Home झूठ का पर्दाफाश सुरक्षाबलों का मनोबल गिराने का काम कर रहे राहुल गांधी, डिफेंस की...

सुरक्षाबलों का मनोबल गिराने का काम कर रहे राहुल गांधी, डिफेंस की स्टैंडिंग काउंसिल की एक भी बैठक में नहीं गए

633
SHARE

चीन के साथ जारी तनाव के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बेटे और सांसद राहुल गांधी अपनी हरकतों से सुरक्षाबलों का मनोबल गिराने का काम करते रहते हैं। गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से साथ झड़प के बाद से ही राहुल गांधी सरकार और सेना पर लगातार सवाल उठाते आ रहे हैं, लेकिन अचरज की बात यह है कि राहुल के लिए देश की सुरक्षा का मामला एक राजनीति से अधिक कुछ नहीं है। पिछले वर्ष सितंबर में रक्षा मामले की संसदीय समिति का गठन हुआ था। मार्च 2020 तक इसकी 11 बैठकें हुईं, पर कांग्रेसी सांसद राहुल उनमें से एक भी बैठक में नहीं आए। द प्रिंट में आई खबर के अनुसार देश की सुरक्षा को लेकर कांग्रेसी नेता राहुल गांधी की गंभीरता इस बात से समझ सकते हैं कि वे डिफेंस की स्टैंडिंग काउंसिल की एक भी बैठक में शामिल नहीं हुए।

इससे बावजूद राहुल गांधी रोज कुछ ना कुछ ट्वीट कर सेना का मनोबल गिराने का काम कर रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की इन हरकतों पर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि राहुल गांधी ने डिफेंस की स्टैंडिंग काउंसिल की एक भी बैठक में हिस्सा नहीं लिया। लेकिन दुख की बात है कि वह लगातार देश का मनोबल गिरा रहे हैं और हमारी सुरक्षा बलों की वीरता पर सवाल उठा रहे हैं। राहुल वो सब कर रहे हैं, जो विपक्ष के किसी जिम्मेदार नेता को नहीं करनी चाहिए।

राहुल गांधी पर एक बड़ा हमला करते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि राहुल गांधी एक ऐसे गौरवशाली वंशवादी परंपरा से हैं जहां रक्षा मामलों के लिए कमेटी नहीं बल्कि कमीशन मायने रखता है। कांग्रेस में कई ऐसे काबिल सदस्य हैं जो संसदीय मामलों की अच्छी समझ रखते हैं लेकिन वंशवाद के चलते ऐसे नेताओं को आगे नहीं बढ़ने दिया जाएगा। वास्तव में यह दुखद है।

सोनिया-राहुल पर बीजेपी का बड़ा हमला
हाल ही में गलवान घाटी में चीन से साथ विवाद को लेकर लगातार हमलावर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी पर बीजेपी ने बड़ा हमला बोला। वंशवाद पर करारा प्रहार करते हुए बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि एक वंश के कुकर्मों के कारण हमने अपनी जमीन का हजारों वर्ग किलोमीटर का हिस्सा खो दिया। सियाचिन ग्लेशियर लगभग चला गया था,और भी बहुत कुछ। इसलिए कोई आश्चर्य नहीं कि भारत ने उन्हें खारिज कर दिया।

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि एक राजवंश और उसके दरबारियों को पूरा विपक्ष होने का भ्रम हो गया है। एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि एक राजवंश और उनके वफादारों को परिवार में ही पूरा विपक्ष होने का भ्रम है। एक राजवंश षडयंत्रों और अपने दरबारियों की मदद से फेक नैरेटिव रखता है। ताजा मामला विपक्ष के सरकार से सवाल पूछने से जुड़ा है।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि विपक्ष का सवाल पूछने का अधिकार है। सर्वदलीय बैठक में अच्छे माहौल में बात हुई और नेताओं ने बहुमूल्य सुझाव दिए। उन्होंने आगे के लिए केंद्र सरकार के कदम का पूरा समर्थन किया। सिर्फ एक परिवार अपवाद था, क्या अनुमान लगा सकता है कि कौन?

सोनिया और राहुल का नाम लिए बिना कांग्रेस पार्टी और गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि एक अस्वीकृत और पदच्यूत राजवंश पूरा विपक्ष नहीं है। एक राजवंश का हित भारत का हित नहीं हैं। आज देश एकजुट है और हमारे सुरक्षा बलों का समर्थन कर रहा है। यह एकता और एकजुटता का समय है। अपने वंशज को फिर से लॉन्च करना इंतजार भी कर सकता है।

इसे भी पढ़िए-

बीजेपी ने दिखाया कांग्रेस को आईना, कहा -राहुल गिरा रहे सेना का मनोबल, क्या ये MoU का असर है?

अक्साई चिन और पीओके गंवाने वाली कांग्रेस को समझना होगा कि यह राजनीति का मोदी युग है, नेहरू युग नहीं

नेहरू की सोच ने देश को चीन के साथ युद्ध में हराया

नेहरू के फैसले जो आजाद भारत के नासूर बन गए

आज भी गांधी-नेहरू परिवार के नाम पर चल रही है 600 से ज्यादा सरकारी योजनाएं

देखिए कांग्रेस की बेशर्मी, भारत के चप्पे-चप्पे पर लिख दिया नेहरू-गांधी खानदान का नाम

Leave a Reply