Home समाचार बोगीबील पुल: वाजपेयी जी के सपने को साकार कर रहे हैं प्रधानमंत्री...

बोगीबील पुल: वाजपेयी जी के सपने को साकार कर रहे हैं प्रधानमंत्री मोदी

1366
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी जी के सपने को साकार करने में लगे हैं। प्रधानमंत्री मोदी मंगलवार, 25 दिसंबर को वाजपेयी जी के जन्मदिन पर बोगीबील पुल का उद्घाटन करेंगे। ब्रह्मपुत्र नदी पर बना यह देश का सबसे लंबा रेल सह सड़क पुल है। तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 2002 में इसका शिलान्यास किया था। इस पुल को वैसे तो 6 साल में बनकर तैयार होना था लेकिन इसे पूरा होने में 16 साल का लंबा वक्त लग गया। यूपीए सरकार के दौरान पुल का काम एक तरह से रुका रहा और 12 साल में सिर्फ 58% काम किया पूरा किया गया। 2014 में प्रधानमंत्री मोदी की सरकार आने के बाद ब्रिज का निर्माण युद्धस्तर पर शुरू हुआ और 2018 में बनकर तैयार हो गया। अब प्रधानमंत्री मोदी 25 दिसंबर को इसे राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

बोगीबील पुल से संबंधित कुछ खास तथ्य-

* 1960 में शुरू हुई थी बोगीबील पुल की मांग
* अटल बिहारी वाजपेयी ने 21 अप्रैल 2002 को किया शिलान्यास
* यूपीए सरकार में 2014 तक 12 साल में सिर्फ 58% काम पूरा
* मोदी सरकार ने 4 साल में पूरा किया काम
* 4.94 किमी लंबी है यह बोगीबील रेल सह सड़क पुल
* निर्माण पर 5920 करोड़ रुपये आई है लागत
* असम-अरुणाचल की रेलयात्रा 19 घंटे तक कम समय में
* ट्रेन से अब 700 किमी की दूरी 24 की जगह सिर्फ 5 घंटे में
* असम-अरुणाचल के बीच सड़क से दूरी 170 किमी कम
* सात की तीव्रता का भूकंप आने पर भी ब्रिज को नुकसान नहीं
* बोगीबील पुल भारत का पहला पूरी तरह से वेल्‍डेट ब्र‍िज है
* पुल इतना मजबूत कि इससे मिलिट्री टैंक भी निकल सकेंगे

Leave a Reply