Home समाचार सी-वोटर के सर्वे में 61 प्रतिशत लोगों ने माना, पीएम मोदी को...

सी-वोटर के सर्वे में 61 प्रतिशत लोगों ने माना, पीएम मोदी को अपशब्द बोलकर गुजरात में चुनाव जीतना संभव नहीं

300
SHARE

गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए अभी तारीख का ऐलान नहीं किया गया है, लेकिन सियासी आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका है। गुजरात के सियासी रण में उतरी आम आदमी पार्टी के नेताओं ने बदजुबानी में सबको पीछे छोड़ दिया है। प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया ने तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधने में सरी हदें पर कर दीं। ऐसे में एबीपी न्यूज़ के लिए सी-वोटर ने गुजरात और हिमाचल दोनों राज्यों का साप्ताहिक चुनावी सर्वे किया है। सर्वे में सवाल किया गया कि क्या  प्रधानमंत्री मोदी को अपशब्द बोलकर गुजरात में चुनाव जीतना संभव है? इस सवाल के जनता ने चौंकाने वाले जवाब दिए हैं।

सी-वोटर के सर्वे में 61 प्रतिशत लोगों का मानना है कि प्रधानमंत्री मोदी को अपशब्द बोलकर गुजरात में चुनाव जीतना संभव नहीं है, जबकि 39 प्रतिशत लोगों ने कहा कि हां, प्रधानमंत्री मोदी को अपशब्द बोलकर गुजरात में चुनाव जीतना संभव है। सर्वे में गुजरात के 1425 और हिमाचल प्रदेश के 1,361 लोगों की राय ली गई। सर्वे में मार्जिन ऑफ एरर प्लस माइनस 3 से प्लस माइनस 5 प्रतिशत है।

इससे पहले 12 से 14 अक्टूबर,2022 के बीच C-Voter ने गुजरात चुनाव को लेकर एक और सर्वे किया था। इसमें प्रधानमंत्री मोदी के लिए आम आदमी पार्टी नेता गोपाल इटालिया द्वारा कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी किए जाने के बाद पार्टी को कितना नुकसान हो सकता है, इस पर लोगों की राय ली गई थी। इस सर्वे में गुजरात के 1 हजार 337 लोगों से राय ली गई थी। इस सवाल के जवाब में 58 प्रतिशत लोगों ने अपने जवाब में कहा- ‘हां, AAP ने प्रधानमंत्री के लिए अपशब्द का इस्तेमाल करके सेल्फ गोल किया है’। वहीं इस सवाल पर 42 प्रतिशत लोगों का मानना था कि इससे आम आदमी पार्टी ने कोई सेल्फ गोल नहीं किया है।

आम आदमी पार्टी इस बार बीजेपी के गढ़ में सेंध मारने के पूरे-पूरे चक्कर में है। जहां, अरविंद केजरीवाल स्वयं को योगी राज श्री कृष्णजी के रूप में दर्शा रहे हैं, वहीं वो बीजेपी को वह ‘कंस’ का रूप देने को तत्पर हैं। साथ ही साथ, जिस प्रकार से गोपाल इटालिया ने कुंठित शब्द, ‘नीच’ का प्रयोग और इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी की मां का अपमान किया, उससे गुजराती जनता में काफी रोष है। लोगों का कहना है कि इसके लिए आप नेता गोपाल इटालिया को जनता माफ नहीं करेगी।

गौरतलब है कि गुजरात चुनाव में जब विरोधी दलों की दाल नहीं गल रही है तो वे अब गाली देने के स्तर तक नीचे गिर गए हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के करीबी और गुजरात AAP के अध्यक्ष गोपाल इटालिया उस वीडियो पर बुरी तरह घिर गए हैं, जिसमें वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘नीच किस्म का आदमी’ बताते हुए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था। वीडियो वायरल होने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इसे पीएम मोदी के लिए जातिसूचक गाली करार दिया। इससे गुजरात एवं देश की जनता खासी नाराज हो गई। इसके बाद गोपाल इटालिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। हालांकि इसमें उन्होंने पीएम मोदी से माफी नहीं मांगी और जाति से लेकर गांव के होने तक की अजब दलीलें दीं। 

पीएम मोदी एक नीच शख्स: गुजरात आप प्रमुख

इस वीडियो में गोपाल इटालिया को कहते हुए सुना जा सकता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘नीच’ व्यक्ति हैं। मैं पुष्टि नहीं कर सकता लेकिन मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि क्या देश का कोई पूर्व प्रधान मंत्री है जिसने वोट डालने के लिए इतनी नौटंकी की है? यह ‘नीच’ किस्म का शख्स यहां रोड शो कर रहा है। और वह दिखा रहा है कि मैं इस देश को कैसे C… बना रहा हूं। आप मेरे कहने का अर्थ को बेहतर ढंग से समझते हैं। वह डिजिटल इंडिया के बारे में बात करते हैं और वोट डालने के लिए दिल्ली से गुजरात जाते हैं। इस तरह वह देश को AAP के C… बना रहे हैं। तो, यह ‘नीच’ प्रकार का व्यक्ति देश को यह संदेश दे रहा है कि वह इस देश को कैसे C… बना रहा है।

