Home समाचार कनाडा में देवी काली के सिगरेट पीने वाले पोस्टर को लेकर लोगों...

कनाडा में देवी काली के सिगरेट पीने वाले पोस्टर को लेकर लोगों का गुस्सा फूटा, फिल्म निर्माता की गिरफ्तारी की मांग

1456
SHARE

कनाडा में डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ के पोस्टर का भारत में काफी विरोध हो रहा है। इस पोस्टर में एक महिला को हिंदू देवी काली के रूप में सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है। काली के एक हाथ में एलजीबीटी समुदाय का झंडा भी दिखाया गया है। इस पोस्टर को लेकर कनाडा के ओटावा स्थित भारतीय उच्चायोग ने विरोध जताया है। उधर सोशल मीडिया पर काली के इस रूप को देखकर लोगों ने तीखी प्रतिक्रया व्यक्त की है और फिल्म की निर्माता निर्देशक लीना मणिमेकलाई की गिरफ्तारी की मांग की है। इस बीच विवादित पोस्टर को लेकर दिल्ली के वकील विनीत जिंदल ने लीना के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

कनाडा में भारतीय उच्चायोग ने इस मामले पर एक बयान जारी किया है। उच्चायोग के बयान के मुताबिक, “हमें कनाडा के हिंदू समुदाय के नेताओं की ओर से एक फिल्म के पोस्टर पर देवी-देवताओं के अपमानजनक प्रस्तुतीकरण को लेकर शिकायत मिली है जो टोरंटो के अगा ख़ान म्यूज़ियम के ‘अंडर द टेंट प्रोजेक्ट’ का हिस्सा है।”

बयान में आगे कहा गया, “टोरंटो में मौजूद हमारे काउंसुलेट जनरल ने इवेंट के आयोजकों को इन चिंताओं से अवगत करा दिया है। हमें यह भी जानकारी मिली है कि कई हिंदू समूहों ने कार्रवाई किए जाने की मांग को लेकर कनाडा में प्रशासन से संपर्क किया है। हम कनाडा की सरकार और इवेंट के आयोजकों से ऐसी भड़काने वाली चीज़ें वापस लेने की अपील करते हैं।”

हिंदू देवी के अपमानजक चित्रण को लेकर कनाडा के साथ ही भारत में लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और वे इसका अलग-अलग माध्यमों के जरिये विरोध कर रहे हैं। ये दरअसल एक फ़िल्म का पोस्टर है, जिसकी निर्माता-निर्देशक लीना मणिमेकलाई हैं। लीना ने शनिवार को अपनी फ़िल्म ‘काली’ का एक पोस्टर ट्वीट किया था। उनके अनुसार ये एक परफार्मेंस डॉक्यूमेन्टरी है। इस पोस्टर के साथ उन्होंने लिखा था, “अपनी हालिया फिल्म के लॉन्च को साझा करते हुए बेहद रोमांचित हूं।”

फिल्म पर बैन लगाने की मांग

भारत में जब इस पोस्टर की चर्चा शुरू हुई तो सोशल मीडिया पर इसका जबरदस्त विरोध देखने को मिला। सोशल मीडिया पर यूजर्स फिल्म को बैन करने और पोस्टर को वापस लेने की मांग करने लगे। यहां तक कि सोशल मीडिया पर #arrestleenamanimekalai ट्रेंड करने लगा।

विवादित पोस्टर को लीना के खिलाफ दिल्ली में शिकायत दर्ज कराने वाले वकील विनीत जिंदल ने आपत्तिजनक पोस्टर और डॉक्यूमेंट्री फिल्म से उस क्लिप पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। उन्होंने कहा कि देवी काली के वेश में एक महिला सिगरेट पी रही है, जो हिंदू समुदाय की भावनाओं और विश्वासों को आहत कर रही है। इसके साथ ही गौ महासभा सदस्य अजय गौतम ने भी लीना के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

अन्य धर्मों को ऐसे ही चित्रित करके दिखाओ

सोशल मीडिया पर एक यूजर नीतीश कुमार सिंह ने लिखा कि इसी तरह अन्य धर्मों को ऐसे ही चित्रित करो, तब मैं देखूंगा कि तुम कितने रोमांचित होते हो…। अमिताभ राय चौधरी ने लिखा कि हम मुस्लिम नहीं है इसीलिए तुम ये सब कर रही हो। एक यूजर ने लिखा कि यह ईशनिंदा है और इससे हिंदुओं की भावनाएं आहत हुई हैं। आगा खां म्यूजियम इस पर जल्द से जल्द रोक लगाएं। ग्रैंडमास्टर शिफूजी ने लिखा, ”आदरणीय, लीना मैडम, आपसे विनम्र निवेदन है कि आप तुरंत ट्वीट delete करें, जिसमें आपने और महा बुद्धिमान टीम ने मेरी और प्रत्येक सनातनी हिंदू” की इष्ट “माँ महाकाली” को जानबूझकर अपमानित किया है! कृपया Delete करें, वरना वचन है, आप सभी के विरुद्ध IPC 153,295 में शिकायत करूँगा!”

दरअसल पूरे विवाद की शुरुआत 2 जुलाई को हुई जब अंडर द टेंट प्रोजेक्ट के तहत फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलई ने डॉक्यूमेंटरी फिल्म काली का पोस्टर रिलीज किया। इस फिल्म में मां काली बनी एक महिला के एक हाथ में त्रिशूल था तो दूसरे हाथ में एलजीबीटी समुदाय का झंडा था। इसके अलावा उन्हें सिगरेट पीते हुए दिखाया जा रहा था। सोशल मीडिया पर इसकी तस्वीर सामने आने के बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और लीणा को गिरफ्तार करने की मांग उठने लगी।

हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब ने भी किया था हिंदू देवी देवताओं का अपमान

हिंदू देवी-देवताओं का अपमानजनक चित्रण कोई नई बात नहीं है। मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब ने 2017 में अपने सैलून के लिए एक समाचार पत्र में दिए गए विज्ञापन में ‘‘हिंदू देवी देवताओं’’ का अपमान किया था। विज्ञापन में हिंदू देवी देवताओं का अपमानजनक तरीके से चित्रण किया गया था। लेकिन तब हिंदुओं ने तो नहीं कहा- ‘सर तन से जुदा’। अभी पिछले साल की ही बात है जब अमेजन प्राइम वीडियो पर वेब सीरीज ‘तांडव’ के कुछ दृश्यों में हिंदु देवी-देवताओं का अपमान किया गया था। इस दृश्य को देखकर दर्शकों की भावनाएं आहत हुई थीं और बाद में अमेजन ने एक बयान जारी कर इस ‘आपत्तिजनक दृश्य पर’ माफी मांगी थी।

कौन हैं लीना मणिमेकलाई

लीना मणिमेकलाई का जन्म तमिलनाडु के मदुरै में हुआ। टोरंटो में रहने वालीं लीना मणिमेकलाई लीना फिल्म निर्माता, कवयित्री और अभिनेत्री हैं। उन्होंने 2002 में शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री मथम्मा के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। लीना खुद को एलजीबीटी समर्थक बताती हैं और वह बाईसेक्सुअल हैं। उन्होंने अंजलि गोपालन के साथ जुलाई 2012 में सृष्टि मदुरै के गोपी शंकर मदुरै द्वारा आयोजित एशिया की पहली जेंडरक्वीअर प्राइड परेड का समर्थन किया था। समलैंगिक प्रेम पर तमिल में उनका कविता संग्रह अंथराकन्नी है।

Leave a Reply