Home समाचार 40 दिन में 4 बार मुख्यमंत्रियों से संवाद करने वाले पहले प्रधानमंत्री...

40 दिन में 4 बार मुख्यमंत्रियों से संवाद करने वाले पहले प्रधानमंत्री बने नरेन्द्र मोदी, पेश की सहकारी संघवाद की मिसाल

781
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आज पूरा देश कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इस लड़ाई में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने मूल मंत्र ‘सबका साथ, सबका विकास’ को हथियार बनाया है। प्रधानमंत्री मोदी जहां कोरोना के खिलाफ मैदान में डटे योद्धाओं को सम्मान के साथ हर सुविधाएं मुहैया करा रहे हैं, वहीं सहकारी संघवाद का बेतरीन मिसाल पेश करते हुए राज्यों को भी पूरा सहयोग कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले चालीस दिनों में चार बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्रियों से सीधा संवाद किया और कोरोना से निपटने के लिए करीब 14 घंटे तक उनसे चर्चा की। ऐसा करने वाले प्रधानमंत्री मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। 

अब आइए आपको बताते हैं पिछले चालीस दिनों में कब-कब प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्यों के मुख्यमंत्रियों से सीधा संवाद किया।

20 मार्च, 2020 : पहली बार संवाद

प्रधानमंत्री मोदी ने पहली बार 20 मार्च को एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से देश के सभी मुख्यमंत्रियों से बात की, जिसमें उन्होंने साथ मिलकर इस चुनौती से निपटने का आह्वान किया था। प्रधानमंत्री ने इस वायरस के प्रसार को लेकर निरंतर सतर्कता और निगरानी बनाए रखने की अपील की और कहा कि इस महामारी से निपटने के लिए केंद्र और राज्यों को साथ मिलकर काम करना होगा।

 2 अप्रैल, 2020 : दूसरी बार संवाद

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना वायरस से निपटने के उपायों पर चर्चा करने के लिए 2 अप्रैल को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद किया। इस वीडियो संवाद में प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बीमारी को फैलने से रोकने के उपायों पर चर्चा की। उन्होंने मुख्यमंत्रियों से कहा कि अगले कुछ हफ्तों में सभी का ध्यान कोरोना वायरस से जुड़ी जांचों, संक्रमितों का पता लगाने, उन्हें अलग-थलग रखने पर केंद्रित रहना चाहिए। प्रधानमंत्री मोदी ने लॉकडाउन के निर्णय का समर्थन करने के लिए राज्यों का धन्यवाद किया, जिसकी बदौलत भारत ने कोविड-19 के फैलाव को सीमित करने में कुछ हद तक सफलता हासिल की है। उन्‍होंने सराहना करते हुए कहा कि कैसे सभी राज्यों ने वायरस को फैलने से रोकने के लिए एक टीम के रूप में एक साथ मिलकर काम किया है।

11 अप्रैल, 2020 : तीसरी बार संवाद

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 11 अप्रैल, 2020 को तीसरी बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा की। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र और राज्यों के संयुक्त प्रयासों से कोविड-19 के प्रभाव को कम करने में निश्चित रूप से मदद मिली है, लेकिन चूंकि स्थिति तेजी से बदल रही है, इसलिए निरंतर सतर्कता सबसे जरूरी है। प्रधानमंत्री मोदी ने जोर देकर कहा कि वायरस को फैलने से रोकने के लिए अब तक उठाए गए कदमों के प्रभाव का पता लगाने के लिए अगले 3-4 सप्ताह काफी महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने यह भी कहा कि इस चुनौती का सामना करने के लिए टीम वर्क अत्‍यंत आवश्‍यक है।

27 अप्रैल, 2020 : चौथी बार संवाद

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने 27 अप्रैल को कोरोना संकट पर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा की। मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री मोदी की यह चौथी चर्चा थी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं, क्योंकि देश पिछले डेढ़ महीनों में हजारों लोगों की जान बचाने में कामयाब रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों से यह भी आग्रह किया कि वे आगे की रणनीति तैयार करते समय मौसम में बदलाव यथा गर्मी एवं मानसून के आगमन और इस मौसम में आने वाली बीमारियों को अवश्‍य ही ध्‍यान में रखें। इस दौरान मुख्यमंत्रियों ने संकट की इस अवधि में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व की प्रशंसा की।

 

 

Leave a Reply