प्रधानमंत्री के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग AAP की मानसिकता को दर्शाता हैः भाजपा

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने आम आदमी पार्टी के गुजरात प्रदेश अध्यक्ष पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार की भाषा का प्रयोग आम आदमी पार्टी ने माननीय प्रधानमंत्री जी के लिए किया है, इससे स्पष्ट हो जाता है कि आम आदमी पार्टी किस प्रकार की पार्टी है। किस प्रकार की इनकी मंशा है, उसे उजागर करता है। गोपाल इटालिया, जो आप के गुजरात के अध्यक्ष हैं, एक वीडियो में कई बार प्रधानमंत्री के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करते हैं, यह आम आदमी पार्टी की मानसिकता को दर्शाता है। भाजपा नेता संबित पात्रा ने कहा कि आज ये कहना गलत नहीं होगा कि मणिशंकर अय्यर और अरविंद केजरीवाल में कोई अंतर नहीं है। दोनों की भाषा का स्तर, दोनों की राजनीति करने का तरीका एक जैसा ही है। मणिशंकर अय्यर की भाषा का नतीजा ये रहा कि कांग्रेस पूरी तरह से गुजरात में समाप्त हो गई। पूरे देश में कांग्रेस का चुनाव में जो हाल हुआ है, उसे सबने देखा है। आज ठीक उसी प्रकार की भाषा का प्रयोग अरविंद केजरीवाल कर रहे हैं।

2017 में मणिशंकर अय्यर ने भी कहा था नीच

यह पहली बार नहीं है जब किसी विपक्षी नेता ने पीएम नरेंद्र मोदी के लिए ‘नीच’ का इस्तेमाल किया है। 2017 में कांग्रेस के दिग्गज नेता मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को नीच आदमी कहा था। जिसे उन्होंने 2019 के चुनावों से पहले भी दोहरया था। उस वक्त भारत की जनता ने पीएम मोदी को ऐतिहासिक फैसला सुनाकर अय्यर को करारा जवाब दिया था। अब नरेंद्र मोदी के खिलाफ गोपाल इटालिया की इस ‘नीच’ टिप्पणी पर गुजरात के लोग माकूल जवाब देंगे।

पीएम मोदी को गाली देना हर गुजराती का अपमानः अमित मालवीय

भारतीय जनता पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने इस वीडियो के लिए आप नेता गोपाल इटालिया की आलोचना की। उन्होंने ट्वीट किया कि केजरीवाल के करीबी गोपाल इटालिया और आप गुजरात के अध्यक्ष, इस स्तर तक नीचे गिर जाते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी को ‘नीच’ कह डालते हैं। इस तरह के अपशब्दों का इस्तेमाल करना और गुजरात के गौरव और धरती के बेटे को गाली देना हर उस गुजराती का अपमान है, जिसने उन्हें और भाजपा को 27 साल तक वोट दिया है।

यह कोई पहली बार नहीं है जब केजरीवाल के करीबी नेता ने पीएम मोदी को गाली दी हो। इससे पहले भी केजरीवाल उनके नेता पीएम मोदी के खिलाफ जहर उगलते रहे हैं।

केजरीवाल ने किया PM पर हमला, कहा- मेरे सिर्फ शब्द खराब, इनके तो करम खराब

न्यूज18 की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के आवास पर छापे मारने पर 2015 में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि राजेंद्र तो बहाना है केजरीवाल उनका निशाना है। उन्होंने कहा कि मेरे तो सिर्फ शब्द खराब थे, लेकिन इनके तो कर्म ही खराब हैं।

मोदी देशद्रोही हैः केजरीवाल

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि मोदी देशद्रोही है, मोदी ने आतंकवादियों के साथ सेटिंग कर रखी है। यही नहीं, केजरीवाल ने पीएम मोदी को कायर, मनोरोगी, पाकिस्तान से हाथ मिलाने जैसे आक्रामक और उत्तेजक शब्दों का प्रयोग कर भड़काऊ बयानबाजी से नफरत फैलाने और समाज में शांति भंग करने की कोशिश की है।

