Home समाचार छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों के साथ अमानवीयता, शव ले जाने के लिए...

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों के साथ अमानवीयता, शव ले जाने के लिए कचरे की गाड़ी का इस्तेमाल, सोशल मीडिया पर कांग्रेस सरकार की हुई किरकिरी

905
SHARE

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण से मरने वालों को अपमानजनक तरीके से अंतिम विदाई दी जा रही है। कोरोना के बढ़ते कहर से हालात इतने खाराब हो चुके है कि अपने भी शव के करीब आने से बच रहे हैं, वहीं अस्पताल प्रशासन भी अमानवीय तरीके से शवों का अंतिम संस्कार कर रहा है। कोरोना संक्रमित मरीजों के शवों को कूड़े वाली गाड़ी में रख कर दाह संस्कार के लिए श्मशान लाया जा रहा है।

राजनंदगांव से हैरान करने वाली तस्वीरें सामने आयी हैं, जिसमें देखा जा सकता है कि चार कर्मचारी पीपीई किट पहने हुए हैं और कोरोना से संक्रमित मरीज के शव को कूड़े की गाड़ी में से निकाल कर श्मशान घाट पर उतार रहे हैं।

जब इस पूरे मामले पर मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) से पूछा गया तो वे अपना पल्ला झाड़ते हुए नजर आए। उन्होंने कहा कि शव वाहन की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी नगर पंचायत और मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) की होती है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने कांग्रेस की बघेल सरकार पर हमला करते हुए कहा कि यह तस्वीर काफी शर्मनाक है। लोगों ने कहा कि ये तस्वीर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार में स्वास्थ्य सेवाओं की दुर्दशा की पोल खोल रही है। कोरोना से मरने वालों को एक एम्बुलेंस तक नसीब नहीं हो रहा। 

इससे पहले महाराष्ट्र में भी इसी तरह का मामला सामने आया था। वायरल वीडियो में देखा गया कि कोरोना वायरस से जान गंवाने वालों के शव को कचरे वाले बैग में पैक किया जा रहा था। वीडियो सामने आने पर उद्धव सरकार की लापरवाही पर गंभीर सवाल उठाए गए। बीजेपी नेता किरीट सोमय्या ने इस वीडियो को अपने ट्विटर पर शेयर किया। वीडियो उस समय की है जब ठाणे के साकेत ग्लोबल अस्पताल से सारे शव दाह संस्कार के लिए एंबुलेंस में डाले जा रहे थे।

Leave a Reply