Home समाचार पीएम मोदी का अमेरिकी दौरा: टॉप अमेरिकी कंपनियों के CEOs से मुलाकात

पीएम मोदी का अमेरिकी दौरा: टॉप अमेरिकी कंपनियों के CEOs से मुलाकात

385
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अमेरिका दौरे का फोकस दोनों देशों के कारोबारी रिश्तों को नई ऊंचाइयों पर ले जाना भी है। इसी को ध्यान में रखते हुए पीएम मोदी ने अमेरिका में 5 दिग्गज कंपनियों के CEO से बात की है।

• टेक्नोलॉजी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी क्वालकॉम
• अल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट ब्लैकस्टोन
• डिफेंस और एनर्जी सेक्टर की जनरल एटॉमिक्स
• उर्जा क्षेत्र में काम करने वाली फर्स्ट सोलर
• टेक्नोलॉजी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी एडॉब

दुनिया भर में नाम कमा रही ये कंपनियां भारत की टेक्नोलॉजी, डिफेंस और उर्जा के क्षेत्र में भविष्य की योजनाओं को साकार करने में बेहद मददगार साबित हो सकती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 5G, डिजिटल इंडिया से लेकर डिफेंस तक के क्षेत्र में सहयोग के लिए इन कंपनियों की CEOs से चर्चा की।

5G समेत कई सेक्टरों में काम करना चाहती है-क्वालकॉम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेरिकी टेक्नोलॉजी कंपनी क्वालकॉम के CEO क्रिस्टियानो अमान के साथ बैठक में, भारत में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र को नए अवसरों के बारे में बताया। क्वालकॉम भारत में 5G के क्षेत्र में सहयोग को तैयार है। क्रिस्टियानो अमान के साथ बैठक में पीएम मोदी ने इलेक्ट्रॉनिक्स और टेलीकॉम इक्विपमेंट के प्रोडक्शन को बढ़ावा देने के लिए सरकार की तरफ से शुरू की गई PLI स्कीमों की जानकारी दी। तो क्वालकॉम ने भी मोदी सरकार के डिजिटल मिशन कार्यक्रम में सहयोग की इच्छा जताई।

क्वालकॉम चिपसेट मोबाइल गेमिंग और 5जी टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में दुनिया भर में बड़ा नाम है। ये एक मल्टीनेशनल फर्म है, जो सेमीकंडक्टर्स, सॉफ्टवेयर और वायरलेस टेक्नोलॉजी सर्विस पर काम करती है। क्वालकॉम के CEO क्रिस्टियानो ने भारत में सेमीकंडक्टर बनाने की इच्छा भी जाहिर की है।

पांच साल में ब्लैकस्टोन करेगा 40 अरब डॉलर का निवेश

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात के बाद ब्लैकस्टोन ग्रुप के सीईओ स्टीफन श्वॉर्जमैन ने कहा है कि ग्रुप ने पहले ही इंडियन एसेट में 60 अरब डॉलर का निवेश किया है। उसकी योजना अगले 5 वर्षों में भारत में और 40 अरब डॉलर का निवेश करने की है।

ब्लैकस्टोन ग्रुप अल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट कंपनी है। पीएम मोदी से मुलाकात के बाद कंपनी के CEO ने कहा है कि ‘भारत उनके ग्रुप के लिए दुनिया में सबसे अच्छा बाजार है और वे भारत में बनने वाली संभावनाओं को लेकर बेहद उत्साहित हैं’

भारत में डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने पर बातचीत

जनरल एटॉमिक्स रिसर्च और डेवलपमेंट पर फोकस करने वाली अमेरिकन डिफेंस और एनर्जी कंपनी है। दुनिया के जाने माने वैज्ञानिकों में शामिल विवेक लाल ने हाल ही में इस कंपनी के CEO का पद संभाला है।

जनरल एटॉमिक्स के CEO से मुलाकात में पीएम मोदी ने भारत में डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने, नई टेक्नॉलॉजी के इस्तेमाल और उत्पादन क्षमता को लेकर बात की है। प्रधानमंत्री के साथ बैठक के बाद विवेक लाल ने कहा कि ‘हम जिन क्षेत्रों में काम करने की बात कर रहे हैं, वहां बहुत संभावनाएं हैं। मुझे लगता है कि अमेरिकी कंपनियां भारत को संभावनाओं वाले देश की तरह देख रही होंगी’

एक विश्व, एक सूर्य और एक ग्रिड अभियान पर बात

फर्स्ट सोलर के CEO मार्क विडमर के साथ बैठक में पीएम मोदी ने 450 मेगावॉट रिन्यूएबल एनर्जी के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को लेकर एक विश्व, एक सूर्य और एक ग्रिड अभियान और उससे जुड़ी संभावनाओं पर बात की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विडमर को बताया की इस क्षेत्र की कंपनियां PLI स्कीमों का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठा सकती है। फर्स्ट सोलर सोलर पैनल मैन्युफैक्चर और पीवी पावर प्लांट्स से जुड़ी सर्विस देती है।

‘जिस चीज से शिक्षा-डिजिटल साक्षरता को बढ़ावा मिले वो बड़ी संपत्ति’

एडॉब मल्टीमीडिया सॉफ्टवेयर बनाने के लिए सारी दुनिया में जानी जाती है। एडॉब कंपनी के CEO शांतनु नारायण और पीएम नरेन्द्र मोदी के बीच हुई चर्चा में इनोवेशन में निवेश जारी रखने पर बात हुई, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ बैठक के बाद एडॉब कंपनी के CEO शांतनु नारायण ने कहा कि ‘हम चाहते हैं कि शिक्षा पर ज्यादा जोर दिया जाए और उसमें दिलचस्पी ली जाए। हमने जिन मुद्दों पर बात की, उनमें इनोवेशन में निवेश जारी रखना शामिल है।’

एडॉब के CEO शांतनु नारायण का मानना है कि टेक्नोलॉजी में तरक्की की राह बनाने की क्षमता है। डिजिटल इंडिया के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जोर भी भविष्य की टेक्नोलॉजी पर रहा है।

Leave a Reply