मोदी एक बेशर्म तानाशाहः केजरीवाल

न्यूज18 की रिपोर्ट के अनुसार, केजरीवाल ने 2017 में आयकर विभाग द्वारा आम आदमी पार्टी (आप) का रजिस्ट्रेशन रद्द करने के लिए कहे जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बेशर्म तानाशाह करार दिया। आयकर विभाग ने पार्टी को मिलने वाले चंदे के बारे में झूठी और गलत ऑडिट रिपोर्ट दाखिल करने की वजह से निर्वाचन आयोग से आप का राजनीतिक दल के रूप में रजिस्ट्रेशन रद्द करने को कहा है।

संजय सिंह कहा-PM मोदी के कारण भारत को दुनिया में होना पड़ा शर्मिंदा

पंजाब केसरी की रिपोर्ट के अनुसार, केजरीवाल के करीबी और आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि भाजपा की नफरत की राजनीति के कारण भारत का सिर शर्म से झुक गया है। संजय सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की अंतर्राष्ट्रीय बेइज्जती कराई है। भाजपा के कामों और नफरत की राजनीति के कारण भारत का सिर शर्म से झुक गया है। आजादी के 75 वर्षों में आज तक किसी प्रधानमंत्री ने भारत को इतना अपमानित नहीं किया और भारत का सिर इस तरीके से दुनिया के सामने नहीं झुकाया जितना मोदी ने झुकाने का काम किया है।

कोरोना बैठक में केजरीवाल ने तोड़ा प्रोटोकॉल, हाथ जोड़ बोले केजरीवाल – सर, माफी चाहता हूं

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना संकट को लेकर प्रधानमंत्री और राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बीच हुई बैठक में पीएम के साथ हुई बातचीत के दौरान प्रोटोकॉल तोड़ते हुए केजरीवाल ने संवाद का हिस्सा प्रसारित कर दिया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने केजरीवाल को रोकते हुए उनसे कहा कि ये प्रसारण करना हमारी परंपरा और प्रोटोकॉल के खिलाफ है। जिसके बाद केजरीवाल ने हाथ जोड़कर कहा कि मैं इस बात का ध्यान रखूंगा।

केजरीवाल ने कहा – पीएम मोदी की डिग्री सार्वजनिक की जाए

एनडीटीवी के अनुसार, दिल्ली ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) को लिखी चिट्ठी के जरिये प्रधानमंत्री की शैक्षणिक योग्यता पर सवाल उठाए थे और आयोग से पीएम की शिक्षा से जुड़ी जानकारी सावर्जनिक करने की मांग की थी। चिट्ठी में सीएम केजरीवाल ने लिखा, मुझे पता चला है कि आपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की डिग्री से जुड़ी जानकारी सार्वजनिक करने पर रोक लगा दी है। आरोप लग रहे हैं कि नरेंद्र मोदी जी के पास कोई डिग्री नहीं है। ऐसे में पूरे देश की जनता सच्चाई जानना चाहती है। फिर भी आपने उनकी डिग्री से संबंधित जानकारी सार्वजनिक करने से मना कर दिया।

केजरीवाल बोले- ‘PM पढ़ा लिखा होना चाहिए, हम मनमोहन को मिस करते हैं’

एबीपी की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक ने कहा कि प्रधानमंत्री को तो पढ़ा लिखा ही होना चाहिए। अरविंद केजरीवाल ने डॉलर के मुकाबले रुपये के गिरते भाव से जुड़े एक लेख को साझा करते हुए लिखा, ”लोग डॉ. मनमोहन सिंह जैसे शिक्षित प्रधानमंत्री को मिस कर रहे हैं। पीएम तो पढ़ा लिखा ही होना चाहिए।”

मोदी को ‘कायर और मनोरोगी’ कहने का मलाल नहीं: केजरीवाल

नवभारतटाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वर्ष 2015 में कहा था कि उन्हें प्रधानमनंत्री नरेंद्र मोदी को ‘कायर और मनोरोगी’ कहने का कोई मलाल नहीं है। गौरतलब है कि इस महीने की 15 तारीख को केजरीवाल ने अपने प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के ऑफिस में सीबीआई छापे के बाद मोदी के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर इन शब्दों का इस्तेमाल किया था।

नोटबंदी में केजरीवाल ने पीएम मोदी की मां को लेकर उठाया सवाल

वनइंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, सीएम केजरीवाल ने अपने ट्वीट में मोदी पर अपनी 96 वर्षीय मां को नोट बदलने के लिए लाइन में लगाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक कारणों से ऐसा करना सही नहीं है। केजरीवाल ने कहा- मोदीजी ने राजनीति के लिए मां को लाइन में लगा ठीक नहीं किया। कभी लाइन में लगना हो तो मैं ख़ुद लाइन में लगूंगा, मां को लाइन में नहीं लगाउंगा।

 

Leave a Reply