Home समाचार आजादी के बाद पीएम मोदी ने बनाया सबसे युवा कैबिनेट, रिकॉर्ड संख्या...

आजादी के बाद पीएम मोदी ने बनाया सबसे युवा कैबिनेट, रिकॉर्ड संख्या में महिलाएं बनीं मंत्री

363
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हमेशा कुछ नया और बेहतर करने की कोशिश में लगे रहते हैं ताकि उसका लाभ देश को मिल सके। इसकी झलक बुधवार यानि 07 जुलाई, 2021 को कैबिनेट विस्तार में भी देखने को मिली। इसमें मंत्रिपरिषद का युवा स्वरूप, महिलाओं की भागीदारी और समावेश पर जोर दिया गया है। नई मंत्रीपरिषद में समाज के सभी वर्गों और क्षेत्रों का उचित प्रतिनिधित्व दिया गया है। 43 नए मंत्रियों को शपथ दिलाई गई, जिससे मंत्रिपरिषद के कुल सदस्यों की संख्या बढ़कर 78 हो गई है। सबसे खास बात यह है कि नई मंत्रिपरिषद आजाद भारत के इतिहास में सबसे युवा है। इसकी औसत उम्र 61 वर्ष से घटकर 58 वर्ष हो गई है। 14 मंत्रियों की उम्र 50 वर्ष से कम है और इनमें भी 6 केंद्रीय मंत्री हैं। मंत्रिपरिषद में 35 वर्षीय निशीथ प्रमाणिक सबसे कम उम्र के मंत्री हैं जो पश्चिम बंगाल के कूचबिहार से सांसद हैं। इनके अलावा युवा मंत्रियों में 38 साल के शांतनु ठाकुर, 40 वर्षीय अनुप्रिया सिंह पटेल, 42 साल के भारती प्रवीण पवार, 44 साल के एल मुरुगैन और 45 वर्षीय जॉन बारला का नाम शामिल है।

महिला मंत्रियों के मामले में पीएम मोदी ने तोड़ा अपना रिकॉर्ड

मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब मोदी सरकार में महिलाओं की भूमिका और संख्या दोनों बढ़ गई है। सात महिला नेताओं मीनाक्षी लेखी, शोभा कारंदलजे, दर्शना जरदोश, अन्नपूर्णा देवी, प्रतिमा भौमिक, भारती पवार और अपना दल की अनुप्रिया पटेल को राज्य मंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई। इसके साथ ही मंत्रिपरिषद में महिलाओं की कुल संख्या बढ़कर 11 हो गई है, जो मंत्रिपरिषद की कुल संख्या का 14 प्रतिशत है। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान मंत्रिपरिषद में नौ महिला मंत्री थीं जिनमें छह कैबनेट थीं, जो देश के इतिहास में सर्वाधिक महिला मंत्रियों वाली मंत्रिपरिषद थी। अब प्रधानमंत्री मोदी ने महिला मंत्रियों की संख्या और प्रतिशत के मामले में अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है। इस बार संसद में भी पिछली बार के मुकाबले ज्यादा महिला सांसद चुन कर आई हैं। 17वीं लोकसभा में कुल 78 महिलाएं चुनी गईं।  

Leave a Reply