Home समाचार शालिनी यादव को फिजा फातिमा बना डाला, सोशल मीडिया पर पूरे यादव...

शालिनी यादव को फिजा फातिमा बना डाला, सोशल मीडिया पर पूरे यादव समाज को एक साथ आकर लव जिहाद के खिलाफ आवाज उठाने की अपील

2284
SHARE

देश में धर्मनिरपेक्षता की आड़ में लव जिहाद के जरिए धर्म परिवर्तन कराने का बड़े पैमाने पर षड्यंत्र रचा जा रहा है। इस साजिश के तहत हिन्दू की भोली-भाली लड़कियों को टागरेट किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के कानपूर में शालिनी यादव को पहले लव जेहाद के जरिए फंसाया गया और फिर उसका धर्म परिवर्तन करा कर फिजा फातिमा बना दिया है। शालिनी यादव केस में अब लव और लव जेहाद की परतें खुलने लगी हैं।

शालिनी यादव के भाई विकास यादव का कहना है कि फैसल, लव जेहाद गैंग का सरगना है और यही कारण है कि उसने शालिनी को इस्लाम कबूल करा फिजा फातिमा बना डाला। भाई का कहना है कि शालिनी घर से 10 लाख रुपए लेकर निकली थी और वह अपनी बहन को लव जिहाद गैंग से छुड़ा कर लाएगा। मां शत्रुपा यादव का कहना है कि फैसल ने शालिनी यादव के रुपए छीन लिए हैं। उसे टार्चर और ब्लैकमेल किया जा रहा है। मां के अनुसार उनके पास उनकी बेटी का एक बार फोन आया था, उसके बाद उसे बात करने नहीं दिया जा रहा है। 

शालिनी यादव के साथ लव जिहाद के मामले को देखते हुए सोशल मीडिया पर पूरे यादव समाज को एक साथ आकर इस मामले के खिलाफ आवाज उठाने की अपील की जा रही है। 

अंकित द्विवेदी ने ट्विट के जवाब में लिखा कि यह यादव पर नहीं बल्कि हिन्दू अस्मिता पर वार है।

न्यूज 18 के मुताबिक उत्तर प्रदेश के कानपुर के बर्रा थाने इलाके में रहने वाली शालिनी यादव की मुलाकात 6 साल पहले फैसल से हुई थी। फैसल की मुलाकात शालिनी से पहली बार घर के पास पार्क में हुई। दरअसल,लड़की के घर के ठीक सामने ग्रीन बेल्ट बनी हुई है, जहां इलाके के तमाम लोग शाम को टहलने के लिए आते हैं। इसी पार्क में शालनी और फैसल का आमने सामना हुआ। करीब 2 साल बाद फैसल किदवई नगर में रहने चला गया। फैसल ने बीकॉम किया है और शालिनी ने एमबीए कंप्लीट किया है। बीते 29 जून को बाजार जाने के बहाने घर से निकली शालिनी पहले लखनऊ पहुंची और वहां से सीधे गाजियाबाद के लिए रवाना हो गई। शालिनी ने फैसल से गाजियाबाद में पहले निकाह किया और फिर कोर्ट से रजिस्टर्ड मैरिज भी की।

न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक कानपुर में यह पहला मामला नहीं है। मुसलमान लड़के यहां 5 हिंदू लड़कियों को अपना शिकार बना चुके हैं।मुख्यमंत्री के मीडिया एडवाइजर शलभ मणि त्रिपाठी ने लड़की का वीडियो ट्वीट कर लिखा है कि परीक्षा देने के बहाने निकली कानपुर की शालिनी यादव ने पहले धर्म बदला, फिर फैसल से निकाह कर लिया। सवाल ये कि धर्म बदलने की क्या ज़रूरत? धर्म शालिनी यादव ने ही क्यूं बदला? फ़ैसल ने क्यूं नहीं? तभी तो कहते हैं, ये लव नहीं, ये है लव जेहाद।

Leave a Reply