Home समाचार केजरीवाल सरकार ने अखबारों में विज्ञापन देकर सिक्किम को बताया अलग देश,...

केजरीवाल सरकार ने अखबारों में विज्ञापन देकर सिक्किम को बताया अलग देश, मुख्य सचिव ने जताई आपत्ति

923
SHARE

जम्मू-कश्मीर की तरह सिक्किम भी भारत का अभिन्न हिस्सा है और इस बात को देश का बच्चा बच्चा जानता है लेकिन दूसरों की डिग्री पर सवाल उठाने वाले और खुद को पढ़ा-लिखा और पूर्व IRS अधिकारी अरविंद केजरीवाल को यह पता नहीं है कि सिक्किम भारत का अभिन्न हिस्सा है।

दरअसल, आज के विभिन्न अखबरों में केजरीवाल सरकार द्वारा सिविल डिफेंस कोर में स्वयंसेवक के तौर पर भर्ती के लिए विज्ञापन दिया गया है। इसमें पात्रता के तौर लिखा गया है कि भारत का नागरिक हो या भूटान, नेपाल या सिक्किम की प्रजा हो तथा दिल्ली का निवासी हो। इसका साफ मतलब ये है कि दिल्ली सरकार भूटान और नेपाल की तरह सिक्किम को भी देश का हिस्सा नहीं बल्कि अलग देश मानती है। इस विज्ञापन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की फोटो भी छपी है।

दिल्ली सरकार के विज्ञापन पर सिक्किम के मुख्य सचिव ने दिल्ली के मुख्य एस सी गुप्ता ने दिल्ली के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर आपत्ति जताई है।  मुख्य सचिव ने लिखा कि राज्य के लोगों को अपने भारतीय होने पर गर्व है और विज्ञापन को तुरंत वापस लिया जाए। इस विज्ञापन में सिक्किम को नेपाल और भूटान की तरह अलग देश बताया गया है।

उधर, दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी दिल्ली सरकार के इस विज्ञापन की तीखी निंदा की है। 

गौरतलब है कि साल 1975 में सिक्किम भारत का अंग बना था। उत्तराखंड, झारखंड और छत्तीसगढ़ के गठन से पहले ही सिक्किम को भारत में राज्य के तौर शामिल हो चुका है। 

Leave a Reply