Home समाचार कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 31...

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक सभी यात्री ट्रेनें रद्द

759
SHARE

देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के 80 से ज्यादा नए मामले सामने आने के साथ यह संख्या बढ़कर 344 हो गई है। पटना में एक 38 वर्षीय युवक की मौत हो गई। इससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है। संक्रमण और मौतों की संख्या में बढ़तोरी से सरकार भी सकते में आ गई है और युद्ध स्तर पर वायरस से निपटने के लिए निर्देश जारी किए है। प्रधानमंत्री मोदी ने आज यानि 22 मार्च को पूरे देश में जनता कर्फ्यू की अपील की थी, जिसे व्यापक समर्थन मिल रहा है। इसी बीच सरकार ने 31 मार्च तक सभी यात्री ट्रेनों को रद्द करने का फैसला किया है। इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है,जब रेलवे ने कई दिनों के लिए ट्रेनें रद्द कर दी हैं।

रेलवे मंत्रालय के मुताबिक सभी लंबी दूरी की ट्रेनें, एक्सप्रेस और इंटरसिटी ट्रेनें का परिचालन 31 मार्च की रात 12 बजे तक बंद रहेगा। इसमें प्रीमियम ट्रेनें भी शामिल हैं। रेलवे बोर्ड की बैठक में यह अहम फैसला लिया गया।

रेलवे के कार्यकारी निदेशक की ओर से जारी सूचना में बताया गया है कि कोलकाता मेट्रो, कोंकण रेलवे, उपनगरीय ट्रेनें नहीं चलेंगीं, लेकिन आज रात 12 बजे तक उपनगरीय ट्रेनें, कोलकाता मेट्रो की सेवाएं जारी रहेगीं। आज रात के बाद इन्हें भी 31 मार्च तक के लिए रद्द कर दिया जाएगा। वैसी ट्रेनें जो 22 तारीख से चार घंटे पहले चलनी शुरू हुई थीं, वो अपने गंतव्य स्थान तक जाएंगी।

टिकट कैंसिल के नियमों में ढील
रेलवे ने यात्री को राहत देते हुए कहा है कि टिकट कैंसिल करवाने पर कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा। यात्रियों को टिकट पूरा पैसा वापस किया जाएगा। रेलवे ने कहा है कि यात्रियों को आसानी से पैसा वापस मिल सके इसके लिए बेहतर इंतजाम किया जाएगा।
रेलवे ने उन यात्रियों का किराया लौटाने के नियमों में ढील दी जिन्होंने 21 मार्च से 21 जून के बीच यात्रा करने के लिए टिकट बुक कराई थी।  21 मार्च से 21 जून के बीच रेलगाड़ी रद्द की जाती है तो यात्रा की तारीख से तीन महीने के अंदर टिकट काउंटर पर टिकट दिखाकर किराया वापस लिया जा सकता है। वर्तमान में यह समय सीमा तीन दिन या 72 घंटे की है। जरूरी वस्तुओं की सप्लाई जारी रखने के लिए मालगाड़ियां चलती रहेंगी।
दिल्ली मेट्रो का परिचालन 31 मार्च तक के लिए बंद
उधर कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन (डीएमआरसी) ने रविवार को बड़ा फैसला लिया। दिल्ली मेट्रो की सेवाओं को 31 मार्च तक के लिए स्थगित किया गया है। इससे पहले देश के 75 जिलों में 31 मार्च तक लॉकडाउनन का फैसला लिया गया है। कैबिनेट सचिव ने आज राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ कोरोना वायरस की​ स्थिति की समीक्षा की। जिन 75 जिलों में कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि हुई है उनमें सिर्फ जरूरी सेवाओं की अनुमति जी जाएगी। 31 मार्च तक के लिए अंतर-राज्य बस सेवाएं भी निलंबित कर दी गई हैं।
जनता कर्फ्यू को व्यापक समर्थन
कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर रविवार सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू लगाया गया है। सभी राज्य सरकारों ने कर्फ्यू का पालन और समर्थन करने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री मोदी की अपील का व्यापक असर दिखाई दे रहा है। जहां दुकानें बंद हैं, वहीं सड़कें भी विरान पड़ी हुई हैं। लोगों ने अपने घरों में रहकर जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए पूरा समर्थन दिया है।  

Leave a Reply