Home नरेंद्र मोदी विशेष प्रधानमंत्री मोदी और इटली के पीएम कोंते के बीच हुई वर्चुअल शिखर...

प्रधानमंत्री मोदी और इटली के पीएम कोंते के बीच हुई वर्चुअल शिखर बैठक,15 समझौतों पर हुए हस्ताक्षर

349
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और इटली के पीएम गुईसपे कोंते के बीच शुक्रवार को वर्चुअल शिखर बैठक हुई। बैठक में दोनों प्रधानमंत्रियों के सामने ना सिर्फ 15 महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं बल्कि वर्ष 2021 से वर्ष 2024 तक के लिए द्विपक्षीय रिश्तों का एजेंडा तैयारकिया गया। इस वर्चुअल शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम सभी को कोरोना के बाद की दुनिया के लिए तैयार होना होगा। इससे उत्पन्न होने वाली चुनौतियों और अवसरों के लिए हम सभी को एक नए सिरे से तैयार रहना होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि कोविड-19 के कारण मुझे मई में अपनी इटली यात्रा को स्थगित करनी पड़ी थी। सबसे पहले मैं इटली में कोरोना वायरस से कारण हुई क्षति के लिए मेरी तरफ से और भारत के सभी नागरिकों की तरफ से संवेदना प्रकट करता हूं। पीएम मोदी ने कहा कि विश्व के अन्य देश कोरोना वायरस को जान ही रहे थे समझने की कोशिश कर रहे थे तब आप इससे जूझ रहे थे। महामारी के उन पहले महीनों में इटली की सफलता ने हम सभी को प्रेरित किया। आप के अनुभवों ने सबका मार्ग दर्शन किया। आपके के तरह मैं भी भारत और इटली के संबंधों को और व्यापक और गहरा बनाने के लिए प्रतिबंध हैं। पीएम मोदी ने कहा कि यह खुशी की बात है कि 2018 में हमारी बातचीत के बाद आपसी आदान-प्रदान में काफी गति आई है। यह साफ है कि कोविड-19 महामारी सेकेंड वर्ल्ड वॉर की तरह से एक शेड रहेगी। पीएम ने आगे कहा कि मुझे विश्वास है कि आज की हमारी बातचीत से हमारे संबंध और मजबूत होंगे और आपसी समझ बढ़ेगी और सहयोग के नए क्षेत्रों के पहचान में सहायता मिलेगी।

वर्चुअल शिखर बैठक में दोनों देशों के बीच तय किया गया है कि अब हर वर्ष इनके विदेश मंत्रियों के बीच एक बैठक की जाएगी जिसमें साल भर की प्रगति की समीक्षा की जाएगी। साथ ही राजनीतिक स्तर पर भी ज्यादा बैठकें की जाएंगी।

भारत और इटली ने पहली बार रक्षा क्षेत्र में सहयोग करने का फैसला किया है। सैन्य अभ्यास से लेकर सैन्य उपकरणों को साझा तौर पर विकसित करने की संभावनाएं तलाशने का भी फैसला हुआ है। इसके लिए संयुक्त रक्षा समिति और सैन्य सहयोग समूह का गठन किया जा रहा है, जिनके बीच आपसी विमर्श से आगे की रणनीति बनेगी। इसी तरह से आतंकवाद पर भी आपसी सहयोग को प्रगाढ़ करने और सूचनाओं का ज्यादा बेहतर तरीके से आदान प्रदान करने पर सहमति बनी है। दोनों नेताओं ने आपसी कारोबार को तेजी से बढ़ाने के लिए नई कोशिशों को प्रोत्साहित करने की बात कही है। निवेश प्रोत्साहित करने के लिए इटली की ट्रेड एजेंसी और इंवेस्ट इंडिया के बीच समझौता किया गया है। जाहिर है कि इटली ईयू का अहम सदस्य है और अभी भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) के बीच व्यापार समझौते पर वार्ता हो रही है। इटली ने कहा है कि वह अपनी तरफ से पूरा सहयोग करेगा ताकि यह समझौता जल्दी से जल्दी पूरा हो सके।

 

Leave a Reply