Home नरेंद्र मोदी विशेष पीएम मोदी का मेक इन इंडिया सफल : भारतीय उत्पादों की अमेरिका...

पीएम मोदी का मेक इन इंडिया सफल : भारतीय उत्पादों की अमेरिका ब्रिटेन सहित टॉप 10 देशों में धूम, मध्य प्रदेश और गुजरात उत्पाद निर्यात में अव्वल

628
SHARE

स्व निर्मित उत्पादों के निर्यात में बिहार, हिमाचल प्रदेश अव्वल
प्रधानमंत्री की मेक इन इंडिया योजना देश ही नहीं विदेशों में भी लोकप्रियता के झंडे गाड़ रही है। मेक इन इंडिया के उत्पादों की अमरिका, ब्रिटेन ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, जर्मनी सहित 42 से अधिक देशों में जबरदस्त मांग है। इन देशों में भारत में निर्मित आयुर्वेद, प्राकृतिक उत्पादों, हीरे व रत्नजड़ित आभूषण और गृह सज्जा के उत्पाद सबसे ज्यादा निर्यात हो रहे हैं।

भारतीय उत्पादों की अमेरिका, ब्रिटेन सहित 42 देशों में धूम
मेक इन इंडिया के तहत अपने उत्पादों का निर्यात करने में बिहार और हिमाचल प्रदेश अव्वल हैं। मध्य प्रदेश, राजस्थान भी इसमें आगे हैं। यह खुलासा इंडिया स्माल ऑनलाइन बिजनेस ट्रेड रिपोर्ट 2021 में हुआ है।

 

हाथ से बने उत्पाद पहली पसंद
रिपोर्ट के मुताबिक, इन राज्यों के विक्रेता 42 विदेशी बाजारों में ग्राहकों को मेड इन इंडिया उत्पातों का निर्यात कर रहे हैं। कुल निर्यात में से 92 प्रतिशत दस देशों में हो रहा है। भारत के सबसे अधिक निर्यात हाथ से बने घर को सजाने वाले उत्पाद, बिस्तर, आयुर्वेदिक उत्पाद, ऑटो पार्टस और सहायक उपकरणों का हो रहा है।गुजरात आभूषण निर्यात में आगे
गुजरात ने आभूषण का 42 प्रतिशत निर्यात किया। यहां से हीरे और रत्न का भी निर्यात किया गया। कपड़े – जूते का 25 प्रतिशत निर्यात हुआ। राजस्थान के छोटे व्यवसायों ने 39 प्रतिशत फैशन ज्वैलरी का निर्यात किया। इनमें से 35 प्रतिशत उद्योगों ने अमरीका और ब्रिटेन में हीरे के साथ रत्नजड़ित ज्वैलरी का निर्यात किया। मध्य प्रदेश ने 67 प्रतिशत बिस्तर संबंधित उत्पादों का निर्यात किया। दिल्ली आयुर्वेदिक उत्पादों के निर्यात में आगे है

रंग ला रही है मेक इन इंडिया की मुहिम
92 प्रतिशत निर्यात अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा सहित दस देशों में हुआ
39 प्रतिशत फैशन ज्वैलरी का निर्यात किया राजस्थान के छोटे व्यवसायों ने
67 प्रतिशत बिस्तर संबंधित उत्पादों का निर्यात किया मध्य प्रदेश के उद्योगों ने

निर्यात के मामले में देश के टॉप 5 राज्य
राज्य              निर्यात
बिहार                67
हिमाचल प्रदेश      67
गोवा                50
जम्मू कश्मीर      50
झारखंड            50

 

 

Leave a Reply