Home समाचार महाराष्ट्र के सीएम पर कंगना का बड़ा हमला, कहा- बेटे आदित्य को...

महाराष्ट्र के सीएम पर कंगना का बड़ा हमला, कहा- बेटे आदित्य को बचाने में लगे हैं उद्धव ठाकरे

1097
SHARE

सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में सबसे ज्यादा मुखर अभिनेत्री कंगना रनौत ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर बड़ा हमला किया है। मुंबई स्थित दफ्तर तोड़े जाने से पहले कंगना सिर्फ मुंबई पुलिस और सरकार को निशाना बनाती थी, लेकिन अब वह सीधा शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पर वार करने लगी है। कंगना ने अब उद्धव ठाकरे की दुखती रग को छेड़ दिया है। कंगना रनौत ने इस लड़ाई में काफी आक्रामक रूप से उद्धव ठाकरे के बेटे को भी लपेट लिया है। कंगना ने कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत के हत्यारों, मूवी माफियाओं और उसके ड्रग रैकेट का पर्दाफाश किया है और इन लोगों के साथ सीएम के बेटे आदित्य ठाकरे पार्टी करते हैं। अपने ट्वीट में कंगना ने लिखा, ‘महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की असल समस्या यह है कि मैंने मूवी माफिया, सुशांत सिंह राजपूत के हत्यारों और ड्रग रैकेट का भंडाफोड़ किया है, जिनके साथ सीएम के प्यारे बेटे आदित्य ठाकरे पार्टी करते हैं। यही मेरा सबसे बड़ा अपराध है। इसलिए वे मुझे फिक्स करना चाहते हैं। देखते हैं कौन किसको फिक्स करता है।’

इतना ही नहीं कंगना ने राज्य की गठबंधन सरकार पर जोरदार निशाना साधते हुए कहा कि सत्ता में कुछ भी स्थायी नहीं है। एक अन्य ट्वीट में कंगना ने लिखा कि क्या आपको लगता है कि आप इस तरह से तानाशाही कर सकते हैं? यह आपके और आपकी पूरी सोनिया सेना के सत्ता से बाहर होने का समय भी हो सकता है। नहीं? क्या यह राजनीति में आम नहीं है, सत्ता गतिशील है और हर वक्त बदलती है। क्या आपको लगता है कि यह आपके पास स्थायी रूप से रहने वाली है?

बाला साहेब की विचारधारा को बेच शिव सेना से सोनिया सेना बना दिया
इसके पहले कंगना रनौत ने उद्धव ठाकरे पर तंज कसते हुए कहा था कि ‘जिस विचारधारा पे श्री बाला साहेब ठाकरे ने शिव सेना का निर्माण किया था आज वो सत्ता केलिए उसी विचारधारा को बेच कर शिव सेना से सोनिया सेना बन चुके हैं, जीन गुंडों ने मेरे पीछे से मेरा घर तोड़ा उनको सिविक बॉडी मत बोलो, संविधान का इतना बड़ा अपमान मत करो।’

एक अन्य ट्वीट में उद्धव ठाकरे की बखिया उधेड़ते हुए कंगना ने कहा कि तुम्हारे पिताजी के अच्छे कर्म तुम्हें दौलत तो दे सकते हैं मगर सम्मान तुम्हें खुद कमाना पड़ता है, मेरा मुंह बंद करोगे मगर मेरी आवाज़ मेरे बाद सौ फिर लाखों में गूंजेगी, कितने मुंह बंद करोगे? कितनी आवाज़ें दबाओगे? कब तक सच्चाई से भागोगे तुम कुछ नहीं हो सिरर्फ वंशवाद का एक नमूना हो।’

बीएमसी ने बुधवार, 09 सितम्बर 09 को कंगना रनौत के पाली हिल स्थित दफ्तर को तोड़ दिया। कंगना ने बीएमसी की इस कार्रवाई को लोकतंत्र की हत्या करार दिया।

Leave a Reply