Home समाचार स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को लेकर घिरे अरविंंद केजरीवाल, दिल्ली हाईकोर्ट का...

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को लेकर घिरे अरविंंद केजरीवाल, दिल्ली हाईकोर्ट का सवाल- क्या आपराधिक बैकग्राउंड के किसी शख्स को मंत्री पद पर रहने की अनुमति दी जा सकती है?

436
SHARE

जब कोई सरकारी कर्मचारी भ्रष्टाचार में पकड़ा जाता है, तो उसे या तो निलंबित किया जाता है या पद से बर्खास्त कर दिया जाता है। लेकिन राजनीतिक सुचिता और भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात कर सत्ता में आई आम आदमी पार्टी सरकार भ्रष्टाचार के आरोपी मंत्री को पद पर बनाये रखी है। सत्ता की लालच में अपने ही राजनीतिक आदर्शों और मूल्यों को ताक पर रख दिया है। अब दिल्ली हाईकोर्ट ने स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी के बावजूद पद पर बने रहने के मामले में अरविंद केजरीवाल को नसीहत देते हुए उनके पाले में सवाल दागकर उन्हें मुश्किल में डाल दिया है।

हटाने का निर्देश नहीं दे सकते, लेकिन विचार करना चाहिए-कोर्ट

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन मनी लॉन्ड्रिंग केस में इस समय ईडी की गिरफ्त में हैं। दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई थी, जिसमें  सत्येंद्र जैन को मंत्रिमंडल से निलंबित करने की मांग की गई थी। बुधवार (27 जुलाई, 2022) को इस याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि  हम अरविंद केजरीवाल सरकार को जैन को हटाने का निर्देश नहीं दे सकते, हालांकि सरकार को उनको हटाने पर विचार करना चाहिए। याचिका को खारिज करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि यह मुख्यमंत्री को विचार करना है कि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्ति को मंत्री के रूप में बनाये रखना चाहिए या नहीं।

हाईकोर्ट की केजरीवाल को संवैधानिक सिद्धांतों की नसीहत

हाईकोर्ट ने अरविंद केजरीवाल सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि कोर्ट का यह कर्तव्य है कि वह इन प्रमुख कर्तव्य धारकों को संविधान के सिद्धांतों को बनाए रखने, संरक्षित करने और बढ़ावा देने के लिए उनकी भूमिका के बारे में याद दिलाए। ऐसी धारणा है कि मुख्यमंत्री को ऐसे संवैधानिक सिद्धांतों से अच्छी सलाह और मार्गदर्शन मिलेगा। कोर्ट ने कहा, ‘यह अदालत पूरी तरह से डॉ. बी. आर. आंबेडकर की टिप्पणियों से सहमत है और उम्मीद करती है कि मुख्यमंत्री लोगों का नेतृत्व करने के लिए व्यक्तियों की नियुक्ति करते समय लोकतंत्र की नींव रखने वाले विश्वास को कायम रखते हैं।’

क्या हाईकोर्ट की टिप्पणी के बाद जैन को बर्खास्त करेंगे केजरीवाल ?

दिल्ली हाईकोर्ट की टिप्पणी के बाद अब ये सवाल उठने लगे हैं कि क्या केजरीवाल कोर्ट के मार्गदर्शन का अनुसरण करते हुए सत्येंद्र जैन को पद से हटाएंगे ? आखिर केजरीवाल क्यों सत्येंद्र जैन को अब भी अपनी कैबिनेट में बनाए हुए हैं, वो भी तब जब अदालतें उन्हें जमानत तक नहीं दे रहीं हैं ? अपने भ्रष्ट मंत्री को ईमानदारी का सर्टिफिकेट बांटने वाले केजरीवाल क्या हाईकोर्ट की टिप्पणी का पालन कर अब सत्येंद्र जैन को बर्खास्त करेंगे?

‘आपराधिक पृष्ठभूमि’ की टिप्पणी से मुश्किल में केजरीवाल

दिल्ली हाईकोर्ट ने आपराधिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्ति को मंत्री बनाये रखने के मामले में टिप्पणी की है। अब सोशल मीडिया में सत्येंद्र जैन की पृष्टभूमि को लेकर भी सवाल उठाए जाने लगे हैं। लोगों का कहना है कि अब तो दिल्ली हाईकोर्ट ने भी बोल दिया है कि सत्येंद्र जैन जैसे क्रिमिनल को अब तक कैबिनेट से हटा देना चाहिए था। क्या अब दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल दिल्ली हाईकोर्ट की टिप्पणी के बाद अपने हवाला कारोबारी “आपराधिक पृष्ठभूमि” वाले स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को अपनी कैबिनेट से निष्कासित करेंगे ?

Leave a Reply