Home नरेंद्र मोदी विशेष नागरिकता संशोधन कानून और शरणार्थियों का विरोध करने वालों पर बरसे प्रधानमंत्री...

नागरिकता संशोधन कानून और शरणार्थियों का विरोध करने वालों पर बरसे प्रधानमंत्री मोदी

1205
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नए सार के दूसरे दिन गुरुवार को कर्नाटक के तुमकुर में श्री सिद्धगंगा मठ का दौरा किया। उन्होंने कहा, ‘मैं भाग्यशाली हूं कि इस पवित्र भूमि से वर्ष 2020 की शुरुआत कर रहा हूं। मेरी कामना है कि श्री सिद्धगंगा मठ की यह पवित्र ऊर्जा हमारे देश के लोगों के जीवन को समृद्ध बनाए।‘ प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत ने 21 वीं सदी के तीसरे दशक में नई ऊर्जा और नए जोश के साथ प्रवेश किया है। आपको याद होगा कि पिछले दशक की शुरुआत के समय देश में किस तरह का माहौल था। लेकिन यह तीसरा दशक उम्मीदों और आकांक्षाओं की मजबूत नींव के साथ शुरू हुआ है।

इस अवसर में जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने नागरिकता संसोधन कानून का विरोध करने वाले राजनीतिक दलों और लोगों पर जमकर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस और उसके साथी दल देश की संसद के खिलाफ ही मैदान में उतरे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ सप्ताह पहले ही संसद ने नागरिकता संशोधन कानून को मंजूरी देने का ऐतिहासिक काम किया है। लेकिन कांग्रेस और उसके सहयोगी दल देश में संसद के खिलाफ आंदोलन करने में जुटे हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ‘ये लोग पाकिस्तान से आए दलितों, पिछड़ों और वंचितों के खिलाफ ही आंदोलन कर रहे हैं। पाकिस्तान का जन्म धर्म के आधार पर हुआ था और तब से ही वहां दूसरे धर्मों के लोगों के साथ अत्याचार शुरू हो गया था। समय के साथ पाकिस्तान में हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध और ईसाइयों पर लगातार अत्याचार बढ़ता रहा है।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि लाखों लोगों को अपने घर छोड़कर भारत आना पड़ा है। पाकिस्तान ने इन लोगों पर जुल्म किया, लेकिन कांग्रेस और बाकी विपक्षी दल पाक के खिलाफ नहीं, बल्कि पीड़ितों के खिलाफ ही आंदोलन कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘शरण लेने आए लोगों के खिलाफ जुलूस निकाले जा रहे हैं, लेकिन जिस पाकिस्तान ने वहां के अल्पसंख्यकों पर अत्याचार किए उसे लेकर आखिर मुंह पर ताले क्यों लगे हुए हैं।’ पीएम मोदी ने कहा, ‘हमारा यह फर्ज बनता है कि पाकिस्तान से आए शरणार्थियों की मदद करें। हमारा फर्ज है कि पाक से आए हिंदुओं और उनमें भी ज्यादातर दलित लोगों को हम उनके नसीब पर नहीं छोड़ सकते।’

प्रधानमंत्री मोदी ने सीएए के खिलाफ आंदोलन करने वालों से कहा कि आज पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर बेनकाब करने की जरूरत है। आंदोलन करना ही है तो आपको पाकिस्तान के पिछले 70 सालों के कारनामों के खिलाफ करना चाहिए।

प्रधानमंत्री मोदी ने श्री सिद्धगंगा मठ में आयोजित कार्यक्रम में संत श्री शिवकुमार स्वामी को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि संतों के दिखाए मार्ग के कारण ही 21वीं सदी के तीसरे दशक में हमने उम्मीद और उत्साह के साथ कदम रखे हैं। प्रधानमंत्री ने देश के संत समाज से तीन संकल्पों में सक्रिय सहयोग का आग्रह किया। पहला- अपने कर्तव्यों और दायित्वों को महत्व देने की पुरातन संस्कृति को फिर से मजबूत करने के लिए भक्तों को और समाज को इसके बारे में निरंतर जागृत करना। दूसरा- प्रकृति और पर्यावर्ण की रक्षा, सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग न करने का आह्वान करना। तीसरा- जल संरक्षण, जल संचयन के लिए जन जागरण में सहयोग करना। पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने हमेशा संतों, गुरुओं को प्रकाश स्तंभ के रूप में देखा है।

प्रधानमंत्री मोदी के श्री सिद्धगंगा मठ दौरे की तस्वीरें-

 

 

Leave a Reply