Home समाचार पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश : कवच कितना ही मजबूत...

पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश : कवच कितना ही मजबूत क्यों न हो, जब तक युद्ध चल रहा हो हथियार नहीं डाले जाते

350
SHARE

कोरोना के खिलाफ जंग में देश के 100 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन का कवच मिल चुका है। कम समय में इस ऐतिहासिक उपलब्धि से पूरा देश एक नए आत्मविश्वास से लबरेज है। लेकिन इस लड़ाई में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक प्रधान सेनापति के रूप में फिर नजर आए, जब उन्होंने शुक्रवार (22 अक्टूबर, 2021) की सुबह 10 बजे अचानक देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने एक दूरदर्शी, सक्षम और कुशल सेनापति की तरह अपनी सेना यानि जनता का हौसला बढ़ाया। साथ ही ‘वोकल फॉर लोकल’ को जनआंदोलन बनाने और हमेशा सजग रहने की अपील की।

प्रधानमंत्री मोदी ने दीपावली और अन्य त्योहारों को देखते हुए आगाह किया, “अभी लड़ाई जारी है। हमें सतत सावधान रहने की जरूरत है। हमें लापरवाह नहीं होना है। कवच कितना ही उत्तम हो, कवच कितना ही आधुनिक हो, कवच से सुरक्षा की गारंटी हो तब भी जबतक युद्ध चल रहा है, हथियार नहीं डाले जाते। मेरा आग्रह है कि हमें अपने त्योहारों को पूरी सतर्कता के साथ ही मनाना है। मुझे पूरा भरोसा है कि हम सब मिलकर प्रयास करेंगे तो कोरोना को और जल्द हरा सकेंगे।“ गौरतलब है कि जब से कोरोना महामारी ने भारत में दस्तक दी है, उन्होंने कोरोना के खिलाफ जंग में खुद को पूरी तरह झोंक दिया है। देशवासियों के साथ ही वैश्विक सुरक्षा को लेकर दिन-रात सजगता से काम कर रहे हैं।

 सेनापति की भांति देश और दुनिया की अगुवाई

  • कोरोना के खिलाफ उठाए जा रहे कदमों की मॉनिटरिंग करते रहे।
  • डॉक्टर, नर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स से बात कर उन्हें प्रोत्साहित किया।
  • वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की।
  • विपक्षी दलों के नेताओं का कन्फ्यूजन दूर करने की कोशिश की।
  • वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से विभिन्न क्षेत्रों के लोगों से बातचीत की।
  • विश्व के देशों से सहयोग की अपील करने वाले पहले नेता बने।
  • विश्व के कई नेताओं से कोरोना से लड़ने के लिए बातचीत की।
  • दूसरी लहर के दौरान मोर्चा संभाला, तमाम रिसोर्सेस को लगा दिया।
  • वैक्सीन बनाने में लगी कंपनियों का लगातार मार्गदर्शन करते रहे।
  • खुद टीका लगवाकर वैक्सीन के प्रति लोगों के डर को खत्म किया।
  • दुनिया भर के देशों को कोरोना की वैक्सीन और दवाइयां भेजी।

कोरोना काल में अब तक 10 बार राष्ट्र के नाम संबोधन

1. 19 मार्च, 2020- जनता कर्फ्यू की अपील

2. 24 मार्च, 2020- 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान

3. 3 अप्रैल, 2020- 9 मिनट लाइटें बंद करने की अपील

4. 14 अप्रैल, 2020- देश में 3 मई तक लॉकडाउन का ऐलान

5. 12 मई, 2020- 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान

6. 30 जून, 2020- मुफ्त राशन की योजना का नवंबर तक विस्तार

7. 20 अक्टूबर, 2020- लोगों को कोरोना के प्रति आगाह किया

8. 20 अप्रैल, 2021- लॉकडाउन को आखिरी विकल्प बताया

9. 7 जून, 2021- पूरे देश को फ्री वैक्सीन देने का ऐलान

10. 22 अक्टूबर, 2021- लोगों को कोरोना के प्रति आगाह किया

Leave a Reply