Home समाचार धनबल से बिहार चुनाव जीतना चाहती है कांग्रेस, आयकर विभाग की छापेमारी...

धनबल से बिहार चुनाव जीतना चाहती है कांग्रेस, आयकर विभाग की छापेमारी में गाड़ी से 8.5 लाख रुपये बरामद

381
SHARE

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अब तक हुए तमाम ओपिनियन पोल से पता चलता है कि बिहार में एनडीए गठबंधन की सत्ता में वापसी हो रही है। इससे कांग्रेस और आरजेडी का महागठबंधन हताश हो चुका है। इसलिए कांग्रेस जनता का मत खरीदने की कोशिश में लगी है। इसका खुलासा आयकर विभाग की छापेमारी से हुआ। आयकर विभाग ने बृहस्पतिवार (अक्टूबर 22, 2020) देर शाम पटना में स्थित कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम के बाहर खड़ी गाड़ी से 8.5 लाख रुपये बरामद किया।

फ्लाइंग स्कवॉड को गुप्त सूचना मिली थी कि सदाकत आश्रम में खड़ी एक टाटा जेस्ट कार में लाखों रुपये हैं। जिसके बाद टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए रुपये अपने कब्जे में ले लिए और इसकी जानकारी आयकर विभाग को दी। आयकर विभाग ने त्वरित कार्रवाई करते हुए इस मामले में तीन लोगों को पकड़ा। जिनसे पूछताछ की जा रही है। पकड़े गए लोगों में आशुतोष कुमार सिन्हा, जितेन्द्र कुमार व योगेन्द्र कुमार शामिल है। इनमें एक गया के डोभी, दूसरा गया शहर डेल्हा तो तीसरा व्यक्ति गया के आंती का रहने वाला बताया जा रहा है।

अब आयकर विभाग ने कांग्रेस से इस पूरे मामले में जवाब मांगा है। आयकर विभाग की टीम ने कांग्रेस से सवाल किया है कि फंड कहां से आया और किस नेता ने पकड़े गए व्यक्ति को पैसा दिया? जिस गाड़ी से नकद बरामद किया गया, उस पर झारखंड का नंबर है।

जब इस मामले में बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल से पूछा गया, तो उन्होंने कहा, “मुझे नहीं मालूम ये किसका पैसा है।” उन्होंने कहा कि अगर उनके कंपाउंड में गाड़ी से 8 लाख रुपये निकलता है तो उन्हें उससे क्या लेना-देना है? गोहिल ने तो अपने बयान में कहा कि कंपाउंड के बाहर एक वाहन से पैसे बरामद होने के बाद उन्होंने (आईटी टीम) नोटिस दिया है। कंपाउंड के अंदर कोई पैसा बरामद नहीं हुआ। इस पूरी जांच में वह सहयोग करेंगे।

आयकर विभाग की टीम इस मामले में शक्ति सिंह गोहिल के अलावा कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला के साथ ही अन्य लोगों से भी पूछताछ कर रही है।गाड़ी से पैसे बरामद होने के बाद अब विभाग की टीम पिछले कुछ दिनों में हुई संदिग्ध लेन-देन को लेकर स्थानीय कांग्रेस नेताओं से भी पूछताछ कर सकती है। 

इस छापेमारी ने बीजेपी और जेडीयू को कांग्रेस पर हमला करने का मौका दे दिया है। बीजेपी के प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने सवाल पूछा है कि कांग्रेस बताए कि कहां से पैसा आया और क्या इस्तेमाल किया जाना था। कांग्रेस की पुरानी नीति रही है कि पैसे से चुनाव को वह प्रभावित करती है। आज भी वे लोग वही सब कर रहे हैं। वे सत्ता पाने के लिए कुछ भी हथकंडा अपना सकते हैं।

वहीं जेडीयू ने भी कांग्रेस को निशाने पर लिया है और कड़ी प्रतिक्रिया दी है। जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन श्रीवास्तव ने कहा कि कांग्रेस और आरजेडी काले धन का इस्तेमाल करती रही हैं। हर कोशिश करने के बावजूद कांग्रेस की मिट्टी जनता के बीच पलीद हो रही है। ताजा छापेमारी से कांग्रेस में बेचैनी है। कांग्रेस का चाल, चरित्र और चेहरा एक बार फिर जनता के सामने बेनकाब हो गया है।

 

Leave a Reply