Home चटपटी प्रियंका गांधी वाड्रा भी दे इस्तीफा, उनके प्रभारी रहते ही 387 उम्मीदवारों...

प्रियंका गांधी वाड्रा भी दे इस्तीफा, उनके प्रभारी रहते ही 387 उम्मीदवारों की जब्त हुई जमानत- कांग्रेस नेता ने लिखा सोनिया को पत्र

447
SHARE

कांग्रेस नेता जीशान हैदर की एक चिट्ठी से पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा की फजीहत हो रही है। उत्तर प्रदेश में पार्टी के पूर्व प्रवक्ता जीशान हैदर ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर प्रियंका गांधी वाड्रा से भी इस्तीफा लेने की मांग की है, क्योंकि उनके प्रभारी रहते ही उत्तर प्रदेश में 387 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई है। अपने पत्र में उन्होंने लिखा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की हार का ठीकरा सिर्फ प्रदेश अध्यक्ष पर फोड़ना बिल्कुल गलत है। जब प्रदेश की प्रभारी खुद प्रियंका गांधी हों वाड्रा तो प्रदेश अध्यक्ष अपनी मर्जी से एक चपरासी भी नहीं रख सकते थे। ऐसे में सिर्फ प्रदेश अध्यक्ष का इस्तीफा काफी नहीं है।

इसके साथ ही जीशान हैदर ने पहले के चुनावों में प्रदेश अध्यक्ष के साथ प्रभारी का इस्तीफा भी लिए जाने की याद दिलाते हुए लिखा है कि जब भी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी हारी है तो हमेशा प्रभारी ने और प्रदेश अध्यक्ष ने इस्तीफा दिया है। चाहे 2012 का विधानसभा चुनाव हो, जिसमें दिग्विजय सिंह और रीता बहुगुणा जोशी ने इस्तीफा दिया था, जबकि मत प्रतिशत और सीटें भी बढ़ी थीं। 2017 के चुनाव में हार के बाद राज बब्बर और गुलाम नबी आजाद ने इस्तीफा दिया था। मेरा मानना है कि प्रियंका गांधी जी का इस्तीफा भी आपको मांगना चाहिए, यह कांग्रेस के एक कार्यकर्ता की तरफ से आपसे निवेदन है। क्योंकि जब तक प्रियंका गांधी प्रभारी रहेंगी, उनके वही नौकर और उनकी वही टीम काम करेगी, जिनकी वजह से 387 विधानसभाओं में पार्टी प्रत्याशियों की जमानत जब्त हुई है। प्रियंका गांधी जी उनको हटाने को तैयार नहीं हैं तो आपसे निवेदन है कि प्रियंका जी को उत्तर प्रदेश के प्रभार से कार्यमुक्त कर दिया जाए।

जीशान हैदर की इस चिट्ठी से कांग्रेस की काफी किरकिरी हो रही है और लोग राहुल गांधी की तरह ही प्रियंका वाड्रा पर भी सवाल उठाने लगे हैं। सोशल मीडिया पर भी इसी चिट्ठी की चर्चा हो रही है।

इसे भी पढ़े-

राहुल के बाद प्रियंका गांधी वाड्रा को लेकर भी टूटा लोगों का भ्रम, कांग्रेस का तुरुप का आखिरी पत्ता भी फेल

Leave a Reply