Home समाचार कोरोना के नए मामले दो लाख से कम, दैनिक पॉजिटिविटी रेट गिरकर...

कोरोना के नए मामले दो लाख से कम, दैनिक पॉजिटिविटी रेट गिरकर 9.54 प्रतिशत हुआ

726
SHARE

कोरोना के खिलाफ जंग में एक अच्छी खबर है। देश में दर्ज किए जा रहे कोरोना के दैनिक नए मामले 40 दिनों के बाद दो लाख से कम हो गए हैं। इससे पहले 14 अप्रैल, 2021 को 1,84,372 मामले दर्ज किए गए थे। पिछले 24 घंटे में 1,96,427 नए मामले सामने आए है।

देश में कोविड-19 के सक्रिय मामलों की संख्या गिरकर अब 25,86,782 हो गयी। 10 मई, 2021 को चरम पर पहुंचने के बाद से सक्रिय मामलों की संख्या में कमी आई है। पिछले 24 घंटे में सक्रिय मामलों की संख्या में 1,33,934 की कमी आई है। यह देश के कुल कोविड पॉजिटिव मामलों का 9.60 प्रतिशत है।

इसके साथ ही देश में बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की दैनिक संख्या कोरोना के दैनिक नए मामलों से लगातार 12वें दिन ज्यादा हैं। पिछले 24 घंटे में बीमारी से 3,26,850 लोग स्वस्थ हुए हैं। देश में अब तक कुल 2,40,54,861 लोग इस बीमारी से स्वस्थ हुए हैं। बीमारी से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर भी बेहतर होकर 89.26 प्रतिशत हो गयी है।

देश में पिछले 24 घंटे में कुल 20,58,112 जांच हुई जिसके साथ अब तक हुए जांच की कुल संख्या 33,25,94,176 है। दैनिक पॉजिटिविटी रेट घटकर 9.54 प्रतिशत हो गया है।

25 मई को सुबह सात बजे तक कोविड-19 के टीके की कुल 19,85,38,999 खुराक दी जा चुकी हैं। देश में पिछले 24 घंटे में 18-44 साल के आयु समूह के लोगों को कोविड-19 टीके की 12.82 लाख खुराक दी गईं।

केंद्र सरकार ने अब तक राज्यों को कोविड टीके की 21.89 करोड़ से अधिक 21,89,69,250 खुराक निशुल्क प्रदान की है। राज्यों के पास अब भी टीके की 1.77 करोड़ से ज्यादा (खुराक उपलब्ध हैं जिन्हें दिया जाना बाकी है। इसके अलावा सात लाख खुराक अगले तीन दिनों के भीतर राज्यों को दे दी जाएंगी।

केंद्र सरकार को 27 अप्रैल, 2021 से विभिन्न देशों से कोविड-19 राहत चिकित्सा आपूर्तियों और उपकरणों का अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मिल रहा है। इन्हें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को तत्काल भेजा जा रहा है। 27 अप्रैल से 24 मई, 2021 तक कुल मिलाकर 17,755 ऑक्सीजन कंसट्रेटर, 16,301 ऑक्सीजन सिलेंडर, 19 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र, 13,449 वेंटिलेटर, 6.9 लाख रेमडेसिविर शीशियों, 12 लाख फेविपिराविर टैबलेट को राज्यों को भेजा गया है।

Leave a Reply