Home समाचार MSME-आवास तथा शहरी विकास मंत्रालय देगा साढ़े आठ करोड़ युवाओं को रोजगार

MSME-आवास तथा शहरी विकास मंत्रालय देगा साढ़े आठ करोड़ युवाओं को रोजगार

520
SHARE

भारत की 65 प्रतिशत आबादी 35 साल से कम उम्र की है और मोदी सरकार युवाओं को स्वाबलंबी बनाने के लिए लगातार प्रयासरत है। आने वाले वर्षों में केंद्रीय आवास तथा शहरी विकास और MSME मंत्रालय के तहत 8.65 करोड़ नौकरियां पैदा होंगी। स्वावलंबन ई-समिट 2020 में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि हमारे देश के विकास में हमारे MSME सेक्टर का बहुत बड़ा योगदान है, अभी GDP ग्रोथ रेट में से 30% आय MSME से आती है, हमारे 48% निर्यात MSME का है और अभी तक हमने 11 करोड़ नौकरियां पैदा की हैं। उन्होंने आगे कहा कि मेरा विश्वास और विचार है कि हम आने वाले 5 साल में इसे बढ़ाकर कम से कम 30 प्रतिशत ग्रोथ रेट को 50 प्रतिशत, 48 प्रतिशत निर्यात को 60 प्रतिशत करें और 5 करोड़ नई नौकरियां पैदा करें। उधर, केंद्रीय आवास तथा शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत देश में घरों के निर्माण से करीब 3.65 करोड़ नौकरियां मिलेंगी। योजना के तहत अब तक लोगों को 1.65 करोड़ नौकरियां मिल चुकी हैं। पुरी ने सीआईआई के वेबिनार में कहा कि मंत्रालय 1.07 करोड़ मकानों के निर्माण की मंजूरी दे चुका है।

युवाओं को रोजगार देने के लिए प्रतिबद्ध मोदी सरकार

– MSME सेक्टर में पांच करोड़ नौकरियां पैदा करने की तैयारी
-देश के विकास में हमारे MSME सेक्टर का बहुत बड़ा योगदान
-पीएम आवास योजना के तहत मिलेंगी 3.65 करोड़ नौकरियां
– योजना के तहत मिल चुकी हैं 1.65 करोड़ लोगों को नौकरियां
– योजना के तहत हो चुकी है 35 लाख मकानों की डिलिवरी

Leave a Reply