर दोनों की हत्या कर दी। इसके बाद सबूत मिटाने और आत्महत्या का रूप देने के लिए दोनों बहनों के शव को पेड़ से लटका दिया।

सुहैल और जुनैद ने पूछताछ में क़बूली दुष्कर्म की बात 

एसपी ने बताया कि सुहैल और जुनैद ने पूछताछ में दुष्कर्म की बात स्वीकारी है। सुहैल और जुनैद ने सबूत मिटाने के लिए कलीमुद्दीन और आरिफ को भी मौके पर बुलाया था। सभी आरोपी आपस में दोस्त हैं और लालपुर के रहने वाले हैं। आरोपी दोनों बहनों को बहला-फुसलाकर खेत में ले गए थे। आरोपियों ने लड़कियों की मर्जी के खिलाफ संबंध बनाए। धारा 302, 306 और POCSO के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने स्पष्ट किया कि लड़कियों का अपहरण नहीं हुआ था। वीडियोग्राफर की मौजूदगी में पोस्टमार्टम किया गया। मेडिकल सूत्रों के मुताबिक, गला घोंटकर हत्या की पुष्टि हो गई है। दुष्कर्म की जांच के लिए स्लाइड बनाई जा रही है।

पीड़ित को इंसाफ और दोषियों को सजा दिलाने के लिए योगी सरकार गंभीर 

लखीमपुर खीरी की घटना को योगी सरकार ने काफी गंभीरता से लिया है। डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने दावा किया कि मामले पर सरकार संवेदनशील है। फास्टट्रैक के जरिए पूरी कार्रवाई होगी। यूपी में महिला सुरक्षा और अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति है! इस मामले में उच्च स्तरीय जांच की जा रही है। पीड़ित को न्याय और दोषियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने के लिए सरकार पूरी कोशिश करेगी। उन्होंने कहा कि वो खुद इस पूरे मामले की निगरानी कर रहे हैं। 

आरोपियों के नाम सामने आते ही लिबरल, सेक्युलर और दलित नेता मौन

इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर लोगोंं में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। लोगों ने इस घटना को लव जिहाद बताया है। उनका कहना है कि पहले सेक्युलर, लिबरल, दलित नेता और पत्रकार, जय भीम वाले, दलित-मुस्लिम एकता वाले सब शोर मचा रहे थे। जैसे ही आरोपियों के नाम सामने आए सभी मौन हो गए। अब प्रियंका वाड्रा,अखिलेश यादव को देखना सबके मुंह में दही जम जाएगा अपराधियों का नाम देख।

Leave a Reply