Home समाचार बीजेपी ने तेलंगाना की दुब्बका सीट जीतकर टीआरएस को दिया बड़ा झटका,...

बीजेपी ने तेलंगाना की दुब्बका सीट जीतकर टीआरएस को दिया बड़ा झटका, बताया क्यों हैं ‘पार्टी विद अ डिफरेंस’

280
SHARE

तेलंगाना में दुब्बका विधानसभा सीट का उपचुनाव जीतकर बीजेपी ने सत्ताधारी पार्टी टीआरएस को बड़ा झटका दिया है। वहीं दक्षिण के राज्य में बीजेपी की इस जीत को बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है। इस सीट पर बीजेपी के एम रघुनंदन राव ने टीआरएस की सोलीपेटा सुजाता को शिकस्त दी है। यहां पर बीजेपी ने सरकार बनाने के लिए लड़ाई नहीं लड़ी, बल्कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने तेलंगान में अंगद की तरह अपना पैर जमाने के लिए कड़ी मेहनत की। साथ ही बता दिया है कि वो किस तरह ‘पार्टी विद अ डिफरेंस’ हैं।

बीजेपी के कार्यकर्ता 351 वोटों के लिए पैदल 20 किलोमीटर की यात्रा कर भौमपल्ली गांव पहुंचे। कोविड प्रभावित क्षेत्र में आने वाले इस गांव में कार्यकर्ताओं ने लोगों की मदद की। इसके माध्यम से उन्होंने उदाहरण पेश किया कि कोई भी लड़ाई जमीन पर जीती जाती है। इसलिए बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमीन पर अपना खून-पसीना बहाया और जीत को सुनिश्चित किया।

बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने इस जीत को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की। कार्यकर्ताओं ने बिना थके घर-घर और गांव-गांव जाकर प्रचार किया। लोगों से बीजेपी की नीतियों, योजनाओं और गरीबों के हित में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी दी। जिसका नतीजा है कि जनता ने बीजेपी के उम्मीदवार को जीताकर अपना आशीर्वाद दिया।

अगर आप जमीनी कार्यकर्ता नहीं है और आप सिर्फ सोशल मीडिया पर भरोसा करते हैं, तो आप को आपने नेतृत्व पर निर्भर रहना होगा। इस जीत ने बता दिया कि अगर आप बिना शोरगुल किए जीतोड़ मेहनत कर रहे हैं, तो उसके पीछे आपका मकसद होता है और आप उस मकसद को हासिल करने में कामयाब होते हैं।

दुब्बका सीट टीआरएस के मौजूदा विधायक सोलीपेटा रामलिंगा रेड्डी के निधन के बाद खाली हुई थी। टीआरएस ने उनकी पत्नी सोलीपेटा सुजाता को उम्मीदवार बनाया था। जबकि भाजपा की ओर से एम रघुनंदन राव मैदान में थे। बीजेपी उम्मीदवार एम रघुनंदन राव ने कडे़ मुकाबले में सोलीपेटा सुजाता को 1,470 वोट से मात दी। यह जीत तेलंगाना में बीजेपी के लिए गेम चेंजर साबित होगी।

गौरतलब है कि राज्य में 2018 के विधानसभा चुनाव में 117 सीटों में से 100 पर बीजेपी की जमानत जब्त हो गई थी। लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने यहां चार सीटों पर जीत हासिल की थी। इसके बाद सिकंदराबाद से सांसद जी किशन रेड्डी को मोदी कैबिनट में गृह राज्य मंत्री भी बनाया गया था। अब दुब्बका के नतीजों ने बीजेपी में नई ऊर्जा का संचार किया है और पार्टी इसे 2023 के विधानसभा चुनाव के लिए अच्छे संकेत मान रही है।

Leave a Reply