Home समाचार पीएम मोदी का अमेरिका दौरा: प्लेन हो या होटल थके नहीं, 65...

पीएम मोदी का अमेरिका दौरा: प्लेन हो या होटल थके नहीं, 65 घंटे के दौरे में 20 बैठकों में शामिल हुए

450
SHARE

अमेरिका के दौरे में वाइट हाउस में राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ द्विपक्षीय बैठक, क्वॉड का वन टू वन शिखर सम्मेलन या फिर दुनिया के बड़े कारोबारियों से मुलाकात। प्लेन हो या होटल 65 घंटों के दौरे में 20 बैठकों में शामिल हुए पीएम मोदी। बिना थके बिना रूके अमेरिका में पीएम मोदी का तीन दिनों का दौरा पूरा हुआ।

जो बाइडेन के साथ आपने-सामने की पहली बैठक

वाइट हाउस में पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की मुलाकात में दोनों देशों के बीत रिश्तों की नई इबारत लिखी गई। बाइडेन ने यहां तक कहा, ‘2006 में मैंने उपराष्ट्रपति रहते हुए ऐलान किया था कि 2020 के बाद भारत-अमेरिका के संबंध नई ऊंचाइयों पर पहुंचेंगे।‘ पीएम मोदी और जो बाइडेन की मुलाकात के दौरान उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के भारतीय मूल के होने का जिक्र भी हुआ। पहली मुलाकात में ही दोनों नेताओं के बीच जबरदस्त केमिस्ट्री देखने को मिली। बातों-बातों में हंसी-ठिठोली के बीच राष्ट्रपति बाइडेन प्रधानमंत्री मोदी को कुर्सी तक ले गए और हंसी-हंसी में ये कहा कि ये मेरी उस समय की कुर्सी है, जिस पर मैं उपराष्ट्रपति के तौर पर बैठता था। अब आप बैठिए मैं राष्ट्रपति बन गया हूं।

व्हाइट हाउस में शानदार स्वागत के लिए प्रधानमंत्री मोदी आभार व्यक्त करते हुए कहा, ‘राष्ट्रपति जी, मैत्रीपूर्ण और गर्मजोशी भरा हम सबका भारतीय प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करने के लिए मैं आपका ह्रदय से बहुत बहुत आभार व्यक्त करता हूं। 2016 में, और 2014 में भी मुझे आपसे विस्तार से बात करने के मौका मिला था। और उस समय आपने भारत-अमेरिका के संबंधों का आपका जो विजन है, जिसको आपने शब्दबद्ध किया था वो वाकई बहुत ही प्रेरक था और आज आप राष्ट्रपति के रूप में उस विजन को आगे बढ़ाने के लिए जो पुरुषार्थ कर रहे हैं, प्रयास कर रहे हैं इसका मैं स्वागत करता हूं।’

UN के मंच से पीएम मोदी का दुनिया को संदेश

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में जहां भारतीय लोकतंत्र की ताकत का खूबसूरत अंदाज में जिक्र किया, वहीं अफगानिस्तन से लेकर आतंक तक, दुनिया के हर बड़े मुद्दे पर अपनी बात रखी। आतंक के बढ़ते खतरे से दुनिया को चेताते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘जो देश आतंकवाद का पॉलिटिकल टूल के रूप में इस्तेमाल कर
रहे हैं, उन्हें ये समझना होगा कि आतंकवाद उनके लिए भी उतना ही बड़ा खतरा है। ये सुनिश्चित किया जाना बहुत जरूरी है कि अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद फैलाने और आतंकी हमलों के लिए ना हो।’

