Home समाचार दिल्ली में कोरोना से हुई मौतों की संख्या छिपा रही है केजरीवाल...

दिल्ली में कोरोना से हुई मौतों की संख्या छिपा रही है केजरीवाल सरकार !

918
SHARE

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के एक और झूठ का पर्दाफाश हुआ है। मीडिया में छपी खबर के मुताबिक दिल्ली सरकार कोरोना से हुई मौतों के सही आंकड़ों को छिपा रही है। दिल्ली सरकार द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन में 2 मई तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 64 और फिर तीन, चार और पांच मई को एक भी मौत नहीं होने की बात कही गई। मेडिकल बुलेटिन में 6 मई को ये आांकड़ा 65 और फिर गई और 7 मई को 66 बताया गया है लेकिन हकीकत ये है कि दिल्ली में कोरोना से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। 

नेशनल हेराल्ड की खबर के मुताबिक एलएनजेपी अस्पताल के आंकड़ों के मुताबिक 4 मई को यहां 6, 5 मई को 6 और 5 मई को 5 लोगों की मौत हुई। 3 मई को एलएनजेपी में एक भी मौत की पुष्टि नहीं है। यह सभी मौतें अस्पताल के मेडिसिन वार्ड में हुई,जहां कोरोना के साथ अन्य बीमारियों से प्रभावित मरीज रखे गए हैं। 

चौंकाने वाली बात है कि दिल्ली सरकार के 6 मई के हेल्थ बुलेटिन में कहा गया कि एलएनजेपी अस्पताल में कोरोना से सिर्फ 5 लोगों की मौत हुई। यह जानकारी इस लिंक में देखी जा सकती है। एलएनजेपी अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ जे सी पासी ने नेशनल हेराल्ड से कहा कि मुझे नहीं पता कि सरकार का हेल्थ बुलेटिन क्या कहता है। हमारे अस्पताल में अब कोरोना से 47 लोगों की मौत हो चुकी है। मैं नही जानता कि आखिर वे इस संख्या को कम क्यों बता रहे हैं। आप सरकार से ही पूछिए।

खबर के मुताबिक इसी तरह राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में 3 और 4 मई को कोरोना के साथ दूसरी बीमारी से ग्रसित एक-एक मरीज की मौत हुई। इन दोनों मरीजों को हाईपरटेंशन और डायबिटीज़ भी था। इसी तरह 5 मई को एक मरीज को मृतावस्था में अस्पताल लाया गया था, जिसके टेस्ट कोरोना पॉजिटिव आए हैं। इसी तरह मैक्स अस्पताल में भी 20 ऐसे मरीजों की मौत अप्रैल-मई में हुई है जो कोरोना पॉजिटिव थे। हालांकि दिल्ली सरकार का दावा है कि मैक्स अस्पताल में कोरोना से सिर्फ 4 लोगों की मौत हुई है।

इस दौरान दिल्ली सरकार ने हर दिन होने वाले टेस्ट की लंबित रिपोर्टों के आंकड़े देना बंद कर दिया है। दिल्ली में कोरोना टेस्ट के लिए कुल 26 लैब अधिकृत हैं, इनमें से 13 सरकारी और 13 निजी क्षेत्र की हैं। 29 अप्रैल तक सरकार दोनों ही लैब में टेस्ट और लंबित नतीजों के आंकड़े सामने रख रही थी, लेकिन अब सरकार ने अब सिर्फ वह आंकड़े देना शुरु कर दिए हैं जो कोरोना के लिए चिह्नित अस्पतालों में भर्ती किए गए मरीजों के हैं।

गौरतलब है कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 5980 पहुंच गई है। गुरुवार को 448 नये मामले सामने आए हैं। इस बीमारी से दिल्ली में अब तक 66 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 1931 लोग ठीक हो चुके हैं।

Leave a Reply