Home समाचार सीएए को लेकर बच्चों के मन में भरा जा रहा है जहर,...

सीएए को लेकर बच्चों के मन में भरा जा रहा है जहर, पीएम मोदी को मारने की करते हैं बातें

418
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर स्थिति स्पष्ट करने और लोगों को समझाने की पूरी कोशिश की। लेकिन मुसलमानों पर इसका असर होता दिखाई नहीं दे रहा है। कुछ सियासी पार्टियां भी इस मुद्दे पर मुसलमानों को भड़काने में लगी हुई है। यहां तक कि बच्चों को भी सियासी फायदे के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। उनके मन में जहर भरा जा रहा है। उन्हें आजादी का पूरा मतलब पता नहीं है,फिर भी उन्हें आजादी-आजादी के नारे लगाने के लिए कहा जा रहा है। देश में माहौल बिगाड़ने और पीएम मोदी के प्रति बच्चों में नफरत पैदा करने की पूरी कोशिश की जा रही है। 

सोशल मीडिया में कई ऐसे वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिसमें बच्चे पीएम मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल करते नजर आ रहे हैं। यहां तक कि उन्हें मारने की भी बातें कर रहे हैं। बच्चों को बताया जा रहा है कि मोदी सरकार मुसलमानों को देश से भगाने जा रही है। कुछ बच्चों को यह कहते हुए भी सुना जा सकता है कि वह पीएम मोदी और अमित शाह को अकेले रहने नहीं देंगे, उन्हें मारकर रहेंगे। स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को भी आजादी-आजादी के नारे लगाने के लिए भड़काया जा रहा है। 

इस वीडियो को देखकर सवाल उठता है कि आखिर इन मासूम बच्चों के मन में जहर कौन भर रहा है। तो इसका सीधा जवाब यह है कि मुसलमानों का वोट हासिल करने के लिए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस जैसी तथाकथित धर्म निरपेक्ष पार्टियां उनमें डर पैदा कर रही है। मुसलमानों में भ्रम पैदा करने के लिए देशभर में सुनियोजित प्रयास किए जा रहे हैं। इसका सबसे प्रमुख उदाहरण दिल्ली का शाहीन बाग है, जहां 50 से अधिक दिनों से सीएए के खिलाफ धरना जारी है। धरने में शामिल महिलाएं कह रही हैं, “बच्चों को हमने ट्विंकल-ट्विंकल नहीं पढ़ाया है। बचपन से कर्बला का वाकया सुनाया है। हम औरतों ने शुरू से जैनब का वाकया सुना है। कर्बला में सिर्फ मर्दों ने ही नहीं, औरतों ने भी कुर्बानी दी है। हमें डराओ मत, हमारी शुरुआत सिर कटाने से होती है।”   

वीडियो में आगे कहा जा रहा है, “इमाम-ए-हुसैन ने बता दिया था ये नहीं सोचना कि यजीद सिर्फ अभी है। यजीद कयामत तक आएगा। और सुन लो मुसलमानों, तुम्हें अपने बच्चों को हुसैन बनाकर पेश करना पड़ेगा। आज तपती हुई रेत नहीं है, आज साया लगा है, अच्छे कपड़े हैं, खा पी रहे हैं हम। हिम्मत चाहिए तो कर्बला वालों को याद करके बैठे रहना। कितने दिन? 3 दिन से सैय्यदा जैनब प्यासी थीं। बच्चे का सिर कट गया, सामने आ गया, उफ्फ नहीं हुआ। अल्लाह के दीन के लिए हम आज आवाज नहीं उठाएँगे तो कल हमारी नस्लें खराब हो जाएँगी।”

महिला यहीं पर नहीं रूकती है। वो आगे कहती है, “तुम अगर नागरिकता सबको दे रहे हो तो हिंदुस्तान के मुसलमानों को भी नागरिकता दो। और क्यों दोगे? हम मोहताज नहीं हैं। हमको सादिक करने की जरूरत नहीं है। आज जितने करोड़ों की कमाई इंडिया में होती है, ये सरकार करोड़ों कमाती है, हमारे आबा-ओ-अजदाद की बनाई हुई इमारत से कमाती है। ताजमहल देख लो जाकर, कुतुब मीनार देख लो। किसी और ने नहीं बनाया। हमारे आबा-ओ-अजदाद ने बनाया है। तो पता चला, हुसैनी अज़्म रखते हैं, हुसैनी शान रखते हैं। मोहम्मद मुस्तफा की जात पर ईमान रखते हैं। नहीं वादे से डरते हम, जमाना जान ले हमको। खुदा का शुक्र है कि सीने में हम कुरान रखते हैं।”

इसके अलावा बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “वो जीना चाहते हैं और हमारे बच्चे मरने को तैयार है”, खतरनाक है ये बहुत खतरनाक। जाग जाओ इससे पहले कि देर हो जाए। इस वीडियो को दिल्ली के शहर काजी का बताया जा रहा है। वीडियो में शहर काजी कहते हैं, “कुछ लोग हम पर अत्याचार कर रहे हैं। अगर हमने अपने नौजवान बच्चों को एक दफा इशारा कर दिया और उकसा दिया तो हमारे बच्चे उनसे कहीं ज्यादा ताकत रखते हैं। याद रखना हम उस आदमी के औलाद हैं, जिन्होंने यहूदियों को कहा था कि तुम्हारे पास 10 लोग हैं जो जीना चाहते हैं और मेरे पास एक लोग है जो मौत को गले लगाना चाहते हैं। हम मौत को गले लगाने वाली कौम हैं।”

 

Leave a Reply