Home समाचार मोदी सरकार के कार्यकाल में ऑलटाइम हाई पर देश का विदेशी मुद्रा...

मोदी सरकार के कार्यकाल में ऑलटाइम हाई पर देश का विदेशी मुद्रा भंडार

726
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोधी तथ्य को परे रखकर उनकी आलोचना करते हैं, क्योंकि तथ्य सदैव पीएम मोदी के पक्ष में होता है। पीएम मोदी के विरोधी उन पर देश की अर्थव्यवस्था को चौपट करने का आरोप लगाते हैं, जबकि सच्चाई यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुदृढ़ अर्थनीति की वजह से उनके कार्यकाल में देश का विदेशी मुद्रा भंडार ऑलटाइम हाई रहा है। 14 मई को समाप्त सप्ताह में 56.3 करोड़ डॉलर बढ़कर देश का विदेशी मुद्रा भंड़ार 590.028 अरब डॉलर पर पहुंच गया। यह आंकड़ा ऑलटाईम हाई के करीब है। इससे पहले 7 मई को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 1.444 अरब डॉलर बढ़कर 589.465 अरब डॉलर पर पहुंचा था। इससे पहले 29 जनवरी 2021 को देश का विदेशी मुद्रा भंडार 590.185 अरब डॉलर की ऑलटाईम हाई पर पहुंच गया था। यह सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में हुआ है और उनकी सबल अर्थ नीति की वजह से हो पाया है। देश का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ने का मुख्य कारण विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति में बढ़ोतरी है। इतना ही नहीं मोदी के सबल नेतृत्व की वजह से अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष यानि आईएमएफ के पास देश का आरक्षित भंडार भी बढ़ा है।

सुदृढ़ होता विदेशी मुद्रा भंडार

5 जून, 2020 को पहली बार 500 अरब डॉलर का आंकड़ा पार किया था

8 सितंबर, 2017 को पहली बार 400 अरब डॉलर का आंकड़ा पार किया था

यूपीए शासन के दौरान 2014 में 311 अरब डॉलर के आंकड़े के करीब था

देश की सुदृढ़ अर्थव्यवस्था की झलक

भारतीय मुद्रा कोष     आरक्षित भंडार          बढ़ोतरी

एफसीए भंडार       546.87 अरब डॉलर      37.7 करोड़ डॉलर

स्वर्ण भंडार          36.654 अरब डॉलर       17.4 करोड़ डॉलर

आईएमएफ भंडार   4.999 अरब डॉलर         1 करोड़ डॉलर

Leave a Reply