Home कोरोना वायरस भाजपा के सारे मुख्यमंत्री मिलकर भी जो न कर सके, वो कांग्रेस-शिवसेना-एनसीपी...

भाजपा के सारे मुख्यमंत्री मिलकर भी जो न कर सके, वो कांग्रेस-शिवसेना-एनसीपी ने अकेले महाराष्ट्र में कर दिया

2495
SHARE

महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठजोड़ की सरकार है। यह दुर्भाग्य की बात है कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने महाराष्ट्र में जो कर दिया है, वो देश के 17 राज्यों में भाजपा और उसके सहयोगी दलों के मुख्यमंत्री भी नहीं कर पाए। जी हां, हम बात कर रहे हैं कोरोना संक्रमित मरीजों के मामलों की। महाराष्ट्र कोरोना संक्रमण के मामले में देश में अव्वल राज्य है। महाराष्ट्र में 5 जून, 2020 को कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या का आंकड़ा 77,793 पहुंच चुका है, जबकि मृतकों की संख्या 2710 हो गई है। महाराष्ट्र में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 33,681 है।

अब अगर देश में भाजपा और उसके सहयोगी दलों के शासन वाले राज्यों पर नजर डालें तो वे सारे राज्य मिलकर भी महाराष्ट्र के आंकड़ों से पीछे हैं। भाजपा शासित राज्यों में कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 53,909, ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 32,563 और कुल मृतकों की संख्या 1907 है। यानी भाजपा शासित राज्यों में कुल मरीजों की संख्या महाराष्ट्र से लगभग 35 प्रतिशत कम है। जबकि भाजपा साशित राज्यों में सबसे अधिक आबादी वाला यूपी और एमपी भी शामिल है।

भाजपा और सहयोगी दलों के शासन वाले राज्यों में कोरोना संक्रमण की स्थिति             *आरोग्य सेतु ऐप के आंकड़े(05/06/2020)
राज्य का नाम कोरोना मरीज ठीक हुए मरीज मृतक
गुजरात 18584 16667 1155
उत्तर प्रदेश 9237 7104 245
मध्य प्रदेश 8762 5637 377
बिहार 4493 2210 29
कर्नाटक 4320 1610 57
हरियाणा 3281 2134 24
असम 1988 442 4
उत्तराखंड 1153 297 10
त्रिपुरा 644 173 0
हिमाचल प्रदेश 383 179 5
गोवा 166 57 0
मणिपुर 124 38 0
नगालैंड 80 0 0
अरुणाचल प्रदेश 42 1 0
मेघालय 33 13 1
मिजोरम 17 1 0
सिक्किम 2 0 0
कुल संख्या 53909 32563 1907

यानी उपरोक्त आंकड़ों से स्पष्ट है कि भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने कोरोना महामारी से लड़ने में जबरदस्त तैयारी दिखाई है। इन राज्यों में न सिर्फ मरीजों की संख्या कम है, बल्किक ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी बहुत ज्यादा है।

Leave a Reply