Home समाचार प्रधानमंत्री मोदी की फिनलैंड, आईसलैंड, स्‍वीडन और नॉर्वे के प्रधानमंत्रि‍यों के साथ...

प्रधानमंत्री मोदी की फिनलैंड, आईसलैंड, स्‍वीडन और नॉर्वे के प्रधानमंत्रि‍यों के साथ द्व‍िपक्षीय बैठक

221
SHARE

डेनमार्क के कोपेनहेगेन में नॉर्डिक शिखर सम्‍मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने फिनलैंड, आईसलैंड, स्‍वीडन और नॉर्वे के प्रधानमंत्रि‍यों के साथ द्व‍िपक्षीय बैठक की। चार नॉर्डिक नेताओं के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठक की शुरूआत नॉर्वे के प्रधानमंत्री के साथ बैठक से शुरू हुई। इसमें मुख्‍यरूप से समुद्री अर्थव्‍यवस्‍था, नवीकरणीय ऊर्जा, जल विद्युत के क्षेत्र में सहयोग की संभावनाओं तथा प्रौद्योगिकी और निवेश संबंधों पर चर्चा हुई। स्‍वीडन के प्रधानमंत्री के साथ बैठक में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग और अंतरिक्ष तथा रक्षा क्षेत्रों में साझेदारी पर विचार-विमर्श किया गया। आईसलैंड के प्रधानमंत्री के साथ समुद्री अर्थव्‍यवस्‍था और ऊर्जा स्रोतों के क्षेत्र में सहयोग पर विचार-विमर्श हुआ। जबकि फिनलैंड के प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात में दोनों देशों के आपसी संबंधों और डिजिटल साझेदारी में हुई प्रगति पर चर्चा हुई।

नॉर्वे के प्रधानमंत्री जोनस गहर स्टोर के साथ बैठक
प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन से अलग नॉर्वे के प्रधानमंत्री जोनस गहर स्टोर के साथ बैठक में कई मुद्दों पर बात की। अक्टूबर, 2021 में प्रधानमंत्री स्टोर द्वारा पदभार ग्रहण करने के बाद से दोनों राजनेताओं के बीच यह पहली बैठक थी। दोनों प्रधानमंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों के तहत जारी गतिविधियों की समीक्षा की और सहयोग के भावी क्षेत्रों पर चर्चा की। प्रधानमंत्री ने इस बात को जोर दिया कि नॉर्वे का कौशल और भारत की संभावनाएं प्राकृतिक तौर पर एक-दूसरे की पूरक हैं। दोनों नेताओं ने जल से जुड़ी अर्थव्यवस्था, नवीकरणीय ऊर्जा, हरित हाइड्रोजन, सौर और पवन परियोजनाओं, हरित पोत परिवहन, मत्स्य पालन, जल प्रबंधन, वर्षा जल संचयन, अंतरिक्ष सहयोग, दीर्घकालिक अवसंरचना निवेश, स्वास्थ्य और संस्कृति जैसे क्षेत्रों में सहयोग को और मजबूत करने की क्षमता पर चर्चा की। बैठक के दौरान क्षेत्रीय और वैश्विक घटनाक्रमों पर भी चर्चा हुई। सुरक्षा परिषद् के सदस्य देशों के रूप में, भारत और नॉर्वे संयुक्त राष्ट्र में पारस्परिक हित के वैश्विक मुद्दों पर एक-दूसरे को सहयोग देते रहे हैं।

स्वीडन की प्रधानमंत्री के साथ बैठक
प्रधानमंत्री मोदी और स्वीडन की प्रधानमंत्री मैग्डेलीना एंडरसन के बीच यह पहली बैठक थी। इस बैठक में दोनों राजनेताओं ने द्विपक्षीय साझेदारी में हुई प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने लीड आईटी पहल की प्रगति पर भी संतोष व्यक्त किया। यह 2019 में आयोजित संयुक्त राष्ट्र जलवायु कार्य शिखर सम्मेलन में उद्योग परिवर्तन पर नेतृत्व समूह (लीडआईटी) का गठन करने के लिए भारत-स्वीडन की संयुक्त वैश्विक पहल थी, ताकि दुनिया के सबसे अधिक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जक उद्योगों का कम कार्बन अर्थव्यवस्था की ओर जाने में मार्गदर्शन किया जा सके। इसकी सदस्यता 16 देशों और 19 कंपनियों के साथ मिलकर अब 35 हो गई है। दोनों राजनेताओं ने क्षेत्रीय और वैश्विक घटनाक्रमों के साथ नवाचार, जलवायु प्रौद्योगिकी, जलवायु कार्य, हरित हाइड्रोजन, अंतरिक्ष, रक्षा, नागरिक उड्डयन, आर्कटिक, ध्रुवीय अनुसंधान, स्थायी खनन और व्यापार तथा आर्थिक संबंध जैसे क्षेत्रों में सहयोग को और मज़बूत करने की संभावनाओं पर भी चर्चा की।

फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मरीन के साथ बैठक
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कोपेनहेगन में दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन से इतर फिनलैंड की अपनी समकक्ष सना मरीन से मुलाकात की। फिनलैंड के प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात में दोनों देशों के आपसी संबंधों और डिजिटल साझेदारी में हुई प्रगति पर चर्चा हुई। बैठक में व्यापार, निवेश, प्रौद्योगिकी और अन्य क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने के तरीकों पर चर्चा की गई।

आइसलैंड के प्रधानमंत्री के साथ बातचीत
प्रधानमंत्री मोदी ने आइसलैंड की प्रधानमंत्री कैटरीन जैकब्सडाटिर से भी मुलाकात की। श्री मोदी ने आईसलैंड के प्रधानमंत्री के साथ व्यापार, समुद्री अर्थव्‍यवस्‍था, मत्स्य पालन और ऊर्जा स्रोतों के क्षेत्र में सहयोग पर विचार-विमर्श किया। इस दौरान दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय रिश्‍तों को और मजबूत करने के तरीकों पर भी चर्चा की।

Leave a Reply