Home समाचार प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों से किया आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने का...

प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों से किया आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने का आग्रह

1258
SHARE

कोरोना वायरस संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों से आरोग्य सेतु मोबाइल एप डाउनलोड करने का आग्रह किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि कोविड-19 कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई में यह एक महत्वपूर्ण कदम है। अपने ट्वीट संदेश में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘तकनीक की मदद से यह हमें अहम जानकारी उपलब्ध कराएगा। इस एप को जितने ज्यादा से ज्यादा लोग इस्तेमाल करेंगे, यह उतना ही प्रभावी बनेगा।’

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो के साथ इस ट्वीट में आरोग्य सेतु एप का लिंक भी शेयर किया है। आप इस लिंक को क्लिक कर एप डाउनलोड कर सकते हैं।

गूगल प्ले स्टोर

एप्पल एप स्टोर

देखिए वीडियो-

आरोग्य सेतु मोबाइल एप
मोदी सरकार ने कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए 2 अप्रैल, 2020 को आरोग्य सेतु नाम का मोबाइल एप लॉन्च किया। सरकार इस एप के जरिए संक्रमित लोगों की लोकेशन को ट्रैक कर सकेगी। सार्वजनिक-निजी साझेदारी से विकसित यह मोबाइल एप आरोग्‍य सेतु हर भारतीय के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए डिजिटल इंडिया से जुड़ा है। यह लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण पकड़ने के जोखिम का आकलन करने में सक्षम करेगा। यह अत्याधुनिक ब्लूटूथ टेक्‍नोलॉजी, तकनीक, गणित के सवालों को हल करने के नियमों की प्रणाली (अलगोरिथ्म) और कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग करते हुए दूसरों के साथ उनकी बातचीत के आधार पर इसकी गणना करेगा।

आरोग्य सेतु एप यूजर के स्मार्टफोन की लोकेशन को ट्रैक करता है। साथ ही यह एप ब्लूटूथ के जरिए यह पता लगाता है कि यूजर संक्रमित मरीजों के संपर्क में है या नहीं। यह एप कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के जोखिम का आकलन करने और जरूरी होने पर एकांतवास सुनिश्चित करने के लिए समय पर कदम उठाने में मदद करेगा।

एप में प्राइवेसी, गोपनीयता का पूरा ख्याल रखा गया है। एप द्वारा एकत्र किए गए व्यक्तिगत डेटा को अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग करके एन्क्रिप्ट किया गया है और डेटा चिकित्सा सम्‍बन्‍धी सुविधा की जरूरत पड़ने तक फोन में सुरक्षित रहता है।

यह एप 11 भाषाओं में उपलब्ध है। यह एप राष्ट्र की युवा प्रतिभा के एकजुट होने और संसाधनों की पूलिंग और वैश्विक संकट का जवाब देने के प्रयासों का एक अनूठा उदाहरण है। यह एक ही समय में सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों, डिजिटल प्रौद्योगिकी और स्वास्थ्य सेवाएं देने और युवा भारत की क्षमता और देश के रोग मुक्त और स्वस्थ भविष्य के बीच एक सम्‍पर्क है।

Leave a Reply