Home समाचार MSP पर गेहूं खरीद में टूटे पिछले सभी रिकॉर्ड, मोदी सरकार ने...

MSP पर गेहूं खरीद में टूटे पिछले सभी रिकॉर्ड, मोदी सरकार ने 49.16 लाख किसानों के खाते में भेजे 84,369 करोड़ रुपये

464
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसानों की आय दोगुनी करने, उनकी फसल का उचित मूल्य दिलाने, खेती को फायदे का सौदा बनाने और किसान के घर में खुशहाली लाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। इसी का नतीजा है कि जहां खरीफ फसल की एमएसपी में 50 प्रतिशत से अधिक की बढ़ोतरी की, वहीं गेहूं खरीद में पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। चालू 2021-22 रबी विपणन सत्र में अब तक 433.24 लाख टन गेहूं खरीदा गया है। गेहूं खरीद में पिछला रिकॉर्ड 389.93 लाख टन का था जो खरीद वर्ष 2020-21 सत्र (अप्रैल-मार्च) में बना था। पिछले साल के 43.35 लाख के मुकाबले इस साल रिकॉर्ड 49.16 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं। मोदी सरकार ने एक राष्ट्र, एक न्यूनतम समर्थन मूल्य, एक प्रत्यक्ष लाभ अंतरण योजना पूरे देश में लागू की है। इसके तहत पूरे भारत में 84,369.19 करोड़ रुपये की अब तक की सबसे बड़ी राशि सीधे किसानों के खातों में स्थानांतरित की गई।

गौरतलब है कि धान खरीद के मामले में भी सरकार ने खरीफ विपणन सत्र 2020-21 (अक्टूबर-सितंबर) में चार जुलाई तक रिकॉर्ड 862.01 लाख टन की खरीद की। इसके माध्यम से मोदी सरकार ने एमएसपी खत्म करने की अफवाह फैलाकर गुमराह करने वाले फर्जी किसानों और सियासी दलों को करारा जवाब दिया है। साथ ही कृषि कानून के विरोध में चल रहे तथाकथित आंदोलन की हवा निकाल दी है। प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार ने एमएसपी पर रिकॉर्ड गेहूं और धान खरीद कर जता दिया है कि वो एमएसपी को जारी रखने और गरीब किसानों को उनका पूरा हक दिलाने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

    किसानों के लिए समर्पित मोदी सरकार    

    गेहूं की रिकॉर्ड खरीद से किसानों को लाभ
       वर्ष       किसान लाभान्वित
   2017-18      35.87 लाख
   2018-19      40.33 लाख
   2019-20      35.57 लाख
   2020-21      43.35 लाख
   2021-22      49.16 लाख

मोदी सरकार ने की धान की रिकॉर्ड खरीद

127.15 लाख किसान लाभान्वित

खरीफ विपणन सत्र 2020-21 में 04 जुलाई, 2021 तक 862.01 एलएमटी धान की रिकॉर्ड मात्रा में खरीदी गई, जो पिछले साल की कुल खरीद 770.93 एलएमटी धान से अधिक है। पिछले वर्ष 124.59 लाख किसानों के मुकाबले इस वर्ष में अब तक 127.15 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं। एमएसपी के 1,52,169.30 करोड़ रुपये सीधे किसानों के खाते में भेजे गए हैं।

Leave a Reply