उपराष्ट्रपति कमला हैरिस साथ पीएम मोदी की बैठक

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ मुलाकात की, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के बीच व्हाइट हाउस में ये पहली व्यक्तिगत बैठक थी। दोनों नेताओं ने अफगानिस्तान सहित दुनिया के कई अहम मसलों पर बात की है, साथ ही मुक्त, खुले और समावेशी इंडो-पैसिफिक क्षेत्र के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई। दोनों नेताओं ने कोरोना के हालात पर भी चर्चा की, इसमें महामारी को रोकने के लिए वैक्सीनेशन के साथ महत्वपूर्ण दवाओं, चिकित्सीय उपकरणों की आपूर्ति सुनिश्चित करना भी शामिल है। उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने बैठक में पाकिस्तान को जमकर लताड़ लगाई और कहा कि पाकिस्तान को हर हाल में आतंक का साथ छोड़ना होगा, साथ ही आतंकवादी संगठनों पर कार्रवाई करनी होगी। ताकि इससे अमेरिका और भारत की सुरक्षा पर असर नहीं पड़े।

क्वाड शिखर सम्मेलन में शामिल हुए पीएम मोदी

शिखर सम्मेलन में संबोधन करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि क्वाड संगठन वैश्विक हित के लिए प्रतिबद्ध शक्ति है। संगठन के चारों देश 2004 में सुनामी के बाद पहली बार हिंद प्रशांत क्षेत्र में सहयोग के लिए मिले थे और आज जब पूरा विश्व कोविड संकट का सामना कर रहा है, पूरी मनुष्य जाति के हित के लिए फिर इस संगठन की बैठक हो रही है। उन्होंने कहा कि क्वाड नेताओं के साथ विचार-विमर्श काफी व्यापक और रचनात्मक रहा।

भारत में निवेश के लिए बिजनेस टॉयकून से मुलाकात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने अमेरिका दौरे के पहले ही दिन 5 दिग्गज कंपनियों के सीईओ के साथ मुलाकात की। टेक्नोलॉजी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी क्वालकॉम, अल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट ब्लैकस्टोन, डिफेंस और एनर्जी सेक्टर की जनरल एटॉमिक्स, उर्जा क्षेत्र में काम करने वाली फर्स्ट सोलर, टेक्नोलॉजी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी एडॉब

दुनिया भर में नाम कमा रही इन कंपनियां ने भारत की टेक्नोलॉजी, डिफेंस और उर्जा के क्षेत्र में भविष्य की योजनाओं को साकार करने सहयोग का भरोसा दिया है। पीएम मोदी से मुलाकात के बाद सभी कारोबारियों ने दिल खोलकर भारत की तारीफ की। पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद अमेरिकी कंपनियों में भारत में निवेश को लेकर भरोसा और बढ़ा है।

अमेरिका में उपहार देकर विश्व नेताओं का जीता दिल

अमेरीकी दौरे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, ऑस्ट्रेलिया और जापान के पीएम को खास उपहार भेंट कर उन लोगों का दिल जीत लिया है। विशेष बात यह है कि इन सभी उपहारों का काशी से खास संबंध है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कमला हैरिस को उनके दिवंगत दादा पीवी गोपालन से संबंधित पुरानी अधिसूचनाओं से संबंधित लकड़ी के हस्तशिल्प के फ्रेम की कॉपी भेंट की। प्रधानमंत्री मोदी ने कमला हैरिस को एक गुलाबी मीनाकारी शतरंज का सेट भी भेंट किया। ये शतरंज दुनिया के सबसे पुराने शहरों में से एक काशी के हस्त शिल्प कला से जुड़ा है। पीएम मोदी ने एक मुलाकात के दौरान ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन को एक चांदी का गुलाबी मीनाकारी जहाज उपहार में दिया, ये हस्तशिल्प काशी शहर की प्रगति को दर्शाता है। पीएम मोदी ने जापान के प्रधान मंत्री योशीहिदे सुगा को चंदन की बुद्ध प्रतिमा भेंट की। पीएम ने कहा कि भारत और जापान को एक साथ लाने में बौद्ध धर्म बहुत बड़ी भूमिका निभाता है।

Leave a Reply