Home समाचार पीएम मोदी के कोरोना को रोकने के सुझाए उपायों को वैज्ञानिकों ने...

पीएम मोदी के कोरोना को रोकने के सुझाए उपायों को वैज्ञानिकों ने भी बताया कारगर

441
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक महामारी कोरोना के देश में दस्तक देने के तुरंत बाद उससे पार पाने के लिए जो-जो उपाय सुझाए थे वे आज भी कारगर साबित हुए है। केंद्र सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के महकमे ने इस संदर्भ में अपनी सलाह जारी करते हुए प्रधानमंत्री मोदी के सुझाए सुझावों पर मुहर लगा दी है। ध्यान रहे पीएम मोदी ने शुरू में ही कोरोना संक्रमण को कम करने और उसके प्रभाव को खत्म करने के लिए मास्क और एक दूसरे से दो गज की दूरी को अनिवार्य बताया था। इसके अलावा पीएम मोदी ने स्वच्छता के साथ हवादार घर को भी जरूरी बताया था।

वैज्ञानिकों का सरल दिशा-निर्देश जारी

आपको बता दें कि केंद्र सरकार के प्रमुख सलाहकार महकमा ने भी कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए सामूहिक मुकाबला को आवश्यक बताया है। इसके साथ ही उन्होंने अपनी सलाह में बताया है कि कोरोना से मुकाबला के लिए मास्क, दो गज की शारीरिक दूरी, स्वच्छता और हवादार घर को जरूरी बताया है। इसके लिए उन्होंने सरल दिशा-निर्देश जारी किया है। वैज्ञानिकों द्वारा जारी दिशा-निर्देश का पालन आसानी से किया जा सकता है। देश में कोरोना महामारी की भीषणता को देखते हुए हमें यह याद रखना चाहिए कि साधारण उपायों और व्यवहार से हम कोविड-19 के फैलाव को रोक सकते हैं।

कोरोना को रोकने में हवादार घर अहम

वैज्ञानिकों ने अपनी सलाह में कोरोना को रोकने में हवादार घरों और स्थानों को काफी महत्व दिया है। उनका कहना है कि घरों में हवा आने-जाने की समुचित व्यवस्था होने से वायरल लोड कम होता है, जबकि जिन घरों, कार्यालयों में हवा के आने-जाने का उचित प्रबंध नहीं होता, वहां वायरल लोड ज्यादा होता है। हवादार घर होने से संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक संक्रमण पहुंचने का जोखिम बिल्कुल कम हो जाता है। यह वैसे ही काम करता है जिस प्रकार खिड़की और दरवाजे खुलते ही हवा के निकलने के साथ गंध निकल जाती है, उसी प्रकार संक्रमण का जोखिम भी घट जाता है।

कोरोना को खत्म करने के लिए मानव चेन को तोड़ना जरूरी

कोविड-19 के प्रसार के लिए मानव शरीर आवश्यक होता है, क्योंकि इसी के माध्यम से वह अपनी तादाद बढ़ाता है। अगर उसे मानव शरीर न मिले तो वह जीवित नहीं रह सकता। एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक संक्रमण को रोकने से विषाणु मर जाता है। यह काम व्यक्तियों, समुदायों, स्थानीय निकायों और अधिकारियों के सहयोग और समर्थन से संभव हो पाएगा। मास्क, हवादार स्थान, सामाजिक दूरी और स्वच्छता ऐसे हथियार हैं, जिनसे हम वायरस के खिलाफ जंग जीत सकते हैं।

Leave a Reply