Home समाचार निसर्ग तूफान से निपटने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने लिया चक्रवात की...

निसर्ग तूफान से निपटने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने लिया चक्रवात की स्थिति का जायजा

283
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने देश के पश्चिमी तटीय हिस्‍सों में निसर्ग तूफान की स्थिति के मद्देनजर चक्रवात की स्थिति का जायजा लिया और लोगों से आग्रह किया कि वे हर संभव ऐहतियात और सुरक्षा उपाय बरतें। प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट संदेश में कहा “भारत के पश्चिमी तटीय हिस्‍सों में तूफान की स्थिति के मद्देनजर स्थिति का जायजा लिया। सभी के कल्‍याण के लिए प्रार्थना करता हूं। मेरा लोगों से आग्रह है कि वे हरसंभव ऐहतियात और सुरक्षा उपाय अपनाएं।”

प्रधानमंत्री मोदी ने चक्रवात की स्थिति के बारे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और दमन दीव, दादरा और नगर हवेली के प्रशासक प्रफुल्ल के पटेल से बात की। उन्होंने केंद्र से हरसंभव सहायता और समर्थन का आश्वासन दिया है । प्रधानमंत्री के कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा, “प्रधानमंत्री मोदी ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, गुजरात के सीएम विजय रूपाणी और दमन दीव, दादरा और नगर हवेली के प्रशासक प्रफुल्ल के पटेल के साथ चक्रवात की स्थिति के बारे में बात की है। उन्होंने केंद्र से हरसंभव सहायता और समर्थन का आश्वासन दिया है।”

पश्चिमी नौसेना कमान ने आपातकालीन स्थितियों से निपटने के लिए कमर कसी
अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान निसर्ग को देखते हुए नौसेना की सभी टीमों को सतर्क कर दिया गया है और उन्हें तूफान के दौरान मानवीय सहायता और आपदा राहत (एचएडीआर) की किसी भी आवश्यकता के लिए तत्परता से काम करने के लिए तैयार रखा गया है।

तूफान को देखते हुए नौसेना की पश्चिमी कमान ने बाढ़ राहत, बचाव और डूबने से लोगों को बचाने के लिए संबधित राज्य सरकारों के सहयोग से पर्याप्त संसाधन जुटा लिए हैं। मुंबई में, नौसेना की पश्चिमी कमान पूरे मानसून सीजन के दौरान अपनी पांच बाढ़ बचाव टीमों और तीन गोताखोर टीमों के साथ किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहेगा। ये दल आपदा की स्थिति में तुरंत कार्रवाई करने के लिए शहर के विभिन्न नौसेना क्षेत्रो में तैनात किए गए हैं। ये राहत और बचाव के लिए जरूरी सभी उपकरणों से सुसज्जित हैं और बचाव कार्यों में इन्हें पूरी तरह से प्रशिक्षित किया गया है। बाढ़ संभावित क्षेत्रों की पहचान की जा रही है और सभी आवश्यक तैयारियां चल रही हैं।

इसी तरह की व्यवस्था करवार, गोवा और गुजरात में दमन और दीव में भी नौसेना की तैनाती वाले क्षेत्रों में की गई है। इसके अलावा, मुंबई, गोवा और पोरबंदर के विभिन्न नौसेनिक अड्डों पर नौसेना के डोर्नियर विमान और हेलीकॉप्टर बाढ़ से बचाव के लिए दुर्गम स्थानों में बचाव टीमों को ले जाने तथा फंसे लोगों को निकालने के लिए तैयार खड़े हैं। संबंधित क्षेत्र के स्टेशन कमांडर राज्य अधिकारियों, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के संपर्क में हैं और कम से कम समय में संकट की स्थिति से निपटने में सक्षम हैं।

Leave a Reply