Home समाचार यूपी मिशन 2022 : पीएम मोदी और सीएम योगी के नेतृत्व में...

यूपी मिशन 2022 : पीएम मोदी और सीएम योगी के नेतृत्व में भाजपा ने कसी कमर, चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार

423
SHARE

यूपी मिशन 2022 के लिए एक ओर जहां विपक्ष अभी दूसरे दलों से बातचीत कर गठबंधन बनाने तक ही सीमित है, वहीं भाजपा विधानसभा चुनाव के लिए पूरी तरह से पीएम नरेन्द्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में कमर कस कर पूरी तरह तैयार हो चुकी है। प्रदेश से लेकर बूथ स्तर तक संगठन की संरचना तैयार कर ली गई और योगी सरकार का बहुप्रतीक्षित मंत्रिमंडल विस्तार भी हो चुका। संगठन की कमान प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह संभाले हैं तो चुनावी रणनीति के लिए केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को चुनाव प्रभारी बनाया गया है। उनके साथ सहप्रभारी के रूप में केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री अनुराग ठाकुर चुनाव प्रबंधन संभाल रहे हैं। बाकी छह सह प्रभारियों को क्षेत्रीय चुनाव प्रभारी बनाया गया है। चुनावी मोड में पूरी तरह से आ चुकी प्रदेश भाजपा ने अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए चुनाव पूर्व अभियान की रूपरेखा तैयार कर अंतिम स्वीकृति के लिए केंद्रीय नेतृत्व को भेजी दी है। अब पार्टी तय कर चुकी है कि एक दिन भी आराम किए बिना पूरी ताकत से मिशन 2022 में जुटा जाए। दो चरणों में प्रचार-प्रसार का अभियान चलाया जाएगा। विपक्षी दलों की धार को कुंद करने और चुनाव में भगवा माहौल बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नवंबर तक पूरे प्रदेश का तूफानी दौरा करेंगे। सरकार ने तय किया है कि, सौ दिन के सौ काम बताकर जनता का समर्थन मांगा जाएगा। 

‘सौ दिन के सौ काम’ से फिर सत्ता हासिल करेगी भाजपा

 चुनाव पूर्व अभियान की रूपरेखा बना ली गई है।  पार्टी सूत्रों के अनुसार, चुनाव अभियान दो चरणों में चलेगा। पहला अभियान चुनाव की अधिसूचना जारी होने तक चलेगा। इसके लिए एक अक्तूबर से दस जनवरी, 2022 तक की अवधि प्रस्तावित की गई है। इस चरण को ‘सौ दिन के सौ काम’ नाम दिया गया है। एक-एक दिन के कार्यक्रम की रूपरेखा बना ली गई है।  इन सौ दिनों में समाज के हर वर्ग से जनसंपर्क पर खास जोर रहेगा। योगी मंत्रिमंडल के विस्तार में जो सात नए मंत्री बनाए गए हैं, वह भी अपने-अपने जाति वर्ग और क्षेत्र में इसी दौरान ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास’ का संदेश पहुंचाने में जुटेंगे। यह अभियान समाप्त होने पर जनवरी से पार्टी चुनावी जनसभाएं शुरू करेगी।

सीएम योगी की लोकप्रियता को वोट में बदलने की योजना

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी भाजपा राधा मोहन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश की जनता के बीच सबसे लोकप्रिय नेता है। साढ़े चार वर्ष के शासन के बाद उनके प्रति जनता के मन में अटूट विश्वास और श्रद्धा है। विधानसभा चुनाव से पहले संगठन ने योगी के हर जिले में विभिन्न कार्यक्रमों और प्रवास की योजना बनाई है। योगी सप्ताह में चार से पांच दिन सरकारी या संगठनात्मक कार्यक्रमों में प्रतिदिन एक से दो जिलों का दौरा करेंगे। योगी को चुनावी चेहरा बनाने के बाद पार्टी ने उनकी लोकप्रियता को वोट बैंक में तब्दील कराने के लिए मजबूत योजना बनाई है। जिलों में किसी न किसी सरकारी परियोजना का उद्घाटन, शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे। वहीं भाजपा की ओर से विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चलाए जाने वाले विधानसभा सम्मेलनों, युवा मोर्चा, महिला मोर्चा, किसान मोर्चा के कार्यक्रमों में शामिल होंगे।

पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने के लिए दो माह तक प्रदेश के सभी 75 जिलों का तूफानी दौरा करेंगे मुख्यमंत्री योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विधानसभा चुनाव-2022 के लिए अक्तूबर से अपनी चुनावी यात्रा को शुरू करेंगे। प्रत्येक सप्ताह में चार से पांच दिन किसी न संगठनात्मक कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। वह हर दिन एक से दो जिलों में जा सकते हैं। वहां की चुनावी थाह लेने के साथ संगठन के जरिये चुनावी बिसात बिछाएंगे। भाजपा की कोर कमेटी ने विपक्षी दलों की धार को कुंद करने और चुनाव में पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने के लिए नवंबर तक सीएम योगी से पूरा प्रदेश मथाने की योजना बनाई है। जानकारों का कहना है कि 23 सितंबर की रात को मुख्यमंत्री आवास पर हुई भाजपा की कोर कमेटी की बैठक में ही चुनाव से पहले सीएम योगी के सभी 75 जिलों में दौरों की योजना बन गई थी।

पार्टी के कार्यक्रमों को सम्मेलन के रूप में आयोजित कर जुटाई जाएगी भीड़, समस्याओं का मौके पर होगा समाधान

संगठनात्मक कार्यक्रमों को सभा, रैली या सम्मेलन के रूप में आयोजित कर वहां भीड़ जुटाई जाएगी। पार्टी ने योजना बनाई है कि नवंबर तक संगठनात्मक कार्यक्रमों के जरिये सीएम योगी पूरे प्रदेश का चुनावी दौरा कर लें। रात्रि विश्राम भी जिलों में करेंगे। जानकारी के मुताबिक सीएम योगी सप्ताह में दो से तीन दिन रात्रि विश्राम लखनऊ से बाहर किसी ना किसी जिले में करेंगे। वहां पर सीएम योगी संगठन के  लोगों के साथ जनप्रतिनिधियों से विचार विमर्श कर न केवल कील- काटें दुरुस्त करेंगे बल्कि चुनाव के मद्देनजर वहां की स्थानीय आवश्यकताओं को पूरा करने के साथ समस्याओं के समाधान की राह बनाएंगे।

हर सीट पर सीएम योगी और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव की रहेगी नजर, साढ़े चार साल की उपलब्धियां भी बताएंगे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की नजर सभी सीटों पर है रहेगी। ऐसे  विधानसभा क्षेत्र जहां भाजपा के विधायक नहीं हैं वहां समीकरण बदलने और जीत का माहौल बनाने की जिम्मेदारी खुद मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष ने संभाली है। वहीं अयोध्या में राम मंदिर निर्माण एवं दीपोत्सव के आयोजन, प्रयागराज के कुंभ, बरसाने की होली, काशी की देव दीपावली, शक्तिपीठों पर नवरात्रि के भव्य आयोजन जैसी उपलब्धियों से अपने परंपरागत वोट बैंक को साधेंगे। वहीं साढ़े चार साल की सरकार की उपलब्धियां भी बताएंगे।

 

 

 

Leave a